Sunday, 9 October 2016

बुरहानपुर | 17-सितम्बर-2016

उर्जा मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री जैन आज आयेगें 

बुरहानपुर | 17-सितम्बर-2016
प्रदेश के उर्जा मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री पारस चन्द्र जैन 18 एवं 19 सितम्बर को जिले के प्रवास पर रहेंगे। इस दौरान वे विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होंगे। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार वे 17 सितम्बर को 5 बजे पंजाब मेल से भोपाल से प्रस्थान कर रात्रि 10.30 बजे बुरहानपुर पहुंचेंगे। मंत्री श्री जैन 18 सितम्बर को प्रातः 9 बजे विश्राम गृह में जनप्रतिनिधियों एवं भाजपा पदाधिकारियों से भेंट करेंगे। इसके उपरांत प्रातः 10 बजे बुरहानपुर से प्रस्थान कर 11 बजे खकनार पहुंचेंगे। यहां पर वे जनसंवाद एवं समस्या समाधान शिविर में शामिल होंगे। दोपहर 3 बजे उर्जा मंत्री श्री जैन ग्राम नावरा में आयोजित जनसंवाद एवं समस्या समाधान शिविर में हिस्सा लेंगे। 18 सितम्बर को रात्रि विश्राम वे नेपानगर सर्किट हाउस में करेंगे। 
   19 सितम्बर को उर्जा मंत्री श्री पारस चन्द्र जैन प्रातः 9 बजे सर्किट हाउस में पार्टी कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों से भेंट करेंगे। 11 बजे नेपानगर में जनसंवाद एवं समस्या समाधान शिविर, दोपहर 3 बजे बोरीबुजुर्ग (धुलकोट) में जनसंवाद एवं समस्या समाधान शिविर में उर्जा मंत्री श्री पारसचन्द्र जैन शामिल होंगे। इसके उपरांत मंत्री श्री जैन रात्रि 8.50 पर मंगला एक्सप्रेस द्वारा बुरहानपुर से भोपाल के लिये प्रस्थान करेंगे।
जिले में जारी मौसम में 693.7 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज 

बुरहानपुर | 17-सितम्बर-2016
जिले में जारी मौसम में अभी तक 693.7 मिली मीटर औसत वर्षा हुई है। पिछले 24 घंटो के दौरान बुरहानपुर तहसील में 29 मि.मी.वर्षा, नेपानगर में 68 मि.मी. एवं खकनार में 10 मि.मी. वर्षा मॉपी गई है। प्रभारी अधीक्षक भू-अभिलेख श्री खुमानसिंह चौहान ने बताया कि अभी तक बुरहानपुर में 640.2 मि.मी, नेपानगर 816 मि.मी. और खकनार में 625 मि.मी. वर्षा ऑकी गई है। जबकि गत वर्ष इसकी तुलना में बुरहानपुर में 666.9 मि.मी., नेपानगर में 771 मि.मी. और खकनार में 480.3 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई थी।
पोषण पुनर्वास केन्द्र की क्षमता बढ़ाकर उनका अधिकतम उपयोग करें 
महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती चिटनीस, स्वास्थ्य व महिला एवं बाल विकास विभाग की संयुक्त बैठक संपन्न 
बुरहानपुर | 17-सितम्बर-2016
प्रदेश सरकार की महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनीस की अध्यक्षता में स्वास्थ्य, आयुष तथा महिला एवं बाल विकास विभाग की संयुक्त बैठक संपन्न हुई। बैठक में श्रीमती चिटनीस ने स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिले में शिशु स्वास्थ्य एवं पोषण की स्थिति राज्य की औसत स्थिति से कम है इसलिए माताओं को गर्भावस्था से स्तनपान एवं शिशु पोषण के संबंध में निरंतर जानकारी दी जाये। उन्होनें जिले में व्याप्त एनीमिया को विस्तृत कार्ययोजना बनाकर समाप्त करने तथा दवाई के रूप में फेरस सल्फेट के स्थान पर विटामीन सी युक्त फेरस एस्कार्बिरिन का प्रदाय करने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिये। जिससे शरीर में आयरन का अवशोषण तीव्र गति से हो सकें महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनीस ने ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस आयोजन की समीक्षा करते हुए टीकाकरण कलस्टर के स्थान पर प्रत्येक आंगनवाड़ी केन्द्र पर करने के निर्देश देते हुए कहा कि टीकाकरण का कार्य 12 बजे से प्रारंभ किया जाये ताकि आंगनवाड़ी केन्द्र में आने वाले बच्चें नाश्ता व भोजन समय पर प्राप्त कर सकें। 
एन.आर.सी केन्द्रों की समीक्षा
   स्वास्थ्य एवं महिला एवं बाल विकास विभाग की संयुक्त बैठक में श्रीमती चिटनीस ने एनआरसी केन्द्रों की समीक्षा करते हुए कहा कि खकनार और नेपानगर में पलंग बढ़ाने तथा एनआरसी केन्द्रों की क्षमता का शत-प्रतिशत उपयोग करने के निर्देश देते हुए कहा कि दोनो विभाग के बीच मैदानी अमले में समन्वय की कमी है। उन्होनें निर्देशित किया कि प्रत्येक माह संबंधित एसडीएम की अध्यक्षता में समन्वय बैठक आयोजित की जाये तथा दोनो विभागों के अधिकारी संयुक्त रूप से भ्रमण कर विभागीय गतिविधियों की मॉनीटरिंग करें। महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती चिटनिस ने बताया कि जिले की किशोरी बालिकाओं को एनीमिया से मुक्त करने का लक्ष्य निर्घारित किया गया है। इसके लिए हर गाँव में रजिस्टर में किशोरियों के हीमोग्लोबिन का स्तर दर्ज किये जाये। सभी सरकारी स्कूलों में किशोरी बालिकाओं को आयरन और कृमिनाशक गोलियाँ देने के निर्देश दिये।
   बैठक में कलेक्टर श्री दीपक सिंह, सीईओ जिला पंचायत श्री बसंत कुर्रे, नगर निगम अध्यक्ष श्री मनोज तारवाला, जनपद अध्यक्ष श्री किशोर पाटील, अपर संचालक एकीकृत बाल विकास श्री आर.पी.रमणवाल, स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त संचालक डॉ.शरद पंडित महिला सशक्तिकरण अधिकारी श्री रतनसिंह गुंडिया, प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.दुर्गेश नन्दनी सहित स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास विभाग के मैदानी अमले के समस्त अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।
सार्वजनिक स्थलों पर बनाये आँचल कक्ष
   महिला एवं बाल विकास विभाग की मंत्री श्रीमती चिटनिस ने बैठक में जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री खान को निर्देश दिये कि जिले के सभी सार्वजनिक स्थलों पर यह व्यवस्था सुनिश्चित की जाये कि माताओं को अपने छोटे बच्चों को दूध पिलाने के लिये एक अलग स्थान चिन्हित किया जाये एवं उन स्थानों के बाहर आँचल कक्ष का बोर्ड लगवाया जाये ताकि महिलाओं को यह मालूम हो कि उन्हें बच्चों को स्तनपान कराने के लिये स्थान उपलब्ध रहे। साथ ही उन्होनें स्पष्ट रूप से इन कक्षों में पुरूष प्रवेश निषेध अंकित कराने तथा पुलिस विभाग से समन्वय कर आंचल कक्ष का दुरूपयोग रोकने के निर्देश दिये।
पोषण आहार में सुरजने की फली का महत्व ग्रामीणों को बतायें
   महिला एवं बाल विकास विभाग की मंत्री श्रीमती चिटनिस ने बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को निर्देश दिये कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित आंगनवाड़ी केन्द्रों, स्कूलों एवं अन्य शासकीय संस्थाओं के परिसर में तथा वहां आसपास रहने वाले परिवारों को सुरजने व फलदार पौधें वन, उद्यानिकी एवं कृषि विभाग की मदद से दिलवाकर रोपण करायें। उन्होनें सुरजना का महत्व बताते हुए कहा कि इसकी पत्ती एवं फली कुपोषण से मुक्ति के लिये वरदान है, इसकी मदद से नाम मात्र की लागत से गरीब से गरीब परिवार के बच्चों एवं महिलाओं को कुपोषण से मुक्त किया जा सकता है। श्रीमती चिटनिस ने बताया कि सुरजने की फली दही से नौ गुना प्रोटीन एवं गाजर से चार गुना विटामिन ए, पालक से 25 गुना आयरन पाया जाता है। उन्होनें कहा कि कुपोषण का गरीबी से कोई संबंध नही है आवश्यकता केवल खानपान के तरीके बदलने की है। इस हेतु उन्होनें जिला कार्यक्रम अधिकारी को पोषण परिचर्चा आयोजित करने के निर्देश दिये।

No comments:

Post a Comment