Sunday, 26 July 2015

JANSAMPARK NEWS 7-6-15

जिला जनसंपर्क कार्यालय, बुरहानपुर म.प्र.

समाचार  

बुरहानपुर और खकनार विकासखण्ड क्षेत्रों के 6 ग्रामों 

में पहुंचेगा कृषि क्रांति रथ

बुरहानपुर/7 जून/ राज्य शासन किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा जिले में आज 8 जून को कृषि क्रांति रथ बुरहानपुर और खकनार विकासखण्ड के निम्नांकित ग्रामों में पहुंचेगा। 

उपसंचालक श्री मनोहरसिंह देवके ने उक्त जानकारी दी। उन्होनें बताया कि आज बुरहानपुर विकाखण्ड के ग्राम मगरूल, नसीराबाद एवं बसाड़ में कृषि क्रांति रथ किसानों के बीच पहुंचेगा। इस दरम्यान प्रातः, दोपहर और सांध्यकालीन कृषक संगोष्ठी संपन्न होगी। उक्त ग्रामों में कृषि वैज्ञानिकों तथा तकनीकि अधिकारियों द्वारा उन्नत कृषि व नये उपकरणों तथा तकनीकि किसानों को अवगत कराई जायेगी। इस दौरान किसानों के खेतों से मिट्टी परीक्षण नमूने लिये जायेेगें। जिसकी उर्वरा शक्ति आंकलन करने मिट्टी को प्रयोगशाला भेजा जायेगा। जिससे किसान अपने खेत में भूमि की उर्वरा शक्ति बढ़ाने किन फसलों व खाद बीज का इस्तेमाल करें। कृषि वैज्ञानिक समुचित सलाह देगें। 

          इसी प्रकार खकनार विकासखण्ड क्षेत्रान्तर्गत ग्राम रामाखेड़ा, रामाखेड़ाखुर्द और शेखपुरा में कृषि रथ भ्रमण करेगा। जिसका रात्रि विश्राम शेखपुरा में होगा। उक्त विकासखण्डों के प्रत्येक ग्राम में कृषक संगोष्ठी आयोजित होगी। यह संगोष्ठी प्रातः दोपहर और सांयकाल में आयोजित की जावेगी। जिसमें किसानों को कृषि तकनीक व उद्यानिकी व पशुपालन व अन्य विभिन्न विभागों द्वारा जानकारी प्रदान की जाएगी। इस मौके पर कृषि मूलक योजनाओं व तकनीकि तथा सुविधाओं के बारे में कृषकों को जागरूक किया जावेगा। 

इस अवसर पर कृषकों को कृषि, उद्यानिकी, पशु, मत्स्य पालन, स्वास्थ्य, वन, विद्युत, उद्योग, श्रम, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, सहकारिता, बैंक, नाबार्ड, राजस्व, सामाजिक न्याय, महिला एवं बाल विकास, विपणन, कृषि उपज मंडी, बीज निगम, पीएचई, जलसंसाधन, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, दुग्ध संघ, आदिम जाति कल्याण, शिक्षा, पंचायत, वाणिज्य, रोजगार, आरसेटी, परिवहन, पर्यावरण, खाद्य नागरिक आपूर्ति, खादी ग्रामोद्योग, जन अभियान परिषद्, लोक सेवा गारंटी, रेशम आदि अन्य विभागों द्वारा विभागीय जानकारी ग्रामीणों को दी जाएगी। साथ ही कृषि विभाग द्वारा मिट्टी के नमूने लिये जायेगें। ग्रामीण कृषकों को मेढ़ पर लगाने खमैर के पौधें सशुल्क वितरित किये जायेगें। 

----------
क्रमांक/13/492/2015                                                      पवार/सचिन/कृषि 


समाचार  


मिट्टी परीक्षण कर खेतों में संतुलित खाद का 


उपयोग करें-श्री सिंह 

बुरहानपुर/7 जून/ विकासखण्ड बुरहानपुर के ग्राम जसोंदी में विकासखण्ड स्तरीय कृषक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस दौरान खण्डवा से आये डॉ. एस.एस.चौरे ने किसानों से जैविक खेती करने के बारे में विस्तार से चर्चा कर लाभ भी बताये। इसी प्रकार पशुपालन विभाग डॉ. हेमन्त शाह ने कृषि, उद्यानिकी के साथ-साथ पशुपालन को भी अपनाने के लिए किसानों को प्रेरित किया। कृृषि विज्ञान केन्द्र डॉ. अजीत सिंह और डॉ. भूपेन्द्रसिंह ने किसानों को खरीफ फसल में बीजोंपचार कर बोनी करने की सलाह दी। साथ ही मिट्टी परीक्षण कर अपने खेतों में संतुलित खाद का उपयोग करने की जानकारी दी। 
कृषि कल्याण एवं कृषि विकास विभाग उप संचालक श्री एम.एस.देवके ने किसानों को धारवाड़ विधि से तुअर उत्पादन करने की सलाह दी। उन्होनें कहा कि धारवाड़ विधि से तुअर के बीज को थाइरम और कार्बन्डीजम तीन ग्राम दवा से एक किलो बीज को उपचारित कर थैली में बोने की सलाह दी। मत्स्य पालन विभाग श्री मीना ने मत्स्य पालन के लिए किसानों को मत्स्य पालन करने के लिए प्रेरित किया। 
ग्राम जसोंदी में विभागीय प्रदर्शनी के माध्यम से जैविक खादों के उपयोग पर प्रकाश डाला गया। संगोष्ठी में जिला पंचायत सदस्य श्री श्रवण राठौर, मंडी अध्यक्ष सरपंच, उपसरपंच तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी/कर्मचारी सहित 250 से अधिक कृषकगण उपस्थित रहे। 



----------
क्रमांक/14/493/2015                                        पवार/सचिन/कृषि/फोटो 

समाचार 


हेण्डपंपों की षिकायत निवारण हेतु विभाग ने जारी 

किया इंन्ट्राएक्टिव वायस रिस्पांस प्रणाली व मोबाईल

एप्स

बुरहानपुर/7 जून/ लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल उपलब्ध कराने हेतु हेण्डपंप स्थापित किये गये है। हेण्डपंपों से संबंधित षिकायतों के निवारण के लिये विभाग ने इंन्ट्राएक्टिव वायस रिस्पांस प्रणाली (प्टत्ै) व मोबाईल एप्स जारी किये है। 
लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी कार्यपालन यंत्री श्री लालजी तिवारी ने उक्त जानकारी दी। उन्होनें बताया कि इस प्रणाली से ग्रामीण आसानी से हेण्डपंप संबंधित षिकायतें  9200067890 डायल करें। साथ ही दिये गये निर्देषों का पालन कर क्रमांक 1 से 8 तक षिकायत का प्रकार सुनते हुए अपनी षिकायत दर्ज कर सकते है। इसी प्रकार विभाग द्वारा हेण्डपंपों की षिकायत का निवारण तत्परता से करने के लिए एम.पी. जल नामक मोबाईल ऐप्स म.प्र.शासन के पोर्टल पर उपलब्ध कराया गया है। षिकायतकर्ता इस ऐप्स को अपने एन्ड्रोईड मोबाईल से डाउनलोड कर अपनी षिकायत दर्ज कर सकता है। 
----------
क्रमांक/15/494/2015                                  पवार/सचिन/ज.संसा. 

No comments:

Post a Comment