Sunday, 9 October 2016

बुरहानपुर | 01-अक्तूबर-2016

खकनार महाविद्यालय का शुभारंभ किया लोक निर्माण मंत्री श्री सिंह ने 

बुरहानपुर | 01-अक्तूबर-2016
बुरहानपुर जिले के आदिवासी बहुल विकासखण्ड खकनार में शनिवार को मध्यप्रदेश शासन के लोक निर्माण विधि एवं विधायी विभाग के मंत्री श्री रामपाल सिंह ने शासकीय महाविद्यालय का विधिवत शुभारंभ किया। उल्लेखनीय है कि विगत 11 अगस्त को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने धूलकोट प्रवास के दौरान अपने संबोधन में खकनार एवं धूलकोट में महाविद्यालय स्वीकृत करने की घोषणा की थी, जिसमें से गत सप्ताह धूलकोट में महाविद्यालय का शुभारंभ किया जा चुका है। इसके बाद शनिवार को खकनार में भी महाविद्यालय प्रारंभ हो गया। इस कार्यक्रम में सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान के अलावा बुरहानपुर के महापौर श्री अनिल भोसले, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री बसंत कुर्रे सहित विभिन्न अधिकारी व जनप्रतिनिधि मौजूद थे। इस अवसर पर बताया गया कि खकनार महाविद्यालय के लिए कुल 30 पद भी स्वीकृत हो गये है, जिनमें से 16 शैक्षणिक व 14 गैर शैक्षणिक पद शामिल है। खकनार महाविद्यालय में कला एवं विज्ञान दोनों संकाय एक साथ स्वीकृत हुये है। इस दौरान वृद्धजन दिवस के अवसर पर कार्यक्रम में लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह एवं सांसद श्री चौहान ने उपस्थित वृद्धजनों का शॉल व श्रीफल प्रदान कर सम्मान किया। इसके अलावा उपस्थित बालिकाओं के चरण पूजन भी अतिथियों ने किये। इससे पूर्व नेपानगर अग्रणी महाविद्यालय के प्राचार्य श्री ध्यानी ने महाविद्यालय खकनार के बारे में विस्तार से बताया तथा अतिथियों को स्वागत किया।     
    कार्यक्रम का शुभारंभ मॉं सरस्वति के चित्र पर माल्यार्पण कर व दीप प्रज्जवलित कर किया गया। इस दौरान लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश सरकार युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने तथा उन्हें विकास के अधिकतम अवसर उपलब्ध कराने के लिए हर तरह से मदद कर रही है। युवाओं को स्वरोजगार के लिए मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुद्रा योजना, जैसी अनेकों योजनाएं प्रारंभ की गई है, जिनकी मदद से पढ़े लिखे बेरोजगार अपना स्वयं का व्यवसाय प्रारंभ कर सकते है। इस अवसर पर लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह ने करदंली नदी पर पुलिया निर्माण, नदी से शासकीय बालक विद्यालय खकनार तक सीसी रोड एवं स्कूल की बाउन्ड्रीवाल निर्माण कराने की घोषणा की। उन्होंने ग्राम मजरोतकलां से दरियापुर के बीच ताप्ती नदी पर पुल निर्माण के लिए तत्काल निविदाएं आमंत्रित करने के निर्देश भी दिए है।
    सांसद श्री चौहान ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश सरकार ने बचपन से लेकर वृद्धावस्था तक हर वर्ग के लोगों के लिए योजनाएं प्रारंभ की है। उन्होंने कहा कि बच्चों को निःशुल्क शिक्षा के साथ साथ निःशुल्क गणवेश, पुस्तकें, साईकिलें, भोजन जैसी सभी सुविधाएं दी जा रही है, ताकि गरीबी पढ़ाई मंे बाधक न बनें। उन्होंने कहा कि बालिकाओं के जन्म पर अब परिवारों में खुशियां मनाई जाती है क्योंकि अब बेटी परिवार पर बोझ नही है। मध्यप्रदेश में बालिका लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत जन्म लेते ही लखपति बन जाती है। उन्होंने कहा कि आज से 10-12 वर्ष पूर्व सड़को व बिजली की जो स्थिति थी व किसी से छिपी नही है। आज प्रदेश में सड़को का जाल बिछ चुका है तथा 24 घंटे बिजली लोगों को मिल रही है।
इन्हें दी गई सहायता
    कार्यक्रम में उज्जवला योजना के तहत कोशल्या बाई, कमला बाई, शारदा, राजकुंवर, प्रमिला बाई एवं दूर्गा बाई को गैस कनेक्शन निःशुल्क प्रदाय किया गया। इसके अलावा किसानों संदीप, संतोष व विजय को स्प्रे पंप प्रदान किया किया। विनोद , सुरेश, किशन, गजानंद, दिपक, पिन्टू, रामदेव, कमला बाई, मंगला बाई को भूखण्ड प्रमाण व आवासीय पट्टे वितरित किये गये। मुख्यमंत्री केश शिल्पी योजना के तहत राहुल, प्रकाश व संजय को आर्थिक सहायता के चेक प्रदान किये गये।
प्रदेश सरकार की योजनाओं के कारण बेटियां अब परिवार पर बोझ नहीं हैं - महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती चिटनिस 
बोरीबुजुर्ग में महिला सशक्तिकरण सम्मेलन सम्पन्न 
बुरहानपुर | 01-अक्तूबर-2016
खकनार विकासखण्ड के ग्राम बोरी बुजुर्ग में महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस, के मुख्य आतिथ्य में महिला सशक्तिकरण सम्मेलन सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में श्री किशोर पाटिल, जनपद पंचायत अध्यक्ष, श्री राजाराम पाटीदार, गनसिंह पटेल, उपस्थिति थे। महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती चिटनिस ने इस अवसर पर कन्याओं के चरण पूजन किये एवं अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के अवसर पर वृद्ध जनों को शॉल श्रीफल भेंट करते हुए आशीर्वाद प्राप्त किया। इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्जवलित कर किया गया। कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस, ने संबोधित करते हुये कहा कि बालिकाओं के जन्म पर अब परिवारों में खुशियां मनाई जाती है क्योंकि अब बेटी परिवार पर बोझ नही है। मध्यप्रदेश में बालिका लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत जन्म लेते ही लखपति बन जाती है। कन्याओं के विवाह के लिए प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री कन्यादान योजना प्रारंभ की है। इसके अलावा बेटियों को निःशुल्क शिक्षा की व्यवस्था भी सरकार ने की है। उन्होंने वनों के घटते क्षेत्रफल को देखते हुए कहा गया कि ग्रामों में जो खाली स्थानों हर जगह हमें पेड़ लगाना है, वर्षों से वन विभाग एवं नजूल की भूमि पर काबिज लोगों को एक हाथ में पट्टा देते हुए दूसरे हाथ में पौधा देकर वृक्षारोपण करने की बात कही। वन विभाग एवं निवासी आदिवासी के बीच घनिष्टता बढ़ाने का आह्वान किया।
   महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती चिटनिस ने अपने संबोधन में कहा कि बच्चों के जन्म के एक घण्टे के अंदर स्तनपान कराना चाहिए। मां का यह पहला दूध बच्चे के लिए अमृत के समान होता है, इससे बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। उन्होंने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के संबंध में कहा कि बेटा तो घर के अंदर का दीपक है, जो केवल घर को रोशन करता है, वहीं बेटियां दहलीज का दीपक हैं जो घर के अंदर और बाहर दोनों जगहों को रोशन करती है।  इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती चिटनिस ने उज्जवला योजना के तहत ग्रामीणों को गैस कनेक्शन, लाड़ली लक्ष्मी योजना अंतर्गत बालिकाओं को राशि रूपये 118000 के प्रमाण पत्र, सरसों के बीज पैकेट, पट्टे एवं अन्नपूर्णा योजना अंतर्गत खाद्यान्न का वितरण किया गया। कार्यक्रम में जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग श्री अब्दुल गफ्फार खां उपस्थित थे। आभार प्रदर्शन श्री रतनसिंह गुंडिया, जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी ने किया।

No comments:

Post a Comment