Tuesday, 21 October 2014

JANSAMPARK NEWS 20-10-14

जिला जनसंपर्क कार्यालय, बुरहानपुर म.प्र.
समाचार
प्रदेश सरकार किसानों को सक्षम और समृृद्ध बनाने संकल्पित
कृषि महोत्सव में अतिथियों का आव्हान
बुरहानपुर में तीन दिवसीय कृषि विज्ञान मेला संपन्न
बुरहानपुर/20 सितम्बर/ जिले में कृषि महोत्सव के तहत विभिन्न जागरूक गतिविधियां संपादित की गई। जिसमें कृषि क्रांति रथ एवं किसान सम्मेलन तथा कृषि विज्ञान मेला आयोजित हुआ। इन आयोजनों में रथ के माध्यम से गांव-गांव में संगोष्ठियों द्वारा जिला स्तर पर किसान सम्मेलन और कृषि विज्ञान मेले के माध्यम से कृषकों को विविध जानकारी उपलब्ध कराई गई। जिसका उद््देश्य कृषि के अलावा किसानों को अन्य व्यवसायों में जागरूक करना है।   
    किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग के तत्वावधान में आयोजित तीन दिवसीय मेले में देश के विभिन्न स्थानों से आए वैज्ञानिकों ने कृषि व उद्यानिकी के अलावा पशुपालन, मुर्गीपालन, मत्स्य पालन, मधुमक्खी पालन, रेशम पालन जैसे अतिरिक्त व्यवसायाओं के बारे में उन्नत तकनीक अवगत कराई। इस दौरान महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश एवं हरियाणा अन्य प्रांतों से आए प्रगतिशील कृषकों ने भी कास्तकारी, उद्यानीकि व अतिरिक्त व्यवसायाओं से लाभ लेने के गुण किसानों के साथ साझा किए।
    जिला मुख्यालय पर आयोजित तीन दिवसीय कृृषि विज्ञान मेला का समापन मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती गौराबाई दरबार तथा जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री अरूण पाटिल की अध्यक्षता में हुआ। इस मौके पर मंडी अध्यक्ष श्रीमती भुरली बाई, किसान मोर्चा अध्यक्ष श्री ज्ञानेश्वर पाटिल, विधायक प्रतिनिधि श्री मुकेश शाह, पूर्व जनपद अध्यक्ष श्री काशीनाथ महाजन, श्री गनसिंह पटेल सहित अन्य प्रगतिशील कृषक विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित रहे।
    सभी अतिथियों ने अपने वक्तव्य में दोहराया कि मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने किसानों की चिंता की है। हमेशा उनकी सोच रही है कि खेती को लाभ का धंधा कैसे बनाया जाए। मुख्यमंत्री के चिंतन का परिणाम कृषि महोत्सव है। जिसके द्वारा किसानों को खेती के अलावा अन्य व्यवसायों से जोड़ना है। वास्तव में प्रदेश सरकार किसानों को सक्षम और समृृद्ध बनाने संकल्पित है।
    कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया ने समापन अवसर पर बताया कि इस तीन दिवसीय कृषि विज्ञान मेले में खेती के अलावा अन्य कृषि आधारित व्यवसाय भी करने की तकनीक विशेषज्ञों द्वारा अवगत कराई गई है। जिससे किसान अपनी कर सकते है। किसान अन्य व्यवसायिक गतिविधियां अपनाते है। निश्चित रूप से उनकी आमदनी में इजाफा होगा। वे उन्नत व समृद्ध होगें। एक फसल पर निर्भर नही रहे। किसान को प्राकृतिक आपदा आने पर नुकसान उठाना पड़ता है। जिसकी भरपाई के लिए शासन की मंशा है कि किसानों को खेती के अलावा अन्य फायदेमंद व्यवसाय की तकनीक भी उपलब्ध कराई जाए। जो कृषि महोत्सव के दरम्यान गांव-गांव में पूरी तकनीकि के साथ किसानों को जानकारी मुहैया कराई गई है। उस पर किसान अमल करें। केवीके बुरहानपुर द्वारा किसानों को रोज एस.एम.एस. के माध्यम से जानकारी दी जा रही है। इसमें मुर्गीपालन, उन्नत बीज व फसलों के बारे में समसामयिक रूप से किसानों को जागरूक किया जा रहा है। मोबाईल नंबर 09301227210 पर कॉल करें। जिससे आपका नंबर भी केन्द्र पर अपडेट हो जाएगा। किसानों को जब भी कोई जानकारी चाहिए तो उक्त नंबर का उपयोग करें। वैसे कृषि विभाग द्वारा गांव-गांव में तकनीकि अधिकारी भी तैनात है। उनसे भी जानकारी प्राप्त की जा सकती है। उन्होनें बताया कि एक माह से जारी कृषि महोत्सव में 13 हजार 592 किसान लाभान्ति हुए है। 4 हजार फसल बीज के मिनी किट किसानों को प्रदाय किए गए है। 1580 खेतों में मिट्टी का संेपल लेकर परीक्षण किया गया है। 555 वन पट्टाधिकार के तहत वनांचलों में कृषकों को पट्टे उपलब्ध कराए गए है। 18 बलराम तालाब स्वीकृति प्रदान की गई है। 1700 दुधारू पशुओं का कृत्रिम गर्भाधान किया गया है। 15 लाख मत्स्य बीजों का वितरण हुआ है। राजस्व विभाग द्वारा 37 हजार नक्शा-खसरा प्रदाय कर ग्रामीण कृषकों को लाभान्वित किया गया है। उद्यानिकी के क्षेत्र में हजारों पौधें कृषकों को दिए गए है। इस कृषि रथ भ्रमण में 290 आवेदन किसानों के प्राप्त हुए है। जिले में कृषि महोत्सव में सभी किसानों, जनप्रतिनिधियों, प्रगतिशील कृषकों सभी विभागों के अधिकारियों/कर्मचारियों बाहर से आए वैज्ञानिकों का अभूतपूर्व सहयोग प्राप्त हुआ है। जिससे यह वृृहद आयोजन सफल हो सका है। उन्होनें सभी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित करते हुए आगामी दीपावली पर्व की शुभकामनाएं देते हुए सतत् सहयोग प्रदान करने की अपील की है।
    मेला समापन कार्यक्रम में अपर कलेक्टर श्री प्रकाश रेवाल ने कहा कि कृषि महोत्सव का उद््देश्य किसानों को उन्नत तकनीक कृषि व अन्य व्यवसायों की उपलब्ध कराना है। ताकि किसान प्रशिक्षित होकर आर्थिक रूप से उन्नत हो सके। श्री ज्ञानेश्वर पाटिल ने कहा कि प्रदेश सरकार का प्रमुख उदे््दश्य किसानों को समृद्ध बनाना है। वैज्ञानिक की सलाह पर किसान कास्तकारी के अलावा अन्य फसलें उत्पादित करें। साथ ही कृषि पर आधारित व्यवसायों से अपने आय के स्त्रोत बढायें। श्री मुकेश शाह ने कहा कि प्राकृतिक आपदा से किसानों के लिए बीमा आदि की व्यवस्था होना चाहिए। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा केला टिशुकल्चर पर सर्वाधिक सब्सिडी दे रहा है। किसान भाई अन्य फसलों के भी उत्पाद करें। यदि हम उन्नत बीज का व्यवसाय करें तो उपज का अच्छा खासा मूल्य अर्जित कर सकते है।
    समापन अवसर पर केला उत्पादन के उन्नत तकनीक महाराष्ट्र जिला जलगांव के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ.नजीम शेख ने किसानों को बतलाई। जलगांव के डॉ.एस.आर.परदेशी ने केला फसल की कीट व्याधि की रोकथाम के बारे में प्रशिक्षण दिया। पूणे के डॉ.विजय महाजन ने प्याज उत्पादन की तकनीकि समझाई। रेशम पालन का प्रशिक्षण हौशंगाबाद से आए वैज्ञानिक डॉ. आर.के.खरे ने दिया। आईल रिसर्च स्टेशन जलगांव के वैज्ञानिक श्री माड़ुलकर ने किसानों को समर सीजन व खरीफ आदि में मुंगफल्ली उत्पादन के बारे में अवगत कराया।
    उपसंचालक कृषि श्री मनोहर सिंह देवके ने इस तीन दिवसीय मेले की जानकारी दी। उपसंचालक आत्मा श्री राजेश चतुर्वेदी ने बताया कि मेले में 55 स्टॉल लगाकर उन्नत कृषि, उद्यानिकी बीज, उर्वरक, कीटनाशक दवाएं, फल, सब्जी, अनाज, दलहन, तिलहन, शहद व अन्य प्राकृतिक जड़ीबूटी वनोपज, आधुनिक कृषि उपकरण, सांची दुग्ध डेयरी के उत्पाद दूग्ध उत्पादन बढाने उन्नत नस्लों के पशुओं की जानकारी उपलब्ध कराई गई है। जिसका अवलोकन मुख्य अतिथि, कलेक्टर तथा जनप्रतिनिधियों व प्रगतिशील कृषकों और वैज्ञानिकों द्वारा किया गया। कार्यक्रम का संचालन पूर्व सहायक संचालक कृषि श्री विश्वासराव पाटील द्वारा किया गया।
---------
क्रमांक/89/807/2014                           पवार/सचिन/प्रशासन/फोटो
समाचार
विभिन्न प्रतिष्ठानों पर घरेलू गैस सिलेंडर जब्त व नापतौल प्रकरण निर्मित
एवं मिठाई मावा मिष्ठान नमूने लिये गए

बुरहानपुर/20 सितम्बर/ कलेक्टर बुरहानपुर श्रीमती जे. पी. आईरिन सिथिंया के निर्देषन में  जिला आपूर्ति अधिकारी बुरहानपुर श्री अजीत कुमार कुजूर के नेतृत्व में खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग, नाप तौल विभाग तथा खाद्य अपमिश्रण विभाग के संयुक्त जॉच दल द्वारा बुरहानपुर नगर में जॉच की कार्यवाही की गयी, जिसमें घरेलू गैस सिलेण्डरों का व्यावसायिक उपयोग करते पाए जाने के कारण 09 घरेलू गैस सिलेण्डर जब्त किए गए। खाद्य अपमिश्रण विभाग द्वारा 04 प्रतिष्ठानो में मिठाई एवं मावा के नमूने लिए गए तथा नाप तौल विभाग द्वारा 08 प्रकरण निर्मित किए गये।
    संयुक्त जॉच दल द्वारा बस स्टेण्ड स्थित मुरली मनोहर ढाबा, प्रभु टी सेन्टर, टेस्टी पोहा, मनोज कॉर्नर, लक्की टी कार्नर, ललित केटरर्स तथा ईकबाल चौक स्थित अब्दुल अजीज होटल एवं बुरहानपुर नमकीन सेन्टर से घरेलू गैस सिलेन्डर जप्त किए गये। खाद्य अपमिश्रण विभाग द्वारा बस स्टेण्ड स्थित पारूल स्वीट्स, ललित केटरर्स व श्रीराम स्वीट्स तथा ईकबाल चौक स्थित मदीना स्वीटस से मिठाई एवं मावा के नमूने लिये गये।  नापतौल विभाग द्वारा मॉ जोतावाली टेªडर्स इंदिरा कॉलोनी, स्टेडियम रोड स्थित सुपर सागर किराना, अमित टेªडर्स व मालानी स्वीट्स तथा बस स्टेण्ड स्थित रमेष किराना, मुकेष किराना स्टोर एवं ईकबाल चौक स्थित मदिना स्वीट्स व नवील बेकरी के विरूध्द नाप तौल अधिनियम के तहत प्रकरण निर्मित किए गये।     
    संयुक्त जॉच दल में जिला आपूर्ति अधिकारी के अलावा श्री एन.एस. चौहान, सहायक आपूर्ति अधिकारी, श्री सचिन भास्करे, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी, श्री चेतन वमार्, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी, श्री आर.आर.सोलंकी, खाद्य सुरक्षा अधिकारी, श्री एच.एल. आवास्या खाद्य सुरक्षा अधिकारी तथा श्री सुषील पाठक नाप तौल निरीक्षक बुरहानपुर आदि सम्मिलित थे।
---------
क्रमांक/90/808/2014                              पवार/सचिन/खाद्य
समाचार
महापौर तथा अध्यक्ष पद हेतु आरक्षण आज
बुरहानपुर/20 सितम्बर/ आगामी नगर पालिक निगम और नगर पालिका/परिषद के सामान्य निर्वाचन के प्रयोजन से मध्य प्रदेश नगर पालिका हेतु (महापौर एवं अध्यक्ष पदों का आरक्षण) नियम 1999 के तहत महापौर/अध्यक्ष पदों के आरक्षण की कार्यवाही 21 अक्टूबर को पूर्वान्ह 11 बजे रवीन्द्र भवन भोपाल के सभागृह में संपन्न होगी।
    अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री प्रकाश रेवाल ने उक्त संबंध में अवगत कराया। उन्होनें यह जानकारी आयुक्त नगर पालिका निगम बुरहानपुर, मुख्य नगर पालिका अधिकारी शाहपुर को महापौर/अध्यक्ष के पदों के आरक्षण की कार्यवाही कार्यालय के नोटिस बोर्ड पर चस्पा करने हेतु निर्देशित किया है।
---------
क्रमांक/91/809/2014                              पवार/सचिन/निर्वाचन
समाचार
अवैध शराब विक्रेताओं एवं होटलों/ढाबों पर आबकारी विभाग की धरपकड़
बुरहानपुर/20 सितम्बर/ जिले में आबकारी विभाग द्वारा अवैध शराब विक्रेताओं तथा होटल ढाबों में बिकने वाली शराब के विरूद्ध विेषेष अभियान में छापामार कार्यवाही की गई। जिसमें अभी तक अवैध हाथभटटी मदिरा के 352 पंजीबद्ध किये गये है। इसमें 3340 बल्क लीटर अवैध हाथभट्टी मदिरा तथा 18635 किलोग्राम महूआ लहान जप्त किया गया। साथ ही होटल ढाबों के विरूद्ध भी 48 प्रकरण पंजीबद्ध किये गए। इन होटल ढाबों से 95 प्रुफ लीटर विदेषी मदिरा तथा 80 बल्क लीटर बीयर जप्त की गई। संबधित आरोपियो के विरूद्ध आबकारी अधिनियम के अंतर्गत वैधानिक कार्यवाही कर प्रकरण दर्ज किए गए है।
---------
क्रमांक/92/810/2014                              पवार/सचिन/आब.

No comments:

Post a Comment