Saturday, 23 July 2016

JANSAMPARK NEWS 20-7-16

सोयाबीन फसल बोनी उपरांत किसानों के लिये उपयोगी सलाह 
 
बुरहानपुर | 20-जुलाई-2016
किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग द्वारा सोयाबीन फसल बोनी उपरांत किसानों के लिये उपयोगी सलाह दी गई है। उपसंचालक श्री एम.एस.देवके ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान समय में लगभग सभी क्षेत्र में सोयाबीन की बोवनी पूर्ण हो गई है। इसे दृष्टिगत रखते हुए किसानों को सलाह दी जाती है कि अधिक वर्षा होने की स्थिति में सोयाबीन की फसल में पानी जमा रहने से नुकसान हो सकता है। इसलिए खेत से अतिरिक्त पानी के निकासी की व्यवस्था कर ले। उन्होनें कहा कि सोयाबीन फसल में वर्षा होने या भूमि में पर्याप्त नमी होने की स्थिति में नीला भृंग से पौधों को नुकसान हो सकता है यदि नीला भृंग की समस्या है, तो इसके नियंत्रण के लिये क्यूनालफास 1.5 लीटर प्रति हेक्टेयर की दर से छिड़काव करें। 15-20 दिन होने के उपरांत खरपतवार नियंत्रण अवश्य करें। श्री देवके ने किसानों को खरपतवार नियंत्रण के लिये हाथ से निंदाई /डोरा /कोल्पा या बोनी के पश्चात खड़ी फसल में उपयोगी खरपतवार नाशक (इमाझेथापिर /क्विझालोफाप /इथाइल /क्विझाललोफाप-पी-टेफरील /फिनॉक्सीप्राप-पी-इथाइल एक लीटर प्रति हेक्टर या क्लोरीमुरान इथाइल 36 ग्राम प्रति हेक्टर) रसायन का छिड़काव करें। साथ ही उन्होनें बताया कि आगामी 30-40 दिन तक पर्ण भक्षी रसचुसक कीटों के बचाव के लिये क्लोरएन्ट्रामिलिप्रोल 100 मि.ली. प्रति हेक्टर की मात्रा उपरोक्त अनुशंसित खरपतवार नाशकों के साथ मिलाकर छिड़काव किया जा सकता है। सोयाबीन की फसल पर प्रकोप करने वाले कीटो हेतु निरतंर खेत की निगरानी अनुशंसित कीटनाशक का छिड़काव कर नियंत्रण करें।
अमानक बीज को किया तत्काल प्रतिबंधित 
 
बुरहानपुर | 20-जुलाई-2016
जिले में कृषि विभाग द्वारा खरीफ 2016 के लिये सोयाबीन के बीज नमूनें बीज विक्रेता के यहां से लिये गये थे। जिसे ग्वालियर स्थित प्रयोग शाला में परीक्षण उपरांत बीज अमानक स्तर का पाया गया। कृषि उपसंचालक एवं अनुज्ञप्ति प्राधिकारी श्री एम.एस.देवके ने सोयाबीन किस्म-जे.एस..9560 की निर्माता कंपनी टाटा केमिकल्स लिमिटेड के विरूद्ध बीज गुण (नियंत्रण) आदेश 1983 की धारा 11 में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए कार्यवाही की है। उन्होनें जिले में उक्त बीज का क्रय-विक्रय, भण्डारण व परिवहन हेतु तत्काल प्रतिबंध लगाया है।
मौसम आधारित फसल बीमा पर कार्यशाला 22 को 

बुरहानपुर | 20-जुलाई-2016
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनान्तर्गत मौसम आधारित फसल बीमा संबंधी कार्यशाला आयोजित की गई है। यह कार्यशाला जिला पंचायत सभागृह में 22 जुलाई को प्रातः11.00 बजे से प्रारंभ होगी। उद्यान उप संचालक सुश्री शानु मेश्राम ने जानकारी देते हुए बताया है कि खरीफ वर्ष 2016-17 से रबी वर्ष 2018-19 के लियें मध्य प्रदेश में केला, मिर्च, आलु, लहसून, धनिया, पपीता, हरी मटर, आम और सब्जी वर्गीय फसलों के बीमा योजना के क्रियान्वयन हेतु एच.डी.एफ.सी एग्रों जनरल इंश्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड को अधिकृत किया गया है। इस कार्यशाला में इंश्योरेन्स कम्पनी के प्रतिनिधि फसल बीमा योजना की विस्तृत जानकारी किसानों को देगें तथा सहकारी समितियां, बैंकों और कृषकों के प्रश्नों का समाधान करेगें। उपसंचालक ने जिले के उद्यानिकी कृषकों से अनुरोध किया हैं कि अधिक से अधिक संख्या में कार्यशाला में उपस्थित होकर योजना के लाभ ले।
राष्ट्रीय शौर्य पुरस्कार के लिये आवेदन 30 जुलाई तक स्वीकार 

बुरहानपुर | 20-जुलाई-2016
ऐसे बच्चे जिनके द्वारा अपने जीवन को खतरे में डालते हुए किसी सामाजिक बुराई/अपराध के विरूद्ध संघर्ष करते हुए अदम्य साहस का परिचय दिया हो। इस हेतु महिला सशक्तिकरण विभाग द्वारा आवेदन आमंत्रित किये गये है। उक्त आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि 30 जुलाई 2016 निर्धारित की गई है। इच्छुक आवेदनकर्ता विस्तृत जानकारी व आवेदन जमा करने हेतु संयुक्त जिला कार्यालय स्थित महिला सशक्तिकरण विभाग कार्यालय से कार्यालयीन समय में सम्पर्क कर सकते है। 
   जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी श्री रतनसिंह गुंडिया ने जानकारी देते हुए बताया कि पुरस्कार प्राप्त करने के लिये बालक की आयु घटना की तिथी पर 6 वर्ष से कम ओर 18 वर्ष से अधिक नहीं होना चाहिए। वर्ष 2016 के पुरस्कार के लिए एक जुलाई 2015 से 30 जून 2016 तक की घटनाओं पर ही विचार किया जावेगा। आवेदन पर निम्न में से किन्हीं दो प्राधिकारीयों की सिफारिश किया जाना अनिवार्य होगा। जिनमें आवेदक जिस विद्यालय में अध्यनरत है वहां के प्रधानाचार्य/हेडमास्टर और पंचायत और जिला परिषद के प्रमुख महासचिव या बाल कल्याण के लिए राज्य परिषद के अध्यक्ष, कलेक्टर या शासन के समकक्ष रैंक के अधिकारी, पुलिस अधीक्षक या उस क्षैत्र के उच्च रैंक के पुलिस अधिकारी शामिल है। पुरस्कार विजेताओं को एक पदक एक प्रमाण पत्र एवं नगद पुरूस्कार प्रदान किया जावेगा। विभिन्न संस्थाओं एवं परोपकारी संगठनों के द्वारा भी उपहार प्रदान किये जाऐगे। इसके अतिरिक्त पात्र पुरस्कार विजेता को अपनी स्कूल शिक्षा पूर्ण करने हेतु सहायता दी जावेगी। भारतीय बाल कल्याण परिषद स्कॉलरशिप योजना के तहत् इंजिनियरिंग ओर मेडिकल कोर्स एवं अपनी स्नातक स्तर की पढ़ाई पूरी करने हेतु वित्तीय सहायता प्रदान करता है।
एमडीएम में लापरवाही बरतने पर सहायक अध्यापक निलंबित 
 
बुरहानपुर | 20-जुलाई-2016
मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम के तहत कार्य में लारपवाही बरतने पर सीईओ जिला पंचायत श्री बसंत कुर्रे ने खकनार विकासखण्ड अंतर्गत प्राथमिक शाला लालपडावा के सहायक अध्यापक श्री कमलचंद मालवीय को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलंबन अवधि में सहायक अध्यापक का मुख्यालय कार्यालय स्त्रोत समन्वयक खकनार में रहेगा। 

No comments:

Post a Comment