Friday, 31 October 2014

JANSAMPARK NEWS 30-10-14

जिला जनसंपर्क कार्यालय, बुरहानपुर
समाचार
नगरीय एवं ग्रामीण निकाय चुनाव में फोटोयुक्त मतदाता सूची व ई.व्ही.एम.का उपयोग किया जाएगा
बुरहानपुर/30 अक्टूबर/राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार आगामी नगरीय निकाय एवं त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन में पहली बार फोटोयुक्त मतदाता सूची, मतदाता पर्ची एवं इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन का उपयोग किया जायेगा। इस दरम्यान नोटा का प्रावधान भी किया गया है। इन नवाचारों से मतदाताओं को भली-भांति परिचित कराना आवश्यक है। इस हेतु निकायों को सेन्स के तहत प्रचार-प्रसार करने संबंधी निर्देश दिए गए है।
    कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती आईरिन सिंथिया ने बताया कि आयोग के निर्देशों का पालन सुनिश्चित किया गया है। इस संबंध में जिले में समस्त नगरीय एवं ग्रामीण निकायों को क्रियान्वयन संबंधी दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए है। जिसमें नगर निगम/नगर पालिका/परिषद के आयुक्त एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारी को निम्नानुसार कार्यवाही संपादित करने हेतु निर्देशित किया गया है। उक्त निकाय निर्वाचन के नवाचार में आमजन को इस प्रकार से अवगत कराया गया है।
मतदाता सूची में नाम जोड़ने/सुधार करने की कार्यवाही
    कोई भी नागरिक अपने मताधिकार का उपयोग अथवा अभ्यर्थी के रूप में अपना दावा तभी कर सकता है। जबकि उसका नाम मतदाता सूची में दर्ज हो। अतः यह आवश्यक है कि पात्र व्यक्तियों को मतदाता सूची में नाम जोड़ने/सुधार करने हेतु प्रेरित किया जाए।
इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन से मतदाता का पूर्व परिचय
    प्रदेश में पहली बार मल्टी पोस्ट ई.व्ही.एम. का उपयोग किया जा रहा है। नगरीय निकाय चुनाव में महापौर/अध्यक्ष तथा पार्षद के लिए पृथक-पृथक बैलेट यूनिट होगी। पंचायत चुनाव में भी सरपंच, जनपद सदस्य और जिला पंचायत सदस्य की अलग-अलग बैलेट यूनिट रहेगी। मतदाता द्वारा पृथक-पृथक बैलेट यूनिट पर बटन दबाकर मतदान किया जायेगा। अतः यह आवश्यक है कि मतदान के पूर्व मतदाता इन मशीनों के माध्यम से मत देने की प्रक्रिया से परिचित हो सके। इससे त्रुटिरहित मतदान के साथ ही निर्वाचन प्रक्रिया को निर्धारित समय पर पूर्ण किये जाने से सहायता मिल सकेगी।
नैतिक मतदान हेतु मतदाता को अभिप्रेरित करना
    मतदान की प्रक्रिया में अधिकाधिक मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर सके। महिला मतदाताओं तथा वंचित समूहों के मतदाताओं को मतदान का वातावरण उपलब्ध हो सके। सभी मतदाता बिना किसी प्रलोभन के निर्भीक होकर, स्वविवेक से मतदान कर सके। इस जानकारी का व्यापक प्रचार-प्रसार करने से मतदान का प्रतिशत भी अपेक्षाकृत रूप से बढ़ सकेगा।
मतदाता पर्ची का वितरण
    मतदाता पर्ची मतदाता सूची में नाम मतदाता का नाम होने की पुष्टि करता है। यह मतदान केन्द्र पर मतदाता की पहचान भी सुनिश्चित करती है। इसलिए मतदान दिवस के पहले मतदाता को एक तरह से आमंत्रण के रूप में भी अभिप्रेषित करती है। इस हेतु प्रचार-प्रसार में मतदाता को इस संबंध में भी अवगत कराया जाएगा।
मतदान केन्द्र की व्यवस्था
    कलेक्टर ने बताया कि आयोग के निर्देशों के अनुपालन में पंचायत चुनाव में मतदान केन्द्र की आंतरिक व्यवस्था में बदलाव किया गया है। मतदाता को पंच पद का वोट मत पत्र द्वारा मत पेटी में डालना होगा। जबकि सरपंच, जनपद व जिला पंचायत सदस्य का वोट ईवीएम में बटन दबाकर किया जाएगा। इस संबंध में मतदाताओं को मतदान की प्रक्रिया सुविधाजनक हो सकेगी। उक्त सभी संबंधित निकाय अधिकारियों को अपने निकाय क्षेत्रों में उपरोक्तानुसार प्रचार-प्रसार कार्यवाही अविलम्ब करने हेतु निर्देशित किया गया है।

----------
क्रमांक/114/832/2014                                                                   पवार/सचिन/निर्वाचन
समाचार
सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती के उपलक्ष्य में
एकता दौड़ एवं राष्ट्रीय एकता दिवस का आयोजन 
बुरहानपुर/30 अक्टूबर/ 31 अक्टूबर को सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती के उपलक्ष्य में एकता दौड़ एवं राष्ट्रीय एकता दिवस का आयोजन किया गया है। तहसील चौराहा पर आज मुख्य अतिथि द्वारा प्रातः 7 बजे दौड़ आमजन को राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई जाएगी। तत्पश्चात एकता दौड़ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया जायेगा।
    कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया ने उक्त दौड़ में सभी आमजन नागरिकों, शैक्षणिक संस्थाओं, जनप्रतिनिधियों से भाग लेने की अपील की है। उन्होनें इस भव्य आयोजन की सफलता के लिए अधिकारियों को दायित्व सौंपे है। यह आयोजन पुलिस अधीक्षक श्री अनिलसिंह कुशवाह के मार्गदर्शन में किया जाएगा।
    यह जानकारी दौड़ प्रभारी एवं जिला युवा समन्वक श्री अजीज डिप्टी ने दी। उन्होनें बताया कि राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा देने के लिए एकता दौड़ का आयोजन किया गया है। यह दौड़ तहसील चौराहा से प्रारंभ होकर कमल टॉकीज चौराहा, गांधी चौक, सुभाष चौक, कोतवाली थाना, फूल चौक, बाई साहब की हवेली, पांडुमल चौराहा, राजपुरा गेट से होते हुए स्टेडियम पर संपन्न होगी।
----------
क्रमांक/115/833/2014                                                          पवार/सचिन/ने.यु.
समाचार
राष्ट्रीय संकल्प दिवस आज
बुरहानपुर/30 अक्टूबर/ पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्रीमती इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय संकल्प दिवस के रूप में मनाई जाएगी। राज्य शासन के निर्देशानुसार इस दरम्यान जिले में विविध कार्यक्रम आयोजित किए जायेगे।
    कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया ने इस संबंध में सभी विभागों को दिशा-निर्देश जारी कर दिए है। 31 अक्टूबर को स्थानीय प्रशासन द्वारा रैली का आयोजन किया जाएगा। रैलियों में राष्ट्रीय भावना व देश भक्ति के गीत गायन होगा। गणमान्य व्यक्तियों द्वारा भाषण व्याख्यान दिए जाएगें। साथ ही युवा नेताओं को इस आयोजन में शामिल करना सुनिश्चित किया गया है।

----------
क्रमांक/116/834/2014                                                        पवार/सचिन/प्रशासन
समाचार
मध्य प्रदेश स्थापना दिवस पर कुपोषण निवारण और महिला सशक्तिकरण पर समयबद्ध कार्यक्रम निर्धारित
जिले में महिला बाल विकास विभाग द्वारा 1 से 7 नवम्बर तक विविध जागरूक गतिविधियां आयोजित
बुरहानपुर/30 अक्टूबर/- राज्य शासन के निर्देशानुसार मध्य प्रदेश स्थापना दिवस आगामी एक नवम्बर को मनाया जायेगा। इस दरम्यान जिले में एक नवम्बर से 7 नवम्बर तक कुपोषण निवारण और महिला सशक्तिकरण पर आधारित कार्यक्रम संपन्न होगे। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा उक्त विविध गतिविधियों की समयबद्ध रूपरेखा नियत की है।
    कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया के दिशा निर्देशन में कार्यक्रमों को कार्य रूप दिया गया है। जिसका क्रियान्वयन विभाग द्वारा किया जाएगा। यह जानकारी महिला एवं बाल विकास जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री अब्दुल गफ्फार खान ने दी। उन्होनें बताया कि इस सप्ताह अंतर्गत आई.सी.डी.एस.द्वारा कुपोषण निवारण और महिला सशक्तिकरण पर आधारित विविध जागरूक कार्यक्रम जनहितार्थ किए जाएगें। एक नवम्बर को रैली का आयोजन किया गया है। जिसमें आंगनवाडी की सेवाओं का प्रचार-प्रसार किया जाएगा। इसमें हितग्राही/स्कूली छात्र-छात्राएं भाग लेगें। आंगनवाड़ी द्वारा प्रदत्त सुविधाएं की जानकारी दी जाएगी। अभियान की गतिविधियों में शामिल होने वाले हितग्राहियों का पंजीयन किया जाएगा। महिला सशक्तिकरण की दिशा में केवल बेटियों वाले परिवारों का सम्मान कार्यक्रम होगा।
    इस अनुक्रम में 2 नवम्बर को आंगनवाडी केन्द्र पर हितग्राहियों बच्चों व किशोरियों की खेलकूद प्रतियोगिता आयोजित की गई है। आंगनवाड़ी केन्द्रों के संबंध में वातावरण निर्मित करने अनौपचारिक रूप से एक-दूसरे से खुल कर संवाद कर चर्चा कर सकेगें। इसी दिन केन्द्रों पर स्वागत लक्ष्मी योजनान्तर्गत समस्त महिला प्रतिभागियों का सम्मान किया जाएगा।
    3 नवम्बर को वजन मेला सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों में होगा। जिसमें 0 से 5 वर्ष के बच्चों का वजन लिया जाएगा। जिससे उनकी वृद्धि की आंकलन हो सकेगा। इस मौके पर स्वागत लक्ष्मी योजनान्तर्गत समस्त समस्त सामान्य वजन श्रेणी वाले बेटियों के परिवारों को भी सम्मानित करना सुनिश्चित किया गया है।
    4 नवम्बर को गोद भराई कार्यक्रम विधिवत रूप से किया जाएगा। इस खुशनुमा मौके पर अशिक्षित, अल्पशिक्षित ग्रामीण आदिवासी, गरीब परिवार, शहरी गंदी बस्ती में रहने वाली गर्भवती महिलाओं की गर्भावस्था में उचित देखभाल, प्रसव पूर्व स्वास्थ्य जांच, सुरक्षित और संस्थागत प्रसव के लिए प्रेरित किया जाएगा। इसके साथ ही उत्तर जीविता तथा प्रसव उपरांत देखभाल करने हेतु जानकारी व सुविधाओं के संबंध में अवगत कराया जाएगा। तत्पश्चात केन्द्रों पर स्वागत लक्ष्मी योजनान्तर्गत शालाओं में प्रथम आने वाली बेटियों को पुरूस्कृत कर सम्मान किया जाएगा।     
    5 नवम्बर को सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों पर स्वस्थ्य शिशु श्रेष्ठ बालक/बालिका स्वस्थ मां प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान 6 माह से 2 साल की आयु वाले शिशुओं व उनकी माताएं। आंनगवाड़ी केन्द्रों पर 3 साल से 6 साल तक आयु वाले बच्चें व उनके माता-पिता। गर्भवती महिलाएं आंगनवाड़ी की सेवाएं लेने हेतु प्रेरित करने वाले प्रतियोगिता में सम्मिलित होगें। स्वागत लक्ष्मी योजनान्तर्गत सभी महिला प्रतिभागियो का भी स्वागत किया जाएगा।
    6 नवम्बर को पोषण दस्तक कार्यक्रम आयोजित किया गया है। सर्व आंगनवाड़ी केन्द्रों पर वजन मेेले में लिए गए वजन के अनुसार बच्चों के पोषण स्तर को उनके घरों में अंकित किया जाएगा। महिला सशक्तिकरण के तहत माह नवम्बर में जन्मी बेटी के जन्म पर घर जाकर बधाईयां दी जाएगी।
    7 नवम्बर को महिला एवं बाल विकास विभाग के तत्वावधान में सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों द्वारा करके सीखो गतिविधि कुपोषण निवारण की दिशा में आयोजित होगी। जिसमें आंगनवाड़ी केन्द्र पर हितग्राहियों में भागीदारी से आपस में संदेश देना और उनके व्यवहार में परिवर्तन करना है। उपरी आहार की पोषकता बढ़ाने के लिए हितग्राहियों में करके सीखो की आदत डालने अभिप्रेरित किया जाएगा। महिला सशक्तिकरण के तहत केवल बेटियों वाले परिवारों का सम्मान करने हेतु सामाजिक संवर्धन विविध गतिविधियां बेटी बचाओं की दिशा में संपादित की जावेगी। 
----------
क्रमांक/117/835/2014                                                                     पवार/सचिन/म.बा.वि.
समाचार
मध्य प्रदेश निःशक्त जन हितार्थ चलित न्यायालय का आगमन एक नवम्बर को
बुरहानपुर में आयुक्त द्वारा शिकायतों व समस्याओं की सुनवाई होगी
बुरहानपुर/30 अक्टूबर/मध्य प्रदेश निःशक्तजन हितार्थ चलित न्यायालय एक नवम्बर को पूर्वान्ह 11 बजे बुरहानपुर तहसील कार्यालय में आयोजित होगा। इस मोबाइल कोर्ट में आयुक्त श्री बलदीप सिंह मेनी निःशक्तों की समस्याएं व शिकायतें सुनेगें। इस दरम्यान आयुक्त द्वारा यथा संभव त्वरित निराकरण करने हेतु आदेश पारित किये जाएगें।
    कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया ने उक्त जानकारी दी। उन्होनें बताया कि यह आयोजन निःशक्त व्यक्ति (समान अवसर अधिकार संरक्षण और पूर्ण भागीदारी) अधिनियम 1955 के प्रावधान अनुसार निःशक्तजनों को प्रदत्त सुविधाओं एवं उनके अधिकारों को संरक्षित रखने हेतु किया गया है। इस हेतु सामाजिक न्याय को आयोजन संबंधी जिम्मेदारी सौंपी गई है।
    डिप्टी कलेक्टर एवं सामाजिक न्याय विभाग प्रभारी उपसंचालक श्री समुेरसिंह मुजाल्दा ने बताया कि मोबाइल कोर्ट के प्रचार-प्रसार हेतु निर्देश जारी किए गए है। जिसमें नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों इस संबंध में जानकारी अनिवार्य रूप से पहुंचाना सुनिश्चित किया गया है। इस हेतु प्रत्येक ग्राम पंचायत के सचिव/नगरीय निकाय में वार्ड प्रभारी को आवश्यक पम्पलेट/ब्रोसर/मुनादी कराने निर्देश दिए गए है। इस दौरान विकलांगों की शिकायतों को सचिव एवं वार्ड प्रभारी पंजीयन करेगें। उक्त पंजीकृत दस्तावेज जनपद पंचायत सीईओ एवं नगर पालिका अधिकारी द्वारा उपसंचालक सामाजिक न्याय को भेजे जाएगें। उपसंचालक द्वारा प्रत्येक शिकायत की स्कूटिनी की जाकर संबंधित अधिकारी से टीप/अभिमत प्राप्त कर आवेदन पत्र के साथ संलग्न कर लिया जायेगा। उक्त सभी आवेदनों को अंतिम सुनवाई/निराकरण हेतु मोबाइल कोर्ट में आयुक्त निःशक्तजन मध्य प्रदेश के न्याय निर्णय हेतु प्रस्तुत किए जाएगें।
    कोर्ट आयोजन की तिथि को भी निःशक्तजनों द्वारा समस्या, शिकायत से संबंधित आवेदन प्राप्त किए जाएगें। ऐसे सभी आवेदनों का पंजीयन काउंटर पर किया जाएगा। ऐसे आवेदन पत्रों पर भी विभागीय अधिकारियों से प्राप्त कर उसी दिन आयुक्त निःशक्तजन मध्य प्रदेश के समक्ष प्रस्तुत किए जा सकते है।
----------
क्रमांक/118/836/2014                                                  पवार/सचिन/सा.न्या.
समाचार
राज्य स्थापना दिवस पर निःशुल्क क्षय रोग निवारण शिविर आयोजित
2 नवम्बर को शिविर में विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा जांच परीक्षण व उपचार 
बुरहानपुर/30 अक्टूबर/- राज्य शासन के निर्देशानुसार मध्य प्रदेश स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में जिले में विविध गतिविधियां संपन्न की जा रही है। इस अनुक्रम में 2 नवम्बर को प्रातः 10 बजे से जिला मुख्यालय पर क्षय रोग निवारण शिविर का आयोजन किया गया है। यह शिविर शासकीय ज्योतिबा फूले कन्या माध्यमिक विद्यालय में संपन्न होगा।
    कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया के दिशा निर्देशन में उक्त शिविर की तमाम व्यवस्थाऐ जनहितार्थ सामाजिक संवर्धन की दिशा में माकूल की गई है। लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण विभाग द्वारा आयोजित उक्त शिविर में रोगियों का स्वास्थ परीक्षण व उपचार कर निःशुल्क दवाईया का वितरण किया जाएगा। इस दरम्यान खासकर बुनकरों, बीड़ी मजदूरों व उनके परिवारजनों को स्वास्थ परीक्षण की विशेष सुविधाएं सुलभ कराई जावेगी। साथ ही इनके परिवानजनों को स्वास्थ्य को सुरक्षित रखने मॉस्क वितरित कर लाभान्वित किया जाएगा। सर्व संबंधित आमजन से अपील की गई है कि वे इस शिविर का लाभ अवश्य उठाये। शासन की स्वास्थ्य संवर्धन योजनाओं का लाभ उक्त परिवार आगे आकर लेवे। सीएमएचओ ने बताया कि इस शिविर में क्षय रोग के अलावा चिकित्सा विशेषज्ञों में नेत्र, शिशु रोग, नाक, कान, गला, हड्डी अन्य रोग विशेषज्ञों द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण कर उपचार सुविधाएं उपलब्ध कराई जावेगी। मलेरिया विभाग द्वारा मलेरिया की जांच की जावेगी। दवाई वितरण हेतु फार्मसिस्ट की ड्यूटी लगाई गई है।
----------
क्रमांक/119/837/2014                                                                   पवार/सचिन/स्वास्थ
समाचार
कलेक्टर ने सीएम हेल्पलाईन का पालन करने प्रशिक्षण में अधिकारियों को दिये निर्देश
बुरहानपुर/30 ंअक्टूबर/ राज्य शासन द्वारा आम नागरिकों के लिए शिकायत एवं समस्याओं के निराकरण एवं जानकारी प्रदाय तंत्र के रूप में सीएम हेल्पलाईन 181 संचालित है। जिले में समस्त विभाग प्रमुख अधिकारी अपने स्तर पर हेल्पलाईन से संबंधित शिकायत/समस्याओं का निराकरण 7 दिन की समयावधि में करना सुनिश्चित करें। उक्त कार्यवाही समयावधि में नहीं करने पर विभाग प्रमुख के प्रति नियमानुसार कार्यवाही की जावेगी।
    कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया ने आज सीएम हेल्पलाईन संबंधी प्रशिक्षण में उक्त निर्देश लेवल 1 एवं लेवल 2 अधिकारियों को दिये है। उन्होनें इस संबंध में अधिकारियों को भी विस्तृत दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने हेतु आगाह किया है। इस प्रशिक्षण में एडीएम श्री प्रकाश रेवाल, डीएफओ श्री ए.के.सिंह व सहित सभी विभाग प्रमुख व नोडल अधिकारीगण एवं लेवल एक, लेवल दो स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।    
    अपर कलेक्टर ने बताया कि विभागीय अधिकारियों को कॉल सेंटर के पोर्टल पर एक यूनिक आई डी एवं पासवर्ड प्रदान किया गया है। जिसके माध्यम से वह लॉग इन कर सभी शिकायतों का प्रिन्ट आउट निकाल ले। उसकी गंभीरता, महत्ता और अविलंबता के आधार पर शीघ्रता से निराकरण की कार्यवाही सुनिश्चित करेगें। अधिकारी इस कार्य के संपादन हेतु एक सिस्टम बनायें। जो कि मुस्तैदी से उक्त कार्य को अंजाम दे सके। ऑपरेटर नित्य विभागीय यूजर आईडी के माध्यम से विभाग संबंधित शिकायतों की जानकारी प्राप्त करें और जिला अधिकारी को अवगत करायेगें। विभाग प्रमुख भी प्रतिदिन अपने विभाग से संबंधित शिकायतें देखेगें। नागरिकों से प्राप्त सामान्य शिकायतों के निराकरण के लिए चार स्तर के अधिकारी है। जिले में संबंधित ब्लॉक स्तरीय अधिकारी फर्स्ट लेबल अधिकारी एवं विभाग या जिला कार्यालय प्रमुख अधिकारी द्वितीय स्तर के अधिकारी है। विभाग के संभाग स्तर के अधिकारी तृतीय स्तरीय अधिकारी तथा संबंधित विभाग के विभागाध्यक्ष चतुर्थ स्तरीय अधिकारी बनाये गये है। सभी स्तर के अधिकारी प्रतिदिन पोर्टल पर लागिन करके नागरिकों से प्राप्त शिकातयों का अनिवार्यतः अवलोकन करे। किंतु इन शिकायतों आदि पर त्वरित कार्यवाही कर पोर्टल पर अपलोड करने की जिम्मेदारी सर्वप्रथम प्रथम स्तर के अधिकारी की है। यह अधिकारी प्रत्येक शिकायत के संबंध में वास्तविक स्थिति और की गयी कार्यवाही की जानकारी देगें। हेल्पलाईन द्वारा शिकायत अपलोड होने के अधिकतम 7 कार्यदिवस के भीतर पोर्टल पर अपलोड करेगें। यदि प्रथम स्तर के अधिकारी द्वारा ऐसा नहीं किया जाता। तो शिकायत पर वस्तुस्थिति की जानकारी अपलोड करने की जवाबदेही स्वतः ही द्वितीय स्तर पर अंतरित हो जायेगी। इसी प्रकार समय सीमा में कार्यवाही नही होने पर यह जिम्मेदारी तृतीय एवं चतुर्थ स्तर तक पहुंच सकेगी। यद्यपि प्रथम स्तर के अधिकारी समय सीमा के बाद टोल फ्री नंबर 1800-2330-183 पर कॉल कर प्रकरण की अद्यतन स्थिति दर्ज करा सकते है। लेकिन समय सीमा किसी भी स्थिति में कम नही होगी।
    प्रशिक्षण में लोक सेवा प्रबंधक श्री मनोज शंखपाल ने सीएम हेल्पलाईन के संबंध में प्रोजेक्टर के माध्यम से उपस्थित सर्व विभाग प्रमुखों और नोडल अधिकारियों/लेवल एक/लेवल दो स्तर के अधिकारी को विस्तार से क्रियान्वयन से अवगत कराया। उन्होनें बताया कि पोर्टल पर शिकायत विशेष के लिए संबंधित विभाग/कार्यालय स्पष्ट जानकारी अपलोड करें। इसके पश्चात सीएम हेल्पलाईन द्वारा संबंधित शिकायतकर्ता को दूरभाष पर संपर्क कर समस्या के समाधान से उसकी संतुष्टि के बारे में पूछे। कि वह शिकायत के साथ निराकरण से संतुष्ट है। तो तदानुसार जानकारी दर्ज कर शिकायत को विलोपित किया जा सकता है। किंतु शिकायतकर्ता नागरिक संतुष्ट नही है तो शिकायत विलोपित नहीं होगी। वह शिकायत वरिष्ठ अधिकारी को प्रेेषित हो जाएगी। इस प्रकार से हेल्पलाईन के संबंध में अधिकारियों को क्रियान्वयन और जवाबदेही समझायी गयी एवं विस्तृत प्रशिक्षण दिया गया।
----------
क्रमांक/120/838/2014                                                  पवार/सचिन/प्रशासन/फोटो
समाचार
मतदान केन्द्रों सभी आवश्यक व्यवस्थाऐ दुरूस्त करायें-श्रीमती सिंथिया
कलेक्टर द्वारा नगरीय निकाय क्षेत्र में मतदान केन्द्र निरीक्षण की समीक्षा बैठक संपन्न
बुरहानपुर/30 अक्टूबर/ राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार आगामी नगरीय निकाय आम चुनाव निर्भीक एवं सुचारू रूप से संपन्न कराये जाना है। इस हेतु बुरहानपुर नगर निगम और शाहपुर नगर परिषद क्षेत्रान्तर्गत मतदान केन्द्र का निरीक्षण किया गया है। जिसकी समीक्षा सेक्टर अधिकारियों की बैठक में हुई।
    कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया ने नगर निगम बुरहानपुर और नगर परिषद शाहपुर क्षेत्र में नियुक्त सेक्टर अधिकारियों से मतदान प्रक्रिया संपन्न कराने हेतु आवश्यक सुविधाओं का जायजा लिया। अधिकारियों से मतदान केन्द्रों पर सुरक्षित साफ-सुथरा भवन, आवागमन की सुलभता, रैम्प, प्रकाश, पेयजल, प्रसाधन आदि अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं का जायजा लिया गया। सेक्टर अधिकारियों ने उक्त नगरीय निकायों के मतदान केन्द्रों का सूक्ष्मता से निरीक्षण कर प्रतिवेदन बैठक में प्रस्तुत किया। कलेक्टर के निर्देश पर अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने निरीक्षण प्रतिवेदन का अवलोकन कर जानकारी प्रस्तुत की। बैठक में कलेक्टर ने जहां-जहां व्यवस्थाओं में कमी पाई गई। साथ ही जिन मतदान केन्द्रों में जो प्रबंध मतदाताओं के लिए आवश्यक है। उसका भी समीक्षात्मक जायजा लेते हुए मतदान केन्द्रों पर सभी आवश्यक सुविधाएं दुरूस्त और उपलब्ध कराने के निर्देश दिए है। इस हेतु एसडीएम श्री काशीराम बडोले, नगर निगम आयुक्त श्री सुरेश रेवाल, तहसीलदार श्री अजीत श्रीवास्तव को अपने अधीनस्थ अमले के साथ मतदान केन्द्रों का सूक्ष्मता से अवलोकन करने के निर्देश दिए गए है। साथ ही केन्द्रों में अविलम्ब सुविधाओं की सुलभता कराने के लिए ताकीद दी है। उल्लेखनीय है कि नगर निगम बुरहानपुर क्षेत्र के 48 वार्ड अंतर्गत आने वाले मतदान केन्द्रों के लिए 16 सेक्टर आफीसर की नियुक्ति की गई है। इसमें दो सेक्टर आफीसर अलग से रिजर्व रखे गए है। इसी प्रकार से शाहपुर नगर के 16 वार्डो के क्षेत्रान्तर्गत मतदान केन्द्रों के लिए एक सेक्टर अधिकारी की ड्यूटी लगाई गई है। नगर क्षेत्र के लिए एक सेक्टर आफीसर पृथक से रिजर्व रखा गया है।
----------
क्रमांक/121/839/2014                                                              पवार/सचिन/निर्वाचन

No comments:

Post a Comment