Saturday, 28 May 2016

JANSAMPARK NEWS 27-5-16

वैष्णोदेवी तीर्थदर्शन यात्रा हेतु आज रवाना होंगे जिले के वरिष्ठ नागरिक 

बुरहानपुर | 27-मई-2016
मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना के तहत जिले के वरिष्ठ नागरिक 28 मई को वैष्णोदेवी तीर्थ यात्रा के लिए प्रातः 8.30 बजे बुरहानपुर रेल्वे स्टेशन से रवाना होंगे। वैष्णोदेवी यात्रा 28 मई से 2 जून तक रहेगी। योजनान्तर्गत जिले से 122 चयनित हितग्राही, 3 अनुरक्षक एवं 5 सुरक्षा बल एवं चिकित्सक साथ जायेंगे। इस तीर्थ यात्रा में शामिल होने वाले वरिष्ठ नागरिकों को बुरहानपुर रेल्वे स्टेशन पर 28 मई को प्रातः 8 बजे उपस्थित होने का अनुरोध किया गया हैं। 

उच्च शिक्षा विभाग द्वारा नये शिक्षा सत्र का अकादमिक केलेंडर जारी 

बुरहानपुर | 27-मई-2016
उच्च शिक्षा विभाग द्वारा सत्र 2016-17 के लिए अकादमिक केलेण्डर जारी कर दिया गया है। आरंभिक कक्षाएँ प्रथम, तृतीय एवं पंचम सेमेस्टर के लिए एक से 13 जुलाई और द्वितीय चतुर्थ और छठे एक सेमेस्टर के लिए 2 जनवरी 2017 को लगेंगी। प्रथम तृतीय एवं पंचम सेमेस्टर के लिए 144 और द्वितीय, चतुर्थ और छठे सेमेस्टर के लिए 143 कार्य दिवस निर्धारित किए गए हैं।
   प्रथम, तृतीय एवं पंचम सेमेस्टर के लिए शैक्षणिक एवं सतत समग्र मूल्यांकन 14 जुलाई से 7 नवम्बर तक, सी.सी.ई. कार्य सितम्बर के चौथे सप्ताह में, परीक्षा पूर्व तैयारी अवकाश 8 से 14 नवम्बर, प्रायोगिक परीक्षाएँ 15 अक्टूबर से 7 नवम्बर तक, सेमेस्टर एवं एटीकेटी परीक्षाएँ 15 नवम्बर से 21 दिसम्बर, परीक्षा परिणाम की घोषणा 31 दिसम्बर 2016 तक, विद्यार्थियों के लिए सेमेस्टर ब्रेक 22 से 31 दिसम्बर तक, छात्र संघ गठन अगस्त-सितम्बर, खेलकूद और युवा उत्सव गतिविधियाँ अक्टूबर में और वार्षिकोत्सव तथा पुरस्कार वितरण फरवरी अंतिम सप्ताह या मार्च प्रथम सप्ताह में किया जायेगा।
   द्वितीय, चतुर्थ एवं छठे सेमेस्टर के लिए शैक्षणिक एवं सतत समग्र मूल्यांकन 3 जनवरी से 25 अप्रैल 2017, सी.सी.ई. मार्च द्वितीय सप्ताह, परीक्षा पूर्व तैयारी अवकाश 26 से 27 अप्रैल, प्रायोगिक परीक्षाएँ 25 मार्च से 25 अप्रैल के बीच, सेमेस्टर एवं एटीकेटी परीक्षा 28 अप्रैल से 26 मई तक, परीक्षा परिणामों की घोषणा 15 जून 2017 और सेमेस्टर ब्रेक 27 मई से 30 जून 2017 तक रहेगा। सेमेस्टर ब्रेक में एन.एस.एस. एवं एन.सी.सी. शिविर लगाने के निर्देश भी दिए गए हैं।
वन्यप्राणी द्वारा जनहानि राशि 1.50 लाख से बढ़कर 4 लाख हुई 

बुरहानपुर | 27-मई-2016
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की घोषणा के अनुरूप राज्य शासन ने वन्य-जीव से होने वाली क्षतिपूर्ति की राशि डेढ़ लाख से बढ़ाकर 4 लाख रुपये कर दी है। वन्य-प्राणी द्वारा जन-पशु हानि और जन-पशु घायल पर दी जाने वाली राशि फरवरी, 2016 से पुनरीक्षित की गयी है। इसके पूर्व वन्य-प्राणियों द्वारा जन-हानि होने पर डेढ़ लाख तथा इलाज पर हुआ व्यय, स्थायी रूप से अपंग होने पर एक लाख रुपये और इलाज का व्यय, जन घायल होने पर 30 हजार रुपये देने का प्रावधान था।
    अब वन्य-प्राणी के हमले से मारे गये व्यक्ति के वैधानिक उत्तराधिकारी को 4 लाख रुपये दिये जायेंगे। व्यक्ति की मृत्यु यदि घायल किये जाने के बाद इलाज के दौरान हुई हो, तो इलाज पर हुआ वास्तविक व्यय मिलेगा। हमले से स्थायी अपंगता होने पर 2 लाख रुपये और इलाज पर हुआ वास्तविक व्यय तथा अस्पताल में भर्ती होने की अवस्था में अतिरिक्त रूप से 500 रुपये प्रतिदिन (अधिकतम सीमा 50 हजार रुपये) दिया जायेगा। इसी तरह वन्य-प्राणी द्वारा घायल व्यक्ति को इलाज पर हुआ वास्तविक व्यय और अस्पताल में भर्ती होने पर 500 रुपये प्रतिदिन देय होगा।
    वन्य-प्राणी द्वारा पशु-हानि पर राजस्व पुस्तक परिपत्र के प्रावधानों के अनुसार क्षतिपूर्ति राशि दी जायेगी। पशु घायल होने पर राजस्व पुस्तक परिपत्र के अनुसार पशु-हानि के लिये देय मुआवजा राशि की 50 प्रतिशत राशि तक क्षतिपूर्ति राशि दी जा सकेगी। उल्लेखनीय है कि वन्य-प्राणियों से व्यक्ति के घायल होने अथवा उसकी मृत्यु होने, पशु-हानि, पशु-घायल के लिये मध्यप्रदेश लोक-सेवाओं के प्रदान की गारंटी अधिनियम-2010 में क्षतिपूर्ति भुगतान की व्यवस्था है।
सुपर-100 कार्यक्रम के लिये विद्यार्थियों के चयन और प्रवेश के लिये निर्देश जारी 

बुरहानपुर | 27-मई-2016
राज्य शासन ने शैक्षिक सत्र 2016-17 में सुपर-100 कार्यक्रम के क्रियान्वयन के संबंध में जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी किये हैं। योजना में प्रत्येक जिले में शासकीय विद्यालय के कक्षा 10वीं के परीक्षा परिणाम में मेरिट के आधार पर चयनित गणित, जीव विज्ञान और वाणिज्य संकाय के 2-2 विद्यार्थी (कुल 6) को इंदौर के शासकीय मल्हार आश्रम उच्चर माध्यमिक विद्यालय में प्रवेश दिलवाया जायेगा। चयनित विद्यार्थियों के आवास, भोजन, शिक्षण एवं प्रशिक्षण की व्यवस्था राज्य शासन सुनिश्चित करेगा। कक्षा 11वीं एवं 12वीं के शिक्षण के साथ ही उन्हें इंजीनियरिंग, मेडिकल एवं चार्टर्ड एकाउंटेंट कोर्स में प्रवेश के लिये 2 वर्षीय विशेष प्रशिक्षण दिलवाया जायेगा। इसमें केवल उन विद्यार्थियों को शामिल किया जायेगा, जिन्होंने शासकीय विद्यालय में अध्ययनरत रहकर माध्यमिक शिक्षा मण्डल की कक्षा 10वीं परीक्षा नियमित परीक्षार्थी के रूप में उत्तीर्ण की है। मेरिट आधार पर यदि कोई विद्यार्थी मल्हार आश्रम उ.मा.वि. में प्रवेश लेना नहीं चाहता, तो उसके एवं अभिभावक से लिखित असहमति प्राप्त कर उसे अभिलेख में रखवाने को कहा गया है। ऐसी स्थिति में प्रवेश के अनिच्छुक विद्यार्थी से कम अंक वाले का चयन करने को कहा गया है। जिला-स्तर पर विद्यार्थियों के चयन में पारदर्शिता बनाये रखने के लिये समिति के गठन का सुझाव भी दिया गया है।
विद्यार्थियों का चयन
    नौ विद्यार्थी की प्रतीक्षा-सूची भी बनवाने को कहा गया है, ताकि चयनित विद्यार्थियों में से किसी के अपरिहार्य कारण से इंदौर नहीं जाने पर प्रतीक्षा-सूची के विद्यार्थी को अवसर मिल सके। प्रतीक्षा-सूची में प्रत्येक संकाय के 3-3 विद्यार्थी का चयन करने को कहा गया है। विद्यार्थियों की चयन/प्रतीक्षा-सूची 10 जून तक अनिवार्य रूप से तैयार करवाने के निर्देश दिये गये हैं। सूची 20 जून तक मल्हार आश्रम विद्यालय के प्राचार्य को भेजने को कहा गया है। जिले से विद्यार्थी को डीईओ से प्रति-हस्ताक्षरित स्थानांतरण प्रमाण-पत्र, दसवीं की मूल अंक-सूची, जाति, निवास, आय, चरित्र प्रमाण-पत्र, आधार-कार्ड, समग्र आई.डी. नम्बर, गरीबी रेखा के संबंध में जीवन-यापन संबंधी प्रमाण-पत्र प्राचार्य को प्रस्तुत करना होगा। चयनित विद्यार्थी को एक जुलाई को कक्षा में प्रवेश एवं विशेष प्रशिक्षण के लिये विद्यालय में उपस्थित होना होगा।

No comments:

Post a Comment