Tuesday, 26 May 2015

JANSAMARK NEWS 23-5-15

जिला जनसंपर्क कार्यालय, बुरहानपुर म.प्र.
समाचार
कृषि अधोसंरचनात्मक विकास को गति दी जायें-श्री विजयवर्गीय
प्रभारी मंत्री द्वारा विभागीय समीक्षात्मक बैठक में कृषि महोत्सव कार्ययोजना का विमोचन 
बुरहानपुर/23 मई/राज्य शासन की मंशा है कि कृषि का उत्पादन बढ़ाने समग्र परिणाम मूलक कार्य होना चाहिए। इसमें उद्यानीकि, पशुपालन, मत्स्य पालन, पौधारोपण, रेशम, वानिकी, जल संरक्षण को प्रोत्साहित करना अतिआवश्यक है। कृषि महोत्सव में वे तमाम विभागों को भी सम्मिलित करें। जिससे कृषि अधोसंरचनात्मक विकास को गति दी जा सके। 
यह बात नगरीय प्रशासन एवं पर्यावरण तथा जिला प्रभारी मंत्री श्री कैलाश विजयवर्गीय ने जिला स्तरीय विभागीय समीक्षात्मक बैठक में कही। प्रभारी मंत्री ने बैठक की अध्यक्षता करते हुए कृषि महोत्सव 2015 कार्ययोजना का विमोचन भी किया। इस मौके पर पूर्व शिक्षामंत्री एवं स्थानीय विधायक श्रीमती अर्चना चिटनीस, नेपानगर विधायक श्री राजेन्द्र दादू, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती गायत्री पाटीदार, महापौर श्री अनिल भोंसले, नगर निगम अध्यक्ष श्री मनोज तारवाला, कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया, पुलिस अधीक्षक श्री अनिलसिंह कुशवाह, सीईओ जिला पंचायत श्री बसंत कुर्रे, जनपद अध्यक्ष श्री किशोर पाटील, अपर कलेक्टर श्री प्रकाश रेवाल, एडीशनल एस.पी. श्री बी.एस.बिरदे, नगर निगम आयुक्त श्री सुरेश रेवाल सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे। 
प्रभारी मंत्री ने कहा कि कृषि महोत्सव में अतिक्रमण, भूमि के पट्टे जिन कृषकों को नहीं मिले है। उन्हें भी कृषि विभाग की योजनाओं से लाभान्वित करना सुनिश्चित करें। पशुपालन कृषि आधारित व्यवसाय है। उन्होनें बुरहानपुर जिले में दुग्ध उत्पादन की कमी पर भी चिंता व्यक्त की। इस संबंध में कहा कि पशुपालन को हर हाल में बढ़ावा दिया जाये। किसानों को उन्नत नस्ल के दुधारू पशु नाबार्ड/रोजगार मूलक योजनाओं से सुलभ कराये जाये। कृषि क्रांति रथ कृषि वैज्ञानिक किसानों को समग्र तकनीकि अर्जित कराये। मुख्यमंत्री खेत तीर्थ योजना का समुचित लाभ कृषकों को मिलें। इस दौरान जिला/जनपद/ग्राम पंचायतों के प्रतिनिधि भी आगे आकर अपने ग्रामों के किसानों को लाभान्वित करायेगे। विधायक व जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में कृषि महोत्सव क्रियान्वयन की रूपरेखा नियत करने विशेष बैठक आयोजित करें। जिसमें कृषि आदानों की उन्नत तकनीक गुणवत्ता की जानकारी प्रत्येक ग्राम के किसानों को दी जाये। खरीफ व रबी फसलों के बीजोपचार कल्चर के बारे में भी विस्तृृत रूप से किसानों को समझाया जाये। 
विधायक श्रीमती चिटनीस ने कहा कि इस साल वर्षा की वैज्ञानिकों ने कमी आंकी है। इसलिये किसानों को कम समय सीमा और पानी की फसलों की उन्नत किस्में बतलाई जाये। जिससे उत्पादन भी अधिक हो और लागत में भी कमी रहे। इसलिये खेत-तालाब बनाने पर जोर दिया जाये। मेढ़ बंधान खमैर के पौधें रोपे जाये। यह पौधा एक वर्ष में 22 फीट बढ़ जाता है। इसकी छाया खेत पर नही पड़ती है। लकड़ी मजबूत रहने के कारण उपयोगी होती है। कृषि महोत्सव में उद्यानीकि और खाद्य प्रसंस्करण इकाईयों को भी तकनीकि सुविधाऐं प्रदान कर स्थापित कराये। योजनाओं के माध्यम से दुधारू पशुओं में उन्नत नस्ल की भैंस व गाय तथा बकरी पालन के प्रकरण बनाये जाये। कृषि संगोष्ठी के दौरान उक्त प्रकरणों में जरूरतमंदों को बैंक ऋण सुविधा दिलाये। जिससे पशुपालन से जैविक खेती को बढ़ावा मिलेगा। 
कलेक्टर ने बताया कि कृषि महोत्सव में कृषि क्रांति रथ के लिये भ्रमण की नियमित मॉनीटरिंग होगी। इस भ्रमण में प्रत्येक ग्राम से 20-20 मिट्टी के नमूने लिये जायेगें। जिन्हें मृदा परीक्षण के लिये प्रयोगशाला भेंजेगे। जिले में 10 चिन्हांकित ग्रामों में प्रत्येक कृषक को न्यूनतम एक एकड़ में जैविक खेती कराई जायेगी। जिला स्तरीय किसान मेला एवं विकासखण्ड संगोष्ठी आयोजित होगी। बलराम तालाब योजना में 20 कार्याे का शुभारंभ कृषकों द्वारा किया जायेगा। 2 नवीन कस्टम हाईरिंग केन्द्र प्रारंभ किये जा रहे है। किसानों को एकीकृत कीट प्रबंधन का प्रशिक्षण भी दिया जायेगा। इसमें कपास, मिर्च, मक्का, ज्वार, तुवर, सोयाबीन, अमरूद, केला, टमाटर, अनार, गन्ना आदि अन्य क्षेत्रों में किसानों को उत्पादन की तकनीकि सलाह दी जायेगी। मत्स्य पालन विभाग  द्वारा खेत तालाबों का चिन्हांकन कर मत्स्य पालन होगा। जिले समस्त मछुआ पालकों को आवास एवं क्रेडिट कार्ड का वितरण भी किया जायेगा। इसके अलावा जिले में रेशम का क्षेत्र विस्तार किया जाना है। इस हेतु वर्तमान में रेशम का क्षेत्र 1160 से बढ़ाकर 2000 एकड़ किया जा रहा है। सहकारिता विभाग द्वारा 2000 किसानों को क्रेडिट कार्ड का वितरण का लक्ष्य है। उर्जा विभाग नवीन पम्प कृषक अनुदान योजना के तहत आवेदन प्राप्त करेगे तथा खेतों में स्थाई पम्प कनेक्शन करेगें। स्कूल शिक्षा एवं आदिवासी विकास विभाग निबंध व चित्रकारी प्रतियोगिता का आयोजन करेगा। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग को रथ भ्रमण के पहुंचने पर जनभागीदारी से स्वच्छता कार्यक्रम पूर्ण कराना है। 
ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति 
प्रभारी मंत्री ने कहा कि जिले में जहां भी पेयजल संकट है। वहां तत्काल अधिकारी जाकर शुद्ध पेयजल आपूर्ति करें। हैण्डपंप जलस्तर कमी के कारण बंद हो गये है। उनमें पाईप बढ़ाकर उसे बहाल करें। नल जल योजना के विद्युत कनेक्शन के बिल पंच परमेश्वर योजना से चुकाये। जिन ग्रामों में जल स्त्रोतों से जलापूर्ति संभव नही हो रही है। वहां ग्राम पंचायतें टैंकर से परिवहन के माध्यम से ग्राम में मंजरे टोलो में पेयजल प्रदाय किया जाये। पीएचई विभाग ईई श्री लालजी तिवारी ने बताया कि नवीन पेयजल टंकियां व नलजल योजनाऐं पूर्ण हो गई है। श्री विजयवर्गीय ने कहा कि उन्हें शीघ्र प्रारंभ कराये। गर्मी निकली जा रही है। विलंब होने पर जिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ दण्डनीय कार्यवाही की जावेगी। जनपद अध्यक्ष श्री किशोर पाटील ने प्रभारी मंत्री को ग्रामीण क्षेत्रों की पेयजल समस्या से अवगत कराया था। ईई ने बताया कि 58 नई बसाहटों में काम शुरू करना है। जिस पर प्रभारी मंत्री ने कहा कि इन क्षेत्रों में शीघ्र ही पेयजल सुविधाऐं मिल जाना चाहिए। 
ताप्ती शुद्धीकरण हेतु आवंटन प्राप्त 
प्रभारी मंत्री ने बैठक में नगर की बहुआयामी ताप्ती शुद्धीकरण योजना की जानकारी ली। कलेक्टर ने बताया कि इस योजना के तहत शासन से आवंटन प्राप्त हो चुका है। शीघ्र ही कार्य कराये जायेगें। जलसंसाधन विभाग कार्यपालन यंत्री श्री बी.के.शर्मा ने बताया कि धूलकोट व धामनगांव क्षेत्र में तालाब में पर्याप्त पानी है। मत्स्य पालन व नहरे चालू हो गई है। भावसा मध्यम सिंचाई का कार्य चल रहा है। इस क्षेत्र में वन भूमि कटनी में 9.0 हैक्टेयर मिल गई है। उक्त कार्यवाही सीसीएफ जबलपुर से कराई जायेगी। इस अवसर पर उपसंचालक श्री एम.एस.देवके ने बताया कि कृषि महोत्सव कार्ययोजना प्रस्तुत की। उन्होनें बताया कि किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग द्वारा जिले में 25 मई से 15 जून तक कृषि महोत्सव मनाया जायेगा। इस दौरान कृषि क्रांतिरथ के माध्यम से कृषि जागरूकता संदेश व प्रत्यक्ष प्रायोगिक व मौखिक तौर से कास्तकारी की जानकारी किसानों को दी जायेगी। बैठक में महिला एवं बाल विकास, श्रम, शिक्षा, ग्रामीण विकास, स्वास्थ्य, शिक्षा पशुपालन आदि अन्य विभागों की समीक्षा की गई। 
-------
क्रमांक/54/463/2015                                                         पवार/सचिन/प्रशासन/फोटो 
समाचार
प्रभारी मंत्री के मुख्य आतिथ्य में प्रधानमंत्री सुरक्षा एवं जीवन ज्योति बीमा योजना का शुभारंभ
बुरहानपुर/23 मई/ नगरीय प्रशासन एवं पर्यावरण तथा जिला प्रभारी मंत्री श्री कैलाश विजयवर्गीय ने बतौर मुख्य अतिथि कलेक्टेªट कार्यालय में प्रधानमंत्री सुरक्षा एवं जीवन ज्योति बीमा योजना का शुभारंभ भी किया। 
इस मौके पर पूर्व शिक्षामंत्री एवं स्थानीय विधायक श्रीमती अर्चना चिटनीस, नेपानगर विधायक श्री राजेन्द्र दादू, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती गायत्री पाटीदार, महापौर श्री अनिल भोंसले, नगर निगम अध्यक्ष श्री मनोज तारवाला, कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया, पुलिस अधीक्षक श्री अनिलसिंह कुशवाह, सीईओ जिला पंचायत श्री बसंत कुर्रे, जनपद अध्यक्ष श्री किशोर पाटील, अपर कलेक्टर श्री प्रकाश रेवाल, एडीशनल एस.पी. श्री बी.एस.बिरदे, नगर निगम आयुक्त श्री सुरेश रेवाल सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।  
प्रभारी मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आमजन को सामाजिक सुरक्षा की बहुत बड़ी गारंटी दी है। आज बहुत कम प्रीमियम 12 रूपये में 2 लाख रूपये का बीमा आम आदमी का किया जा रहा है। भारत सरकार द्वारा लागू की गई प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा और प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना विश्व की सबसे बड़ी बीमा योजना है। इतनी राशि बीमा में किसी भी देश में नही दी जा रही है। देश में इस योजना से सामाजिक सुरक्षा का दायरा बढ़ गया है। 
प्रभारी मंत्री ने पुनः जिले के आमजन से अपील करते हुए कहा है कि प्रत्येक खाताधारक बीमा अवश्य कराये। तत्काल अपनी बैंक शाखा या बैंक मित्र/सूक्ष्म बीमा एजेन्ट से संपर्क करें। इस हेतु आयोजित कैम्पों में अवश्य जाये। वहां फार्म भरें जा रहे है। जिसकी प्रतिपूर्ति कर इस योजना का लाभ उठाये। 
शुभारंभ अवसर पर अग्रणी जिला बैंक प्रबंधक श्री किशोर कुमार तोलानी ने बताया कि प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत वार्षिक प्रीमियम सिर्फ 12 रूपये जमा करने पर 2 लाख रूपये का दुर्घटना बीमा हो जाता है। इस योजना में समस्त बचत बैंक खाताधारक जिनकी आयु 18 से 70 वर्ष है। वे योजना में पात्र होगें। इस बीमा दुर्घटना में स्थाई निःशक्ता भी शामिल की गई है। प्रीमियम की राशि खाताधारक के बचत खाते से बैंक द्वारा ऑटो डेबिट सुविधा के माध्यम से जमा की जा सकती है। कोई भी व्यक्ति एक बचत खाता द्वारा ही उक्त योजना के लिये पात्र होगा। यह बीमा अवधि वार्षिक 01 जून 2015 से लागू होकर 31 मई 2016 तक रहेगी। 
इसी प्रकार से प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना में वार्षिक प्रीमियम कुल 330 रूपये बैंक खाताधारक को जमा करना है। जिसमें 2 लाख रूपये का जीवन ज्योति बीमा कराया जा सकता है। इस हेतु बचत बैंक खाताधारक की आयु 18 से 50 वर्ष होना चाहिए। इसमें आपके बाद परिवार को भी बीमा राशि मिलेगी। अधिक जानकारी के लिये कृृपया टोल फ्री नंबर 1800110001/18001801111 पर संपर्क कर सकते है। 
-------
क्रमांक/55/464/2015                                                              पवार/सचिन/प्रशासन 

No comments:

Post a Comment