Friday, 26 February 2016

JANSAMPARK NEWS 20-2-16

जिला जनसंपर्क कार्यालय, बुरहानपुर (म.प्र.)
समाचार
प्रोजेक्टर के माध्यम से स्कूली विद्यार्थियों ने जाने मौसमी बीमारियों के लक्षण एवं उपाय 
बीएसडब्ल्यू के छात्र ने स्कूली विद्यार्थियों को दिये बीमारियों की रोकथाम हेतु आयुर्वेदिक टीप्स
बुरहानपुर-( 20 फरवरी 2016 ) - मध्य प्रदेश जन अभियान परिषद द्वारा संचालित मुख्यमंत्री सामुदायिक नेतृत्व क्षमता विकास पाठ्यक्रम के अंतर्गत विकासखण्ड समन्वयक श्री महेश कुमार खराडे़ के निर्देशानुसार बीएसडब्ल्यू के छात्र राजू माझी को प्रदत्त ग्राम प्रयोगशाला हतनूर में आज स्कूली छात्र/छात्राओं को ग्रामीणों में फैलने वाली बीमारियां के बारे में प्रोजेक्टर द्वारा चित्रों के माध्यम से जानकारी दी गई। जिसमें बीमारियों के लक्षण एवं उनके नियंत्रण के उपाय भी बताये गये। 
श्री माझी ने बताया कि हमारे घर के आसपास जो पानी गढ्ढो एवं नालियों में एकत्रित होता है। उसमें मच्छर पैदा होते है वह मच्छर जलस्त्रोतो जैसे कुआं, तालाब, हैण्डपम्प, नदी आदि को भी प्रदूषित करते है। जिससे हमारे शरीर में कई प्रकार की बीमारियां फैलती है जो कभी-कभी जानलेखा साबित होती है। जैसें मलेरिया, डायरी, उल्टी दस्त, हैजा, पीलिया, पेचिस, डेंगू, फूड पायीजिनिंग, टाईफाइट्स, टीबी, त्वचा रोग, खुजली आदि बीमारियों होने की संभावना होती है। 
स्कूली विद्यार्थियों को बतायें बीमारियों की रोकथाम के उपाय 
उन्होनें बताया कि अधिकतर बीमारियां गंदे पानी पीने, गंदे पानी से नहाने एवं दूषित भोजन खाने से तथा खुले में शौच करने से होती है। इन सभी से बचाव हेतु हमें सर्वप्रथम खुले में शौच बंद करना होगा। क्योंकि जब हम खुले में शौच करते हैं, तो बारिश के मौसम में वह मल पानी के साथ बहता हुआ हमारे पेयजल स्त्रोतों को दूषित करता है। इसी प्रकार मल गर्मी के दिनों में सूखने के बाद मिटट्ी में मिलकर धुल के माध्यम से हमारे घर, भोजन एवं यहा तक की श्वास के जरिये हमारे शरीर में पहुंचता है। जिससे हम बीमार होकर कई गंभीर बीमारियों की चपेट में आ जाते है। इसलिये हम खुले में शौच बंद करें। अपने परिवार, पडोसियों, मित्रों एवं ग्रामीणों को खुले में शौच करने से होने वाली बीमारियों के बारे में जागरूक करें जिससे वे खुले में शौच करना बंद करें। शौच के बाद साबुन से हाथ अवश्य धोये, भोजन करने से पूर्व एवं बाद में अच्छे से हाथ धोये, पानी को उबालकर पीये, स्वच्छ भोजन करें आदि के बारे में समझाईश दी। उन्होनें कब्ज, पेट दर्द, अतिसार, सर्दी जुखाम, खांसी, खुजली व दाद जैसी बीमारियों के उपचार हेतु घर में उपलब्ध औषधियों पौधों एवं मसालों के माध्यम से डॉक्टर ना मिलने की स्थिति में स्वयं प्राथमिक उपचार कर बीमारियों की रोकथाम करने के टीप्स भी बच्चों को बतायें। इस अवसर पर माध्यमिक शाला के प्रभारी प्रधानपाठक अनिता भोजने, शिक्षक आशीष वाणी, शिल्पा शेवाडे़ तथा प्राथमिक शाला के प्रभारी प्रधानपाठक चुन्नीलाल उपाध्याय, कैलाश कोटवे एवं सुरेखा सरोदे सहित बड़ी संख्या में विद्यार्थी मौजूद रहे।  


क्रमांकः 69/169/सचिन/ज.अ.प./फोटो 
समाचार
कलेक्टर ने दो प्रकरणों में 25-25 हजार रूपये किये स्वीकृत
बुरहानपुर - ( 20 फरवरी 2016 ) - जिले में ताप्ती पुल पर अज्ञात वाहन से दुर्घटना में रास्तीपुरा निवासी योगेश महाजन की मृत्यु हो गयी थी। 
       क्लेम सेटलमेंट कमिश्नर एवं जिला दण्डाधिकारी श्रीमती जे.पी.आईरीन सिंथिया ने इस वाहन दुर्घटना प्रकरण में सोलेशियम फण्ड योजनान्तर्गत 25 हजार रूपयें की आर्थिक सहायता स्वीकृत की है। यह सहायता राशि मृतक के निकटतम वारीस पिता श्री तुलसीराम को दी जायेगी। दूसरे प्रकरण में इंदौर-इच्छापुर हाईवे पर ग्राम झिरी के पास अज्ञात वाहन दुर्घटना में शिकारपुरा निवासी हरी महाजन की मृत्यु होने पर वारीस पत्नि सरलाबाई को 25 हजार रूपये की आर्थिक सहायता प्रदत्त की जायेगी। 
क्रमांकः 70/170/सचिन/प्रशासन 
समाचार
एमडीएम के तहत प्राथमिक शालाओं को खाद्यान्न आवंटित 
बुरहानपुर-( 20 फरवरी 2016 ) - जिले में मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम अंतर्गत 482 प्राथमिक शालाओं के लिए कुल 2526.68 क्विंटल खाद्यान्न कोटा उपलब्ध कराया गया है।
जिला पंचायत सीईओ श्री बसंत कुर्रे ने बताया कि एडीएम कार्यक्रम के तहत माह जनवरी, फरवरी एवं मार्च हेतु 2035.06 क्विंटल गेहूँ और 491.62 क्विंटल चांवल खाद्यान्न शालावार आवंटन जारी कर दिया गया है। श्री कुर्रे ने नागरिक आपूर्ति निगम जिला प्रबंधक को अच्छी किस्म खाद्यान्न प्रदाय करने के निर्देश दिये है। 
क्रमांकः 71/171/सचिन/पं.ग्रा.वि.

No comments:

Post a Comment