Wednesday, 9 December 2015

JANSAMPARK NEWS 3-12-15

जिला जनसंपर्क कार्यालय, बुरहानपुर म.प्र.
समाचार
जीवन में आगे बढ़ना है तो शिक्षा पर विशेष ध्यान देना होगा-महापौर
निःशक्त छात्र-छात्राओं ने खेलकूद एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम की शानदार प्रस्तुतियां दी 
बुरहानपुर (3 दिसम्बर) - राज्य शासन निर्देशानुसार जिले में आज 3 दिसम्बर को विश्व विकलांग दिवस धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान निःशक्तजन व छात्र-छात्राओं के सामर्थ्य विविध प्रतियोगिताएं व कार्यक्रम संपन्न हुए। इन कार्यक्रमों में निःशक्तजनों ने उत्साह से भाग लिया। जिसमें विभिन्न संस्थाओं से आए अंध मूक, बधिर निःशक्तों के लिये विभिन्न खेलकूद हुए। जिसमें निःशक्तों की 100 मीटर की दौड़, ट्रायसिकल रेस, निबंध प्रतियोगिता (पर्यावरण प्रदूषण), चित्रकला एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम (समूह/एकल नृत्य, वाद-विवाद प्रतियोगिता, गीत, नाटक, मिमिक्री) आदि कार्यक्रम व प्रतियोगिता संपन्न हुई। इस दरम्यान उक्त कार्यक्रमों में भी निःशक्तों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया।
महापौर श्री अनिल भोंसले ने इस अवसर पर कहा कि मूकबधीर विद्यालय द्वारा निःशक्त बच्चों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसके लिये उन्होनें संस्था को बधाई दी। उन्होनें निःशक्त छात्र/छात्राओं के माता-पिता को बच्चों की शिक्षा पर विशेष ध्यान देने की बात कही। ताकि वह भविष्य में आगे बढ़कर अच्छा जीवन यापन कर सकें। शासन द्वारा निःशक्तों के लिये विभिन्न योजनाओं भी चलाई जा रही है। 
कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरीन सिंथिया ने कहा कि विश्व विकलांग दिवस मनाने का उद््देश्य निःशक्तजन को समाज की मुख्य धारा से जोड़ना है। ताकि वे सबके साथ खडे़ हो सके। उन्होनें कहा कि निःशक्त बच्चों के लिये परिवार की सोच बदलनी होगी। माता-पिता उन्हें बेहतर शिक्षा देकर जीवन में आगे बढ़ने का अवसर प्रदान करें। वह निश्चित ही पढ़-लिखकर समाज का नाम रोशन करेगें। राज्य शासन द्वारा निःशक्तों के लिये भर्तियों में आरक्षण निर्धारित है। उन्होनें पालकों से अनुरोध कि वे कम से बच्चों को 12 वी कक्षा तक शिक्षा अनिवार्य दे। इसके साथ ही उन्हें कम्प्यूटर शिक्षा भी दिलाये। साथ ही बच्चों को ओर आगे बढ़ने के लिये उच्च शिक्षा हासिल करने में सहयोग दे। 
प्रदर्शनी का किया अवलोकन
इस दौरान महापौर एवं कलेक्टर ने निःशक्त छात्र/छात्राओं द्वारा हाथ से बनाई गई पेंटिंग व चित्रकला की प्रदर्शनी का अवलोकन किया। प्रदर्शनी में उन्हें चौथी कक्षा के विद्यार्थी कुशल अरूण पाठक ने अक्षरों को स्पर्श कर अंग्रेजी पढ़कर सुनाई एवं उनका स्वागत भी किया। 
कार्यक्रम में निःशक्तजनों के लिये ट्रायसिकल रेस का आयोजन किया गया। जिसें महापौर और कलेक्टर ने हरी झण्डी दिखाई। कार्यक्रम में जिला पंचायत सीईओ श्री बसंत कुर्रे, जिला शिक्षा अधिकारी श्री जे.एल.रघुवंशी, परियोजना अधिकारी श्री विजय पचौरी एवं सहायक परियोजना अधिकारी श्री प्रवीण पटेल सहित अन्य अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे। उक्त कार्यक्रम सर्व शिक्षा अभियान एवं सामाजिक न्याय विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया गया। जिसमें संस्थागत एवं गैर संस्थागत निःशक्त छात्र/छात्राएं भाग लिया। इसमें विभिन्न निःशक्त विद्यालयों, शासकीय/अशासकीय शैक्षणिक संस्थाओं के प्राचार्य, शिक्षक/शिक्षिकाएं, स्वयंसेवी संस्थाओं संगठनों के पदाधिकारीगण व निःशक्त सीनियर/जूनियर छात्र/छात्राएं बड़ी संख्या में उपस्थित रहे। 







टीपः-फोटोग्राफ संलग्न क्र-1 से 7 तक शामिल है। 
------
क्रमांक-13/1021/2015                        सचिन/प्रशासन/फोटो 
समाचार
मृदा स्वास्थ्य दिवस 5 दिसम्बर को मनाया जायेगा
जिले के सभी किसान आगे आकर मृदा परीक्षण कराये-श्रीमती सिंथिया 
कलेक्टर ने समस्त कृषकों से की अपील 
बुरहानपुर (3 दिसम्बर) - राज्य शासन निर्देशानुसार मृदा स्वास्थ्य दिवस 5 दिसम्बर को मनाया जायेगा। इसी तारतम्य में मिटट्ी के महत्व को दृष्टिगत रखते हुए कृषि विज्ञान केन्द्र और किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के तत्वावधान में यह आयोजन 5 दिसम्बर 2015 को ग्राम पंचायत धुलकोट कार्यालय के समीप प्रातः 11 बजे किया गया है। वर्तमान समय में खेतो में अंधाधुन रासायनिक उर्वरकों के प्रयोग से मिट्टी की उर्वरा शक्ति दिन-प्रतिदिन कम होती जा रही है। कुछ किसान भाईयों को अपने खेत की मिट्टी के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी नही है। 
कलेक्टर ने कृषकों से की अपील
कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरीन सिंथिया ने जिले के समस्त किसान भाईयों से अपील की है कि उक्त कार्यक्रम में पहुंचकर अपने खेत की मिट्टी परीक्षण के महत्व को समझे एवं आने वाले समय में खेत की मिट्टी परीक्षण करवाकर कम लागत में अधिक उत्पादन प्राप्त करें। इस कार्यक्रम में कृषकों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरण के साथ मृदा स्वास्थ्य के बारे कृषकों को मार्गदर्शन दिया जावेगा।
------
क्रमांक-14/1022/2015                                 सचिन/कृषि 

No comments:

Post a Comment