Thursday, 25 September 2014

JANSAMPARK NEWS 25-9-14

जिला जनसंपर्क कार्यालय, बुरहानपुर म.प्र.
समाचार
कलेक्ट्रेट में अधिकारियों-कर्मचारियों ने ली शपथ
बुरहानपुर/25 सितम्बर/ राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में ‘’लोक सेवा दिवस’’ के अवसर पर कलेक्टेªट में अधिकारियों-कर्मचारियों कोे शपथ ग्रहण कराई गई।
    अपर कलेक्टर श्री प्रकाश रेवाल ने शपथ का वाचन किया। जिसे अधिकारियों व कर्मचारियों ने दोहराया।
    इस मौके पर शपथ........मैं सत्यनिष्ठा से शपथ लेता/लेती हूँ कि मैं स्वर्णिम मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए सुशासन को अपने कार्यो में सर्वोच्च प्राथमिकता दूंगा/दंूगी। मैं शपथ लेता/लेती हूँ कि मैं लोक सेवा गारंटी अधिनियम के उद्देश्य एवं मंशा के अनुरूप अपने पदीय दायित्वों को निर्वहन पूरी निष्ठा एवं ईमानदारी से करूंगा/करूंगी। मैं यह भी शपथ लेता/लेती हूँ कि एक कर्तव्य परायण लोक सेवक के रूप में पदीय गरिमा अनुरूप व्यवहार करते हुए नागरिकों को लोक-सेवाएं समय सीमा में प्रदान करने का पूरा-पूरा प्रयास करूंगा/करूंगी।
    इस अवसर पर डिप्टी कलेक्टर श्री के.एल.यादव, जिला कोषालय अधिकारी श्री अरविन्द शर्मा, ई-गर्वेन्स प्रबंधक श्री आकाश जैन, अधीक्षक श्री उमेश तिवारी, इलेक्शन सुपरवाइजर श्री सुधीर अत्रे, जिला नाजिर श्री राजू तायडे़, स्थापना श्री एन.के.जांगडे़ सहित अन्य विभागों के अधिकारी-कर्मचारीगण उपस्थित थे।
-------
क्रमांक/100/692/2014                                                               पवार/सचिन/लो.से.गा./फोटो
समाचार
स्वच्छता अभियान के तहत शाला में हाथ धुलाई प्रशिक्षण संपन्न
बुरहानपुर/25 सितम्बर/ राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में पंडित दीनदयाल उपाध्याय जयंती से स्वच्छ मध्य प्रदेश अभियान का शुभारंभ किया गया है। आज शुभारंभ अवसर पर जिला पंचायत द्वारा मोहम्मदपुरा माध्यमिक शाला में स्वच्छता अभियान के तहत 58 छात्र-छात्राओं को हाथ धुलाई प्रशिक्षण संपन्न हुआ। इस अवसर पर स्वच्छता का संदेष भी विद्यार्थियों को दिया गया।
    प्रशिक्षण में जिला पंचायत मास्टर ट्रेनर्स (एन.बी.ए.) जितेन्द्र चोलकर द्वारा छात्र/छात्राओं को हाथ धुलाई के 5 चरणों की जानकारी दी गई। टेªनर्स ने हाथ न धोने से होने वाली बीमारियों (जैसे-हैजा, डायरिया, पीलिया) जैसे गंभीर रोगों के प्रति जागृत किया गया।
    इस मौके पर जिला पंचायत मास्टर ट्रेनर्स (एन.बी.ए.) शेख अनिस ने व्यक्तिगत शौचालय का महत्व  छात्र/छात्राओं को बताया। घरों में स्वच्छ शौचालय निर्माण/उपयोग करने हेतु प्रेरित किया। इस अवसर पर प्रधान अध्यापक श्रीमती अपर्णा अत्रे, षिक्षिका श्रीमती सारिका भावसार, श्रीमती पदमा अगनानी एवं ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक श्री सतिष महाजन, ग्राम स्वच्छता दूत सतीष सोनवणे आदि ग्रामीणजन बडी संख्या में उपस्थित थे।
-------
क्रमांक/101/693/2014                                                                     पवार/सचिन/जि.पं./फोटो
समाचार
कृषि महोत्सव संपूर्ण विकास की अवधारणा-श्रीमती चिटनीस
विधायक के आतिथ्य में विकासखण्ड स्तरीय कृषि क्रांति भ्रमण रथ रवाना
बुरहानपुर/25 सितम्बर/ किसान कृषि के साथ अन्य व्यवसायिक गतिविधियां भी अपनाएं। जिससें उनकी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ हो सकें। अब खेती के साथ पशुपालन, मुर्गी, मत्स्य पालन, फलदार पौधें लगाना, मधुमक्खी, रेशम पालन जैसी अन्य व्यवसायों को करना होगा। तभी कृषक प्राकृतिक आपदा से फसलों के नुकसान होने पर अपनी अर्थव्यवस्था संतुलित रख सकेेगें। वास्तव में प्रदेश सरकार द्वारा संचालित कृषि महोत्सव का उद््देश्य संपूर्ण विकास की अवधारणा है।
    यह बात पूर्व शिक्षा मंत्री एवं बुरहानपुर विधानसभा क्षेत्र विधायक श्रीमती अर्चना चिटनीस ने कही। इस मौके पर श्रीमती चिटनीस ने बतौर मुख्य अतिथि विकासखण्ड स्तरीय कृषि क्रांति भ्रमण रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस शुभारंभ अवसर पर कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया ने अध्यक्षता की।
    मुख्य अतिथि ने कहा कि वर्तमान में इन्टीग्रेटेड फार्मिंग से किसान निश्चित रूप से समृद्ध होगें। सरकार की मंशा है कि कृषि को लाभ का धंधा बनाना है। कृषि महोत्सव में कास्तकारी से जुडे़ सभी विभाग द्वारा किसानांें को जानकारी दी जा रही है। जिसमें बकरी व गाय पालन अतिआवश्यक है। चूकि यह कृषि भूमि की उर्वरा शक्ति को बढ़ाने में सहायक है। साथ ही बुरहानपुर जिला जो कि दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में पिछड़ा है। यहां दुग्ध क्रांति पशुपालन पर ही निर्भर है। इस व्यवसाय से पशुपालकों को आमदनी का जरिया बढ़ेगा। कृषि के लिए गौबर खाद, जैविक खाद मिलेगा। इससे उत्पादित खाद्यान्न व फल के सेवन से लोग स्वस्थ रहेगें। छोटे किसानों को मुर्गीपालन, तालाब में मछलीपालन से भी लाभ होगा। रासायनिक खाद के उपयोग से जहां कृषि भूमि बंजर हो गई है। अमेरिका जैसे देशों में बंजर भूमि कृषि के लिए प्रतिबंधित कर दी जाती है। लेकिन तकनीकि के अभाव में हमारे कृषक वर्षोबरस पीढ़ियों से एक ही जमीन पर खेती करते है। जिससे कभी-कभी उत्पादन की लागत में निकलना मुश्किल हो जाती है। आई.सी.आर. कृषि वैज्ञानिक ने 72 इन्टीग्रेटेड फार्मिंग के क्षेत्र में व्यवसाय चिन्हित किए है। जो कृषि पर आधारित किसानों को समृद्ध बनाने में कारगर रूप से सिद्ध होगें। भारत में खेती की परम्परागत विधि को अपनाना होगा। आज जैविक खेती को अपनाने की जरूरत है। विदेशों में जैविक उत्पादित खाद्यान्न की मांग बढ़ी है। जिससे किसानों को उत्पादन का अच्छा खासा मूल्य मिल रहा है।    
    कलेक्टर श्रीमती सिंथिया ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कृषि महोत्सव का मूल उद्देश्य कृषि को लाभ का धंधा बनाना है। छोटे किसानों के पास जमीन कम भी है तो वह विभिन्न व्यवसायों से अपनी आमदनी बढ़ा सकते है। कृषि के साथ जैसें मुर्गीपालन, पशुपालन, मछली पालन, सब्जी, फल-फूल उत्पादित करें। जैविक खेती को महत्व दिया जाए। वर्तमान में जैविक खाद्यान्न का निर्यात किया जा रहा है। जैविक खेती से उत्पादित वस्तुओं पर टेªडमार्क लगा होता है। कृषि क्रांति रथ भ्रमण के दौरान कृषि वैज्ञानिक किसानों को जैविक खेती की तकनीक देगें। इसके अलावा पशुपालन विभाग, मत्स्य पालन, उद्यानिकी, कृषि सहित अन्य विभाग भी किसानों को जानकारी देगें। कृषि यंत्रों के बारे में भी किसानों को अवगत कराया जायेगा। जिससे उन्हें श्रम पर व्यय करने से बचत होगी। जलसंवर्धन कार्यो के लिए भी किसान को आगाह किया जाएगा। इसके साथ ही कम पानी फसल उत्पादन की तकनीक उपलब्ध कराई जाएगी। यह रथ 25 सितम्बर से 20 अक्टूबर तक सभी ग्रामों में पहुंचेगा। प्र्रतिदिन 3 ग्राम में कृषि संबंधी संगोष्ठी में कृषकों को कृषि और अन्य व्यवसाय के बारे में जागरूक किया जाएगा। इस दरम्यान शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं और सुविधाओं के लाभ लेने के बारे में भी समझाया जाएगा।
    आईसीआर के कृषि वैज्ञानिक डॉ. अनुपम मिश्रा ने भी रथ शुभारंभ अवसर पर संबोधित किया। उन्होनें बताया कि मध्य प्रदेश कृषि के क्षेत्र में गति से अग्रसर है। यहां 60 प्रतिशत लोग कृषि पर निर्भर होकर आर्थिक आमदनी अर्जित करते है। इसमें हमारे पेड़-पौधें व जीवजन्तु भी कृषि से जुडे़ हैं। जिससे 25.99 प्रतिशत ग्रोथ है। बुरहानपुर जिला छोटा है। किन्तु यहा हजारो हैक्टेयर में कपास, केला की नगद फसलें उत्पादित होती है। अब कम पानी में अधिक उत्पादन लेेने वाली फसले आ गई है। किसानों को जल संवर्धन के लिए भी प्रेरित किया जाए। प्रदेश में नहरों में पानी छोड़ना, विद्युत आपूर्ति आदि अन्य के संबंध में समन्वित तरीके से कार्य करने पर उत्पादन बढ़ेगा। कृषि विभाग रथ की 25 दिवसीय कार्ययोजना में तमाम तकनीकी किसानों को उपलब्ध करायेगा। तकनीकी का लाभ पाने से किसान निश्चित रूप से कामयाब होगें। कृषि विज्ञान केन्द्र वैज्ञानिक डॉ.अजीतसिंह ने किसानों को नये बीजों व कम पानी में बोऐ जाने वाली वैरायटियां की जानकारी दी। उन्होनें बुरहानपुर जिले की जलवायु पर आधारित फसलों का उत्पादन करने की जानकारी दी। मिट््टी परीक्षण तकनीक तथा केचुआं खाद उपयोग करने से कास्तकारी में उत्पादन बढ़ोतरी करने की विधि भी बतलाई।
    कृषि क्रांति रथ का ब्यौरा उपसंचालक कृृषि श्री मनोहर सिंह देवके ने प्रस्तुत किया। उन्होनें बताया कि वैज्ञानिकों द्वारा फसलों के किस्में बाजार में आ गई है। किंतु किसान अभी तक सन् 1977 के फसल बीजों से फसल उत्पादन कर रहा है। रथ के माध्यम से किसान को नये-नये बीजों की वैरायटियों की जानकारी प्रमुखता से दी जाएगी। इस अवसर पर सीईओ जिला पंचायत श्री सुरेश्वरसिंह, श्री मुकेश शाह, श्री किशोर पाटील सहित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण तथा कृषकगण व पत्रकार बंधु उपस्थित रहे।
    अंत में कार्यक्रम का आभार प्रदर्शन उपसंचालक आत्मा श्री राजेश चतुर्वेदी ने किया। कार्यक्रम का संचालन ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी श्री दिलीप इंगले ने किया।
-------
क्रमांक/102/694/2014                                                                 पवार/सचिन/कृषि/फोटो
समाचार
बहादरपुर में खण्ड स्तरीय कृषि क्रांति रथ द्वारा कृषक संगोष्ठी संपन्न 
बुरहानपुर/25 सितम्बर/ राज्य शासन किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के निर्देशानुसार 25 सितम्बर से विकासखण्ड स्तरीय कृषि क्रांति रथ ग्रामो में पहुंचने लगे है। जिसमें आज प्रथम दिवस व ग्राम बहादरपुर में बुरहानपुर विकासखण्ड स्तरीय रथ पहुंचा। इस दौरान कृषक संगोष्ठी का आयोजन हुआ। जिसमें किसानों में विभिन्न विभागों द्वारा जानकारी उपलब्ध कराई गई। इस दरम्यान संगोष्ठी में शासन की कृषि मूलक योजनाओं व तकनीकि तथा सुविधाओं के बारे में कृषकों को जागरूक किया गया।
    रथ प्रभारी एडीईओ श्री जुम्मा तड़वी ने बताया कि संगोष्ठी में हितग्राहीमूलक योजनाओं व गतिविधियांें की जानकारी भी किसानों को दी गई। इसमें जैसे - नए बीज की वैरायटियां, मिनी किट वितरण, कृषि यंत्र वितरण, मिट्टी परीक्षण नमूना संग्रह, बलराम तालाब का शुभारंभ, कस्टम हायरिंग केन्द्र का शुभारंभ, पशु उपचार, स्वीकृति पत्र, मछुआ आवास ग्रह प्रवेश, फलदार पौधों का वितरण, किसान क्रेडिट कार्ड वितरण आदि शामिल है। इस अवसर पर उक्त योजनाओं का साहित्य वितरण भी किया गया।    
    कृषक संगोष्ठी में एसडीओ कृषि व नोडल अधिकारी श्री आर.एस.निगवाल, विषय वस्तु विशेषज्ञ डॉ.जगन्नाथ पाठक, डॉ.नीलेश बारी, उद्यान अधीक्षक श्री जी.एन.पांडे, पटवारी कसरतसिंह रंधा, पशु चिकित्सा ए.व्ही.एफ.ओ. श्री दिनेश कुमार सोलंकी तथा दुर्गाशंकर सोलंकी, एडीओ श्री प्रदीप श्रीमाली आदि अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।
-------
क्रमांक/103/695/2014                                                                        पवार/सचिन/कृषि/फोटो
समाचार
त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन हेतु इवीएम प्रशिक्षण आयोजित
बुरहानपुर/25 सितम्बर/ राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जिले में आगामी त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन हेतु मतदाताओं को इवीएम प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। यह प्रशिक्षण आज गुरूवार को ग्राम बहादरपुर, लोनी व बिरोदा में आयोजित किया गया। जिसमें ग्रामीण मतदाताओं को मतदान के लिए इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन की तकनीकि समझाई गई।
    पुरूषार्थी स्कूल प्राचार्य श्री प्राणवीर सिसोदिया ने ग्रामीणों को इवीएम से मतदान करने की विधा को विस्तृत रूप से समझाई। इस दौरान बड़ी संख्या में ग्रामीण महिला-पुरूषों ने इवीएम से वोटिंग करने की जानकारी प्रायोगिक रूप से प्राप्त की।
-------
क्रमांक/104/696/2014                                                                 पवार/सचिन/निर्वाचन/फोटो
समाचार
अवैध गौण खनिज परिवहन करने पर दो मामलों में 31़ हजार रूपये का अर्थदण्ड
बुरहानपुर/25 सितम्बर/ कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी न्यायालय द्वारा जिले में 2 अवैध गौण खनिज दो मामलों में अनावेदकों पर कुल 31 हजार रूपये का अर्थदण्ड किया गया है।
    जिला दण्डाधिकारी श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया ने अनावेदक वाहन चालक मिथुन पिता रतिराम इंगले को 18 हजार रूपये जुर्माने से दण्डित किया है। न्यायालय ने यह निर्णय मध्य प्रदेश गौण खनिज अधिनियम के तहत पारित किया है। उल्लेखनीय है कि आरोपी द्वारा अवैध रूप से तीन घनमीटर गिट्टी गौण खनिज की बिना रायल्टी चुकाये परिवहन किया जा रहा था। खनिज अधिकारी ने उक्त गौण खनिज से भरे टैªक्टर-ट्रॉली क्रमांक एम.पी.12-डी-1729 का निरीक्षण किया। जिसमें वाहन चालक के पास अभिवहन स्वीकृति पत्र नही था। इस आरोप के प्रति वाहन चालक पर गौण खनिज अधिनियम के तहत खनिज अधिकारी के प्रतिवेदन व प्रकरण के आधार पर जुर्माना किया गया है। ज्ञातव्य होवे कि जिला खनिज अधिकारी को निरीक्षण में वाहन चालक ने बताया कि वाहन मालिक इस्तेहार के कहने पर डोंगरगांव से बुरहानपुर गिट्टी भरकर ला रहा था। अनावेदक द्वारा जुर्माना भरने के पश्चात ही वाहन शिकारपुरा थाने की निगरानी से मुक्त होगा।  
    इसी प्रकार से जिला दण्डाधिकारी न्यायालय द्वारा सारोला घाट से अवैध गौण खनिज 3 घनमीटर रेत परिवहित करते हुए टैªक्टर-ट्रॉली क्रमांक एम.पी.-68 ए.-0213 जांच में खनिज की रायल्टी चुकाये बिना पकड़ा गया। इस कृत्य पर गौण खनिज अधिनियम के तहत अनावेदक वाहन सुल्तान सलीम पर 13 हजार रूपये का अर्थदण्ड आरोपित किया गया है। उल्लेखनीय है कि जिला खनिज अधिकारी को निरीक्षण में वाहन चालक ने अवगत कराया कि वाहन स्वामी सईद के कहने पर रेत भरकर लाया था। इस प्रकरण में टैªक्टर-ट्रॉली जप्त किया गया था। अनावेदक द्वारा जुर्माना जमा करने पर ही उक्त वाहन थाने की निगरानी से मुक्त किया जाएगा।
-------
क्रमांक/105/697/2014                                                                            पवार/सचिन/ राजस्व
समाचार
केरोसीन की कालाबाजारी में लिप्त तुलावटी और प्रबंधक पर 3 हजार से अधिक जुर्माना
बुरहानपुर/25 सितम्बर/ कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी न्यायालय द्वारा जिले में सार्वजनिक वितरण प्रणाली नीले केरोसिन की कालाबाजारी करने पर मां भगवती उपभोक्ता भंडार रास्तीपुरा बुरहानपुर के तुलावटी श्री विशाल चूड़ामन सिरतुरे और प्रबंधक श्री अमर मंगतानी पर 3 हजार 180 रूपये का जुर्माना आरोपित किया है। जिला दण्डाधिकारी द्वारा अनावेदक प्रबंधक को चेतावनी दी गई है, कि भविष्य में केरोसीन की अफरा-तफरी करते पाया जाता है तो लायसेंस निरस्त कर दिया जाएगा।
    जिला दण्डाधिकारी श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया ने यह निर्णय मध्य प्रदेश केरोसीन व्यापार अनुज्ञापन आदेश (उपयोग पर निर्बंधन तथा अधिकतम कीमत नियतन) के उल्लघंन पर अनावेदकों के विरूद्ध पारित किया है। जिला दण्डाधिकारी को कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी द्वारा प्रस्तुत प्रतिवेदन के आधार पर अनावेदको के इस कृत्य पर दण्डित किया गया है। आपूर्ति विभाग द्वारा अनावेदकों को कारण बताओं सूचना पत्र भी जारी किया है।
    उल्लेखनीय है कि जिला आपूर्ति अधिकारी ने बताया कि 8 जून 2014 को पार्षद पांडूरंग जाधव द्वारा दूरभाष पर सूचना दी गई कि मां भगवती उपभोक्ता भंडार रास्तीपुरा में केरोसीन की कालाबाजारी हो रही है। जिसके आधार पर विभाग द्वारा निरीक्षण किया गया। प्रकरण दर्ज कर केरोसीन जप्त किया।
-------
क्रमांक/106/698/2014                                                                                 पवार/सचिन/राजस्व
समाचार
विशाल किसान सम्मेलन आज
बुरहानपुर/25 सितम्बर/ जिला मुख्यालय पर विशाल किसान सम्मेलन आज 26 सितम्बर को प्रातः 10 बजे से आयोजित किया गया है। यह सम्मेलन जनप्रतिनिधियों के आतिथ्य में रेणुका कृषि उपज मण्डी प्रागंण स्थित भव्यता से सम्पन्न होगा।    
    इस मौके पर सर्व कृषकों एवं कृषि और उद्यानिकी व्यवसाय तथा अधोसंरचना से जुड़ी संस्था प्रतिष्ठान, संगठन, समुदाय आदि से संबंधित सभी आमजन नागरिकों से भाग लेने अपील की गई है।
    कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया ने उक्त अपील करते हुए सम्मेलन की रूपरेखा नियत की है। उन्होनें आयोजक किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग को उक्त कार्यक्रम की तैयारियां निर्धारित आकार के तहत करने हेतु निर्देश दिए है। उन्होनें कहा कि इस कार्यक्रम में कृषको की जरूरतों को पूरा करने वाले अधोसंरचनात्मक घटकों को विशेष रूप से आमंत्रित किया जाए। इसके साथ ही समस्त शासकीय विभाग भी कृषि महोत्सव में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें। जिसमें विभागीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी किसानों तक प्राथमिकता से पहुंचे। किसान रथ भ्रमण में किसानों को उन्नत फसल उत्पादन कृषि व उद्यानिकी तकनीक अवगत कराई जाए।
    कृषि महोत्सव रथ भ्रमण के दरम्यान कृषकों को कृषि, उद्यानिकी, पशु, मत्स्य पालन, स्वास्थ्य, वन, विद्युत, उद्योग, श्रम, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, सहकारिता, बैंक, नाबार्ड, राजस्व, सामाजिक न्याय, महिला एवं बाल विकास, विपणन, कृषि उपज मंडी, बीज निगम, पीएचई, जलसंसाधन, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, दुग्ध संघ, आदिम जाति कल्याण, शिक्षा, पंचायत, वाणिज्य, रोजगार, आरसेटी, परिवहन, पर्यावरण, खाद्य नागरिक आपूर्ति, खादी ग्रामोद्योग, जन अभियान परिषद्, लोक सेवा गारंटी, रेशम आदि अन्य विभागों द्वारा विभागीय जानकारी ग्रामीण अंचलों में दी जाएगी।
मुख्यमंत्री बीज कान्फ्रेस का टीवी प्रसारण
    मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान राज्य स्तरीय कृषि अभियान की महोत्सव में आज 26 सितम्बर को बीज कान्फ्रेन्स में किसानों को संबोधित करेगें। मुख्यमंत्री प्रातः 11 बजे लाल परेड ग्राउण्ड भोपाल में आयोजित ‘‘हलधर एक्सपो‘‘ कृषि मेले का शुभारंभ करेगें।
    उक्त कार्यक्रम का सीधा टी.वी.प्रसारण आज पूर्वान्ह 11 बजे से 1.30 बजे तक किया जाएगा। कृषि महोत्सव बुरहानपुर में विशाल किसान सम्मेलन में उक्त प्रसारण प्रदर्शन की संपूर्ण व्यवस्था की गई है।
    कृषि उपसंचालक श्री मनोहर देवके ने उक्त जानकारी दी। उन्होनें बताया कि इस सम्मेलन में किसानों को कपास, केला, मधुमक्खी व रेशम पालन सहित विविध रबी व खरीफ तथा उद्यानिकी फसलों के उत्पादन की तकनीकि जानकारी विशेषज्ञों द्वारा दी जावेगी। इस सम्मेलन में उडीसा के जोनल कॉडिनेटर कृषि वैज्ञानिक डॉ.अनुपम मिश्रा कृषकों को उन्नत तकनीकि प्रशिक्षण देगें।  साथ ही अन्य कृषिमूलक कार्यो के लिए भी अन्य विशेषज्ञ द्वारा किसानों को जानकारी दी जाएगी।
-------
क्रमांक/107/699/2014                                                                              पवार/सचिन/कृषि

No comments:

Post a Comment