Friday, 17 October 2014

JANSAMPARK NEWS 17-10-14

जिला जनसंपर्क कार्यालय, बुरहानपुर म.प्र.
समाचार
जिले में किसानों को बीज मिनी किट व पशु औषधियां वितरित
प्रदेश शासन के सचिव एवं कलेक्टर कृषक संगोष्ठियों में पहुंचे
बुरहानपुर/17 अक्टूबर/ जिले में कृषि महोत्सव के दौरान ग्राम स्तर पर संगाेिष्ठयों का आयोजन किया जा रहा है। गत दिवस बुरहानपुर विकासखण्ड के झिरपांजरिया एवं विकासखण्ड खकनार के मांजरोदकलां में संगोष्ठियों में किसानों ने बड़ी संख्या में भाग लेकर कृषि तकनीक व शासन कृषि मूलक योजनाओं की जानकारी प्राप्त की। इस दरम्यान किसानों को चने, गेहूं और सब्जियों के मिनिकिट एवं धनिया बीज के पैकेट तथा पशुओं के उपचारार्थ औषधियां भी वितरित की गई।
    इस मौके पर नेपानगर विधायक श्री राजेन्द्र दादू बतौर मुख्य अतिथि कार्यक्रम में भाग लिया। उन्होनें कहा कि शासन की कृषि व उद्यानिकी, पशुपालन, मत्स्य पालन की तमाम योजनाएं किसानों को उन्नत बनाने के लिए संचालित है। बशर्त किसानों को आगे आकर इन योजनाओं का लाभ लेना चाहिए। संगोष्ठी में राज्य शासन लोक निर्माण विभाग के सचिव श्री सी.पी. अग्रवाल ने भी भाग लिया। उन्होनें कृषि महोत्सव के अंतर्गत कृषि क्रांति रथ द्वारा संचालित गतिविधियों के संपादन को सराहा। सचिव ने संगोष्ठियों में कहा कि रथ के माध्यम से किसानों को घर बैठें रबी फसलों की तकनीक कीट व्याधि से बचाव साथ ही पशु, मत्स्य व कुकट पालन की भी जानकारी विभागीय अधिकारियों ने दी है। जो कृषकों के लिए आय के स्त्रोत बढ़ाने में मददगार होगी। शासन की मंशा है खेती फायदे का धंधा बने। इसलिए उक्त व्यवसायिक गतिविधियां भी किसानों को अपनाना अतिआवश्यक है।
    कलेक्टर श्रीमति जे.पी.आईरिन सिंथिया ने भी कृषक संगोष्ठियों को संबोधित किया। उन्होनें कहा कि जिले में कड़कनाथ कुकट पालन से अधिक आमदनी होगी। चूकि यह ऐसी दुर्लभ प्रजाति है। जिसकी मांग अत्यधिक है। निश्चित रूप से जिस चीज की मांग अधिक होती है। ऐसे व्यवसाय को अपनाने से उत्पादक को आय भी अधिक होगी। इसलिए किसान कड़कनाथ मुर्गीपालन व्यवसाय को बडे़ पैमाने पर करें। जिससे खेती के साथ अन्य व्यवसाय से ग्रामीण अर्थव्यवस्था सुदृृढ़ होगी। कलेक्टर ने कृषि की नवीनतम तकनीकों को बढ़ावा देने पर भी जोर दिया। इस संगोष्ठी में किसानों और अधिकारियों के बीच समस्याओं का निराकरण किया गया। उपसंचालक कृषि श्री एम.एस.देवके तथा आत्मा उपसंचालक श्री राजेश चतुर्वेदी ने भी कृषि और उद्यानिकी फसलों के उत्कृष्ट बीजों व जैविक खेती करने की सलाह कृषकों को दी। संगोष्ठियों में नेपानगर एस.डी.एम. श्री सूरज नागर व तहसीलदार बुरहानपुर, खकनार एवं नेपानगर तथा जिले के समस्त विभागों से अधिकारीगण उपस्थित थे।
---------
क्रमांक/80/798/2014                                                        पवार/सचिन/कृषि/फोटो
समाचार
जिला स्तरीय तीन दिवसीय कृषि मेला आज से प्रारंभ
बुरहानपुर/17 अक्टूबर/ कृषि महोत्सव के अंतर्गत जिला स्तरीय तीन दिवसीय कृषि विज्ञान मेला स्थानीय रेणुका माता रोड कृषि उपज मण्डी बुरहानपुर आयोजित किया गया है। यह मेला 18 से 20 अक्टूबर तक संचालित रहेगा।
    उपसंचालक कृषि श्री एम.एस.देवके ने उक्त जानकारी दी। उन्होनें बताया कि जिला स्तरीय कृषि विज्ञान मेले में 18 अक्टूबर को राज्य के बाहर से आये वैज्ञानिक श्री प्रकाष सिंह रघुवंषी बनारस, डॉ. के.सिंह नई दिल्ली, यू.सी. दुबे भोपाल, बी.पी.गौरे अहमदनगर, संजय सैनी मुजफ्फरनगर द्वारा विभिन्न कृषि विषयों पर तकनीक अवगत कराई जाएगी। इस तकनीकि में किसानों को गेहूं, पपीता, अनार की उन्नत खेती, मधुमक्खी पालन, जैविक खेती एवं कृषि यंत्रीकरण पर व्याख्यान द्वारा जानकारी दी जावेगी।
---------
क्रमांक/81/799/2014                                    पवार/सचिन/कृषि
समाचार
स्वच्छ भारत अभियान अन्तर्गत घर-घर जाकर ग्रामीणों को दी जानकारी
बुरहानपुर/17 अक्टूबर/ जिले में बुरहानपुर एवं खकनार जनपद पंचायत में स्वच्छता रथ का भ्रमण निरन्तर जारी है। स्वच्छता रथ के माध्यम से बुरहानपुर जनपद पंचायत क्षेत्रान्तर्गत निम्बोला, झिरी, हसनपुरा तथा खकनार क्षेत्र में साईखेडाखुर्द, पलासुर आदि ग्रामों में ग्रामवासियों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया गया।
    इस दौरान उपस्थित मास्टर ट्रेनर्स द्वारा ग्रामीणों को खुलें में शौच बंद कर शौचालय निर्माण/उपयोग करने के लिए प्रेरित किया गया। उनके माध्यम से स्कुलों में रथ को रूकवाकर बच्चों को इकठठा कर उन्हे स्वच्छ एवं स्वस्थ्य रहने हेतु समझाईष दी गई। उक्त जानकारी श्री प्रवीण गुप्ता जिला समन्वयक स्वच्छ भारत मिषन जिला पंचायत बुरहानपुर के द्वारा दी गई। उन्होने बताया कि स्वच्छता दूत के माध्यम से ग्रामीणों से घर-घर जाकर उन्हे शौचालय बनाने एवं उसका उपयोग करने हेतु प्रेरित किया एवं ग्रामीणों की चौपाल बैठक लेकर उन्हे साफ-सफाई से अवगत कराया गया। इसके अतिरिक्त यह भी बताया गया कि स्वच्छता के सात घटक है जिन्हे अपनाकर मनुष्य स्वच्छ एवं स्वस्थ्य रह सकता है।
---------
क्रमांक/82/800/2014                              पवार/सचिन/ग्रा.वि./फोटो
समाचारजिले में दस औषधि विक्रय केन्द्रों का निरीक्षण
बुरहानपुर/17 अक्टूबर/ जिले में खाद्य एवं औषधि विभाग द्वारा दस विक्रय केन्द्रों का विधिवत रूप से निरीक्षण किया गया। जिसमें सभी दुकानों में रिकार्डो की जांच की गई। इसमें सभी रिकार्ड नियमित रूप से संधारित करना पाया गया है। कुछ मेडिकल दुकानों मालिकों को कोडीन एवं अल्फाजोलम युक्त दवाईयों के क्रय-विक्रय रिकार्ड कार्यालय में जमा करने हेतु निर्देशित किया गया है। इस दौरान नगर के शनि मंदिर चौराहा, ग्राम दापोरा, चापोरा, नाचनखेड़ा, बंभाड़ा एवं शाहपुर स्थित औषधि प्रतिष्ठानों का निरीक्षण किया गया। प्रतिष्ठानों के स्वामियों को औषधि एवं प्रसाधन सामग्री अधिनियम का पालन करने हेतु निर्देश दिए गए है।
---------
क्रमांक/83/801/2014                                                          पवार/सचिन/खा.औ.

No comments:

Post a Comment