Wednesday, 13 July 2016

JANSAMPARK NEWS 12-7-16


डिप्लोमा इन एजुकेशन पाठ्यक्रम में प्रवेश की तिथि बढ़ी 

बुरहानपुर | 12-जुलाई-2016
प्रदेश में डिप्लोमा इन एजुकेशन पाठ्यक्रम (डी.एल.एड) 2016-17 में प्रवेश लेने की तिथि बढ़ाई गई है। प्रदेश के शासकीय एवं अशासकीय महाविद्यालयों में इस पाठ्यक्रम में प्रवेश 14 जुलाई तक लिया जा सकेगा। राज्य में वर्षा एवं अति वृष्टि के कारण यह तिथि बढ़ाई गई है। प्रवेश प्रक्रिया संबंधी जानकारी एजुकेशन पोर्टल www.educationportal.mp.gov.in और mponline पोर्टल पर देखी जा सकती है।
महर्षि वाल्मिकी प्रोत्साहन योजना के आवेदन 15 जुलाई तक आंमत्रित 

बुरहानपुर | 12-जुलाई-2016
महर्षि वाल्मिकी प्रोत्साहन योजनान्तर्गत वर्ष 2016-17 के लिये अनुसूचित जाति वर्ग के अभ्यार्थियों के पात्र आवेदकों से आवेदन पत्र आमंत्रित किये जाते हैं। अभ्यर्थी अपने आवेदन पत्र सहायक आयुक्त आदिवासी विकास कार्यालय बुरहानपुर अथवा सीधे आयुक्त अनुसूचित जाति विकास मध्यप्रदेश भोपाल में 15 जुलाई तक आवेदन जमा कर सकते है। आदिवासी विकास सहायक आयुक्त ने बताया कि आवेदक द्वारा वर्ष 2016 की आई.आई.टी, एम्स, क्लेट, एन.डी.एम, एन.आई,टी की प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण कर उत्कृष्ट संबंधित संस्थान में प्रवेश प्राप्त किया हो। प्रवेश की पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण होने की सूचना एवं संस्था में प्रवेश लेने की प्रमाणित जानकारी के साथ आवेदन प्रस्तुत करना होगा। आवेदक मध्यप्रदेश का मूल निवासी होकर अनुसूचित जाति वर्ग का हो। योजनान्तर्गत लेपटॉप क्रय के लिए नियमानुसार प्रोत्साहन राशि प्रदान की जायेगी। आवेदक विभागीय पोर्टल http/scdevelopmentmp.nic.in के सूचना पट पर उपलब्ध लिंक को क्लिक कर ऑनलाइन आवेदन भी किया जा सकता है। अधिक जानकारी के लिए कार्यालयीन समय में कार्य दिवसों में सहायक आयुक्त आदिवासी कार्यालय बुरहानपुर में सम्पर्क कर सकते है। 
जी.पी.एफ. वार्षिक लेखा विवरण 17 जुलाई से दिखेंगे वेबसाइट पर 

बुरहानपुर | 12-जुलाई-2016
महालेखाकार कार्यालय ने मध्यप्रदेश राज्य के अधिकारी-कर्मचारियों के सामान्य भविष्य निधि लेखाओं के वर्ष 2015-16 के वार्षिक लेखा विवरण कार्यालय की वेबसाइट पर अपलोड कर दिये हैं। अभिदाता 17 जुलाई, 2016 के बाद वेबसाइट www.agmp.nic.in और www.agmp.cag.gov.in पर लेखा विवरण देख सकेंगे। इसके लिए अभिदाता को अपनी सीरीज प्रविष्ट करने के बाद एकाउन्ट नम्बर कालम में सामान्य भविष्य निधि लेखा क्रमांक और पासवर्ड प्रविष्ट करना होगा।
    लेखा विवरणों में किसी विसंगति के ऑनलाइन सुधार के लिए अथवा अन्य शिकायत के लिए अभिदाता सत्यापित विवरण सहित वेबसाइट पर एकाउन्टेन्ट जनरल (ए एण्ड ई)-2 में ऑनलाईन ग्रीवेन्स रीड्रेसल खोलकर लॉडज यूअर ग्रीवेन्स ऑनलाइन में अपनी शिकायत दर्ज कर सकेंगे। शिकायत का निराकरण महालेखाकार की निगरानी में एक माह के अन्दर किया जायेगा। अभिदाता अपनी शिकायत दूरभाष क्रमांक 0751-2317359 और 2432457 पर भी कर सकेंगे। सामान्य भविष्य निधि से संबंधित प्राय: पूछे जाने वाले प्रश्न एफ.ए.क्यू. आवश्यक आवेदन प्रारूप और अन्य फार्म भी वेबसाइट पर उपलब्ध है। अभिदाता अपनी समस्याओं के जल्द निराकरण के लिये इस सेवा का लाभ ले सकते हैं।
जिले में जारी मौसम में 248.3 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज 

बुरहानपुर | 12-जुलाई-2016
जिले में जारी मौसम में अभी तक 248.3 मिली मीटर औसत वर्षा हुई है। पिछले 24 घंटो के दौरान बुरहानपुर तहसील में 48.6 मि.मी. एवं नेपानगर में 58 मि.मी. और खकनार में 75 मि.मी. वर्षा मॉपी गई है। प्रभारी अधीक्षक भू-अभिलेख श्री खुमानसिंह चौहान ने बताया कि अभी तक बुरहानपुर में 227 मि.मी, नेपानगर 282 मि.मी. और खकनार में 236 मि.मी. वर्षा ऑकी गई है। 
बैंक, सेना और रेल्वे जैसी प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी के लिये स्टडी सेंटर में आज ही पंजीयन करायें

बुरहानपुर | 12-जुलाई-2016
 जिले में शिक्षित बेरोजगारों को रोजगार से जोड़ने के उद्देश्य से शासकीय सुभाष हाईस्कूल के कक्ष क्र-14 में जिला अध्ययन केन्द्र संचालित किया जा रहा है। जिला रोजगार अधिकारी श्री मनोजसिंह रावत ने बताया कि प्रायः अभ्यर्थी अध्ययन सामग्री के अभाव में प्रतियोगिता परीक्षाओं में वंचित रह जाते है। इन सभी अभ्यर्थियों के लिये इस केन्द्र की स्थापना की गई है। केन्द्र में अभ्यर्थियों को एक ही स्थान पर अध्ययन के लिये पाठ्य सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है। शासकीय अवकाशों को छोड़कर यह केन्द्र प्रतिदिन समस्त जिले के समस्त युवक एवं युवतियो के लिये प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी के लिये सायंकाल 5 बजे से रात्रि 9 बजे तक खुला रहता है। 
    इच्छुक अभ्यर्थी जिला रोजगार कार्यालय में आज ही अपना पंजीयन कराते हुए आगामी होने वाली पुलिस, बैंक, सेना भर्ती, रेल्वे या अन्य प्रतिष्ठानों में होने वाली परीक्षा की तैयारी के लिये संपर्क कर सकते है। अध्ययन केन्द्र में परीक्षार्थियों की सुविधानुसार पाठ्यसामग्री उपलब्ध है। इसमें मासिक, वार्षिक एवं समाचार पत्र-पत्रिकाऐं एवं पुस्तकें केन्द्र पर होने से परीक्षार्थियों को मदद मिलेंगी। केन्द्र में नवीन व्यवस्था के अनुरूप कैरियर काउंसिलिंग के साथ-साथ सप्ताह के एक दिन नौकरी के लिए प्रशिक्षण भी दिया जायेंगा। विस्तृत जानकारी हेतु मीरा हॉस्टल स्थित जिला रोजगार कार्यालय से संपर्क करें। 
बेटियों की उच्च शिक्षा एवं विवाह में सहयोग करेंगी ‘‘सुकन्या समृद्धि योजना‘‘ 
आसानी से डाकघर में खोला जा सकता है खाता 
बुरहानपुर | 12-जुलाई-2016
डाकघर में बेटियों के लिये सुकन्या समृद्धि योजना संचालित है। यह योजना बेटियों के भविष्य का एक सुदृढ आधार बनेगी। यदि माता-पिता योजना के तहत बेटियों का खाता खुलवाते है तो बेटी की उच्च शिक्षा एवं विवाह आदि दायित्व का आसानी से निर्वहन कर सकेंगे। योजना का मुख्य उद्देश्य बेटियों की पढ़ाई और उनकी शादी पर आने वाले खर्च को आसानी से पूरा करना है। इस अनोखी योजना में खाता खुलवाना और इसके फायदे लेना बड़ा ही आसान है। 
ऐसे खुलवाएं अपनी बेटी का खाता
    “सुकन्या समृद्धि योजना‘‘ में खाता किसी भी डाकघर में खुलवाया जा सकता है। बेटी के जन्म के समय या फिर 10 साल की उम्र तक यह खाता खुलवाया जा सकता है। खाता खुलवाने के समय कम से कम 1000 रूपए और एक वित्तीय वर्ष में अधिकतम एक लाख 50 हजार रूपए जमा करवाने होते हैं।
यह है योजना की विशेषताऐं :-
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता बालिका के जन्म से 10 वर्ष की आयु तक की बालिका के नाम से खोला जायेंगा। एक बालिका के नाम से केवल एक खाता ही किसी भी डाकघर में खोला जा सकता है।
  • इसके लिये बालिका की जन्म तिथि का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना आवश्यक है।
  • न्यूनतम 1000 रूपये से खाता खोला जाकर उसके बाद 100 रूपये के गुणांक में रकम जमा की जा सकती है।
  • एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम 1000 रूपये जमा करना आवश्यक है एवं एक वर्ष में अधिकतम 1 लाख 50 हजार रूपये जमा किये जा सकते है।
  • शासन द्वारा समय-समय पर अधिसूचित दर से चक्रवृद्धि ब्याज खाते में देय होगी।  
  • इस खाते को देशभर में कहीं भी स्थानांतरित करवा सकते है।  
  • खाता बेटी के 21 वर्ष पूरे होने के बाद ही परिपक्व होगा। बेटी की उम्र 18 वर्ष होने पर आप जमा राशि का 50 प्रतिशत बेटी की शिक्षा अथवा शादी के लिए निकलवा सकते हैं। ऐसा इसलिए किया गया है कि अभिभावक बेटी की शादी 18 साल से पहले ना करें। खाते में जमा सम्पूर्ण राशि और ब्याज की रकम को खाते के 21 साल होने पर निकाली जा सकती है।
योजना के फायदे :-
फायदा नंबर 1 -     योजना की राशि पर आयकर नहीं काटा जाएगा।
फायदा नंबर 2 -     बेटी के पढ़ाई के खर्च की जाएगी व्यवस्था।
फायदा नंबर 3 -     विवाह योग्य होने पर विवाह खर्च की भी नहीं रहेगी चिंता। इस योजना की अच्छी बात यह है कि इसमें कन्या के 21 वर्ष पूरा होने से पहले पैसा नहीं निकाल सकते हैं। हां, पढ़ाई के लिए जरूरत है तो 18 वर्ष के बाद कुछ राशि निकाली जा सकती है। इसमें जमा की गई रकम पर आयकर की धारा 80 सी के तहत छूट भी मिलेगी।

No comments:

Post a Comment