Sunday, 20 December 2015

JANSAMPARK NEWS 19-12-15

जिला जनसम्पर्क कार्यालय, बुरहानपुर (म.प्र.)
समाचार
बुुरहानपुर जिले के विकास के लिए अधिकारी व जनप्रतिनिधि मिलकर प्रयास करें
- प्रभारी मंत्री श्री विजय शाह
जिला योजना समिति की बैठक सम्पन्न
बुरहानपुर , 19 दिसम्बर 2015 - प्रदेश के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री एवं बुरहानपुर जिले के प्रभारी मंत्री कुंवर श्री विजय शाह ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला योजना समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए सभी उपस्थित जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों से आव्हान किया कि सभी मिलजुलकर जिले के विकास के लिए प्रयास करें। उन्होंने कहा कि नव गठित जिला बुरहानपुर में विकास की अभी काफी संभावनाएं है। बुरहानपुर जिले में संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में कोई भी समस्या हो तो उसके निराकरण के लिए यहां के अधिकारी प्रति सोमवार या मंगलवार को समय लेकर भोपाल आ सकते है, उनकी समस्याओं का निराकरण प्रदेश स्तर पर के अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित कर किया जायेगा। बैठक में क्षेत्रीय सासंद श्री नंदकुमार सिंह चौहान, पूर्व मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनीस, नेपानगर विधायक श्री राजेन्द्र दादू, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती गायत्री राजाराम पाटीदार, महापौर श्री अनिल भौसले, कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरीन सिंथिया, पुलिस अधिक्षक श्री अनिल सिंह कुशवाह सहित विभिन्न अधिकारी व जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे। 
प्रभारी मंत्री श्री शाह ने बैठक में कहा कि बुरहानपुर जिले में 50 लाख रूपये से अधिक लागत के निर्माण कार्यो की समीक्षा कलेक्टर नियमित रूप से करें, इनके क्रियान्वयन में आने वाली बाधाओं को दूर करने में प्रदेश स्तर से हर संभव भी मदद दी जायेगी। उन्होंने कहा कि जिले में केले के उत्पादन की अधिकता को देखते हुए केले को सूखाकर उसका पाउडर तैयार करने तथा इसे आंगनवाड़ी केन्द्रों के बच्चों के पोषण आहार के रूप मंे इस्तेमाल करने के लिए प्रोजेक्ट बनाया जाये। उन्होंने उपसंचालक उद्यानिकी को निर्देश दिए कि देश में जहां भी केले का पाउडर तैयार किया जाता हो वहां जाकर वे प्रशिक्षण प्राप्त करंे तथा जिले में इसे तैयार किया जाये। उन्होंने कहा कि आंगनवाड़ी के बच्चों को सप्ताह मंे 3 दिन पोष्टिक आहार के रूप में केले भी दिये जाये। विधायक श्रीमती चिटनीस ने इस दौरान कहा कि आंगनवाड़ी केन्द्रों में सोजना की फली के पेड़ लगवाये जाये, इसकी फली की सब्जी या पत्ते अत्यंत  पोष्टिक होते हैं। कमजोर बच्चों के शरीर में आयरन की पूर्ति के लिए यह फली अत्यंत उपयोगी है। जिला महिला बाल विकास अधिकारी ने बताया कि लगभग 100 आंगनवाड़ी केन्द्रों में सोजना के वृक्ष लगवाये गये। 
प्रभारी मंत्री कुंवर श्री शाह ने बैठक मंे निर्देश दिए कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत या मुख्यमंत्री हाथठेला चालक कल्याण योजना के तहत बुरहानपुर जिले के प्रत्येक विकासखण्ड के 50-50 तथा बुरहानपुर नगर निगम के प्रत्येक वार्ड से 5-5 गरीब लोगों को हाथठेला खरीदने के लिए ऋण दिलाया जाये तथा उन्हें ठेले पर सब्जी या अन्य सामग्री बेचने के लिए भी छोटा-मोटा ऋण दिलाया जाये, ताकि वे गरीबी रेखा से उपर उठ सकें और अपने परिवार का स्तर सुधार सकें। उन्हांेने कहा कि 26 जनवरी से पूर्व इस योजना का क्रियान्वयन प्रारंभ कर दिया जाये। विधायक श्रीमती चिटनीस ने बैठक में कहा कि जिले के अनेकों आदिवासीयों के वनाधिकार पट्टो के आवेदन छोटे-मोटे कारणों से निरस्त कर दिए गए है। उनके आवेदनों की कमीयों को सुधरवाकर उन्हें पट्टे दिए जाये। कलेक्टर श्रीमती सिंथिया ने बताया कि 13 हजार में से 7 हजार वनवासियों को पट्टे दिए जा चुके है। शेष 6 हजार आवेदनों का निराकरण किया जाना है। प्रभारी मंत्री श्री शाह ने जिला संयोजक आदिम जाति कल्याण को निर्देश दिए कि जिन आदिवासीयों के वन अधिकार पट्टों के आवेदन निरस्त हो गए है, उनका परीक्षण कर आवेदनों की कमियों को दूर कर उन्हें स्वीकृत कराया जाये। इसके लिए प्रभारी मंत्री ने एक डिप्टी कलेक्टर के साथ साथ वन विभाग एवं आदिवासी विभाग के अधिकारियों की समिति बनाकर लंबित आवेदनांे का कम्प्यूटरीकरण कराकर निराकरण कराया जाये।
सासंद श्री चौहान ने बैठक मंे कहा कि धामन गांव मेें निर्मित सिंचाई योजना के लिए जिन गरीब आदिवासी किसानों की जमीन ली गई थी, उनमें से कई किसानों को भूअर्जन के बाद मुआवजे की राशि का पूर्णतः भुगतान आज दिनांक तक नहीं मिला है। कई किसानों के खेतों में कुएं, पेड़ व पाईप लाईन भी थे, उन्हें जमीन के साथ साथ इनका भी हर्जना मिलना था लेकिन उसका हर्जना भी अभी तक नही मिला है। मंत्री श्री शाह ने कार्यपालन यंत्री जलसंसाधन को हिदायत दी कि शेष हरजाने का यथाशीघ्र भुगतान कराने के लिए जिस स्तर पर प्रयास किए जाने की आवश्यकता है उस स्तर पर प्रयास किए जायें। उन्होंने कलेक्टर श्रीमती सिंथिया से कहा कि भोपाल में इस सिंचाई परियोजना के मुआवजे की समस्या के निराकरण के लिए उच्च स्तरीय बैठक आयोजित कराने की व्यवस्था करें ताकि किसानों की समस्या का हल हो सके। 
सासंद श्री चौहान ने बताया कि हाल ही में केन्द्रीय भूतल परिवहन मंत्री श्री नितिन गड़करी से चर्चा कर उन्हें इंदौर इच्छापुर मार्ग को फोरलेन निर्माण कराने की मांग की गई थी। जिस पर उनके द्वारा नीतिगत सहमती दे दी गई है शीघ्र ही महाराष्ट्र राज्य में ओरंगाबाद से इच्छापुर तथा मध्य प्रदेश में इच्छापुर से इंदौर मार्ग को मिलाकर फोरलेन राष्ट्रीय राजमार्ग के रूप में स्वीकृति के आदेश जारी हो जायेंगे, जिससे बुरहानपुर व खण्डवा क्षेत्र के विकास के अवसर बढ़ेंगे। उन्होंने शाहपुर से नाचनखेड़ा, शाहपुर से फोकनार रोड के निर्माण कार्य की प्रगति पर असंतोष व्यक्त किया तथा लोकनिर्माण विभाग के अधिकारियों को इन सड़कों का निर्माण कार्य तीव्रता से पूर्ण कराने के निर्देश दिए। सासंद श्री चौहान ने जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से कहा कि स्कूलों में मध्याहन भोजन तैयार करने वाले स्वसहायता समूहों  के खातों में समय पर राशि जमा नहीं की जाती है, जिससे की गरीब समूह और परेशान हो रहे है। उन्होंने इस मामले की जांच कर दोषी पाए जाने पर संबंधित बैंकर्स के विरूद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए है। 
कलेक्टर श्रीमती सिंथिया ने बैठक में बताया कि जिले में जनभागीदारी से आंगनवाड़ी केन्द्रों के बच्चों को बेहतर व्यवस्था उपलब्ध कराई जा रही है। उन्होंने बताया कि अब तक 20 लाख रूपये जन सहयोग से एकत्रित कर आंगनवाड़ी केन्द्रों मंे बच्चों को कुर्सी, टेबिल, वॉश बेसिन, तथा गणवेश उपलब्ध कराये गये है। सदस्यों ने जिला चिकित्साल की अव्यवस्थाओं की ओर भी प्रभारी मंत्री का ध्यान आकर्षित किया तथा बताया कि अस्पताल में प्रसूताओं के सिजेरियन ऑपरेशन नहीं किए जा रहे है तथा मरीजों को छोटे छोटे ऑपरेशन के लिए इंदौर रेफर कर दिया जाता है। कलेक्टर श्रीमती सिंथिया ने बैठक मंे बताया कि जिला चिकित्सालय मंे चिकित्सकों के काफी पद रिक्त है। प्रभारी मंत्री श्री शाह ने अस्पताल की व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के लिए हरसंभव मदद दिलाने का आश्वासन दिया।
टीप -फोटोग्राफ संलग्न है।




‘‘बुरहानपुर उत्सव‘‘ में आज लावणी व पंडवाणी नृत्यांे की होगी प्रस्तुति
बुरहानपुर - 19 दिसम्बर  - ‘‘बुरहानपुर उत्सव‘‘  के दूसरे दिन 20 दिसम्बर को अर्थव वेद परंपरा कलामंच रत्नागिरी महाराष्ट्र राज्य के कलाकारों द्वारा लावनी, कोळी, गोंडी, गोधळ, काटखेळा, राठवा, ढोल नृत्य प्रस्तुती होगी। छत्तीसगढ़ राज्य द्वारा पंथी, पंडवाणी नृत्य की प्रस्तुती। साथ ही विभिन्न शालाओं एवं महाविद्यालयों के विद्यार्थियों द्वारा कथक, भरत नाट्यम, आदिवासी नृत्य व लोकगीत सांस्कृतिक कार्यक्रम से समारोह रोशन होगा। समारोह के तीसरे दिन 21 दिसम्बर को विवेक लोककला दर्पण रायपुर छत्तीसगढ़ राज्य के कलाकार कर्मा, ददरिया, राउत नाचा नृत्य की प्रस्तुती देगें। बुंदेली लोक नृत्य नाट्य कला परिसर कनेरा देव सागर के कलाकारों द्वारा राई, बधाई देवी नृत्य की प्रस्तुती दी जायेगी। अखण्ड सुदर्पण जनकल्याण समिति खण्डवा के कलाकार द्वारा गम्मत और हरदा व होशंगाबाद के लोक नृत्य होेगें। साथ ही विभिन्न शालाओं एवं महाविद्यालयों के विद्यार्थियों द्वारा कथक, भरत नाट्यम, आदिवासी नृत्य व लोकगीत सांस्कृतिक कार्यक्रम से समारोह रोशन होगा। 
तीन दिवसीय विशेष कार्यक्रम में आनंद मेला, पुरातत्व वस्तुओं की प्रदर्शनी, पारंपरिक व्यवसाय प्रदर्शनी, फोटोग्राफ प्रदर्शनी, विविध राज्यों के स्वादिष्ट व्यंजनों के मेले में दुकानें, 400 वर्ष के उपलक्ष्य में प्राचीन धरोहर कूंडी भंडारा की जीवन प्रतिकृति। रांगोली प्रतियोगिता, बुरहानपुर धरोहर पर निर्माता आसीफ खान द्वारा निर्मित बुरहानपुर दर्शन फिल्म का प्रदर्शन। शालाओं और महाविद्यालयों के बच्चों के लिये चित्रकला एवं निबंध प्रतियोगिता का आयोजन भी होगा। 

No comments:

Post a Comment