Sunday, 26 July 2015

JANSAMPARK NEWS 15-6-15

जिला जनसंपर्क कार्यालय, बुरहानपुर म.प्र.

समाचार

समय सीमा की बैठक संपन्न 

अपर कलेक्टर ने आगामी 21 जून को योग दिवस हेतु तैयारियों कि 

समीक्षा की
बुरहानपुर/15 जून/ अपर कलेक्टर श्री प्रकाश रेवाल ने समय सीमा की बैठक में जनसुनवाई के प्रकरणों की समीक्षा की। उन्होनें सभी विभागों को निर्देश दिये कि, जनसुनवाई के प्रकरणों का तत्काल निराकरण करें। ताकि हितग्राहियों को राहत दिलाई जा सकें। साथ ही उन्होनें सीएम हेल्पलाईन, पीजीआर संबंधित प्रकरणों का निराकरण करने की विभाग प्रमुखों को हिदायत दी। 
श्री रेवाल ने वर्षा काल के दौरान कन्ट्रोल रूम स्थापित करने हेतु संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया। कन्ट्रोल रूम में 24 घंटे संचालित रहेगा। जिसमें अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटी लगाना सुनिश्चित करें। 
अपर कलेक्टर ने समय सीमा की बैठक में जानकारी देते हुए बताया कि आगामी अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को जिले में होने वाले योग कार्यक्रमों में समाज के हर वर्ग को भागीदारी के लिये प्रेरित किया जाये। उन्होनें जिले से लेकर पंचायत स्तर तक होने वाले कार्यक्रमों का व्यवस्थित आयोजन करने निर्देश दिये। लोगों को योग के लाभों के बारे में जागरूक करें। इस कार्यक्रमों में स्कूल-कालेज के छात्रों के अलावा योग संस्थानों, एनसीसी, एनएसएस, पुलिसकर्मियों, शासकीय सेवकों, जनप्रतिनिधियों तथा आम नागरिकों की सहभागिता होगी। उन्होंने कहा सरकार ने प्रातः 7 से 7ः35 तक का समय योग कार्यक्रम के लिए प्रस्तावित किया है। योग के लाभों एवं उपयोगिता के बारे में आमजन में व्यापक जागरूकता उत्पन्न किये जाने की भी अपेक्षा की गई है। कार्यक्रम के दौरान किये जाने वाले योगासनों के बारे में एक कॉमन प्रोटोकॉल निर्धारित है। इस बारेे में बुकलेट व फिल्म तैयार की गई है। जिसे वेबसाईट ूूूण्दीचण्हवअण्पद पर अपलोड किया गया है। जिसका किसी धर्म अथवा पंथ से कोई संबंध नहीं है। यह कार्यक्रम पूर्णतः स्वैच्छिक होगा और इस हेतु किसी प्रकार की बाध्यता नहीं होगी। 
इस दौरान सुभाष हॉयर सेकेण्डरी स्कूल के शिक्षक श्री भास्कर डोंगरे ने योगासन की विभिन्न क्रियाओं को बताया। साथ ही योगासन से होने वाले लाभ भी बताये। श्री डोंगरे ने ग्रीवा की चार क्रिया की अधिकारियों का विस्तार से जानकारी दी। उन्होनें आसन में वक्रासन और अर्ध चक्रासन बताये। बैठक में एस.डी.एम. बुरहानपुर श्री काशीराम बड़ोले, नेपानगर श्री शंकरलाल सिंगाडे़, डिप्टी कलेक्टर श्री सुमेरसिंह मुजाल्दा सहित समस्त जिला प्रमुख अधिकारीगण उपस्थित रहे। 

-------- 
क्रमांक/39/518/2015                                            पवार/सचिन/कृषि/फोटो  


समाचार

तीन दिवसीय कृषि विज्ञान मेला का समापन 

सांसद श्री चौहान ने मोबाइल से कृषकों को संबोधित किया 

कृषि वैज्ञानिकों ने उन्नत पशु प्रबंधन के गूर बताये

बुरहानपुर/15 जून/ कृषि महोत्सव 2015 के अंतर्गत जिला स्तरीय कृषि विज्ञान मेला सोमवार को स्थानीय रेणुका कृषि उपज मंडी परिसर में संपन्न हुआ। समापन अवसर पर पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष श्री ज्ञानेश्वर पाटिल, जनपद पंचायत अध्यक्ष श्री किशोर पाटील, कृषि समिति अध्यक्ष श्री गुलशन बर्ने, श्री कैलाश यावतकर, आत्मा अध्यक्ष बुरहानपुर/खकनार श्री रामदास पाटिल, श्री प्रदीप जाधव, जनपद पंचायत सदस्य श्री नितीन चौधरी, श्री प्रभाकर कोली, प्रगतिशील किसान संगठन अध्यक्ष, श्री रघुनाथ पाटिल, प्रगतिशील कृषक श्री विठ्ठल गुरूजी सहित पशु चिकित्सा उप संचालक डॉ. एम.के.शर्मा, आत्मा परियोजना संचालक श्री राजेश चतुर्वेदी एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे। 
सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने मोबाईल के माध्यम से सभी कृषक भाईयों को शुभकामनाऐं देते हुए कहा कि कृषि महोत्सव के दौरान किसानों हेतु कृषि तकनीक की जानकारी देने के लिये शासन द्वारा कृषि क्रांति रथ का भ्रमण कराकर वैज्ञानिकों एवं अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी को अपनाने की बात कही। श्री चौहान ने किसानों से कहा कि कृषि महोत्सव का अधिक से अधिक लाभ ले। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान के प्रयासों से किसानों के लिये 10 प्रतिशत अनुदान पर खाद बीज उपलब्ध कराया जायेगा। 
जनपद पंचायत अध्यक्ष श्री किशोर पाटील ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि जिले में जो जल स्तर बढ़ा है। उसका पूर्ण रूप से उपयोग कर अधिक से अधिक उपज प्राप्त करें। इसमें ड्रीप एक महत्वपूर्ण साधन है। ड्रीप के माध्यम से उर्वरकों का उपयोग संतुलित मात्रा में करें। कृषि समिति अध्यक्ष श्री गुलशन बर्ने ने कहा कि आज की स्थिति में किसानों को पर्याप्त मात्रा में बिजली प्राप्त हो रही है। शासन द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का लाभ ले। जिला पंचायत सदस्य श्री कैलाश यावतकर ने कहा कि किसानों को केले का पर्याप्त भाव मिलें। जिससे किसानों को केला उत्पादन में ज्यादा रूचि जागृृत होगी। अधिकारियों द्वारा किसानों के बीच में जाकर समूह बनाकर उन्हें जागरूक करें।
श्री ज्ञानेश्वर पाटील ने किसानों से अनुरोध किया खेती के साथ पशुपालन जरूरी है। उन्होनें कहा कि दूध का निरंतर घटता उत्पादन सबके लिये चिंता का विषय है। जिसको किसान भाई ही बढ़ा सकते है। जो किसानों के लिये खेती के अलावा अतिरिक्त आय का साधन है। समापन अवसर पर कृषि तकनीकी आज की आवश्यकता पुस्तक का विमोचन अतिथियों द्वारा किया गया। इस पुस्तक का मुख्य उद््देश्य सभी ग्रामों में कृषि, उद्यानिकी के सभी फसलों की एकीकृत जानकारी उपलब्ध कराना है। 

मेले के अंतिम दिन डॉ. आर.के. खरे ने रेशम की उन्नत खेती की तकनीक बतलाई। उन्होनंें कहा कि वर्ष भर में एक एकड़ में रेशम पालन करके 80 हजार रूपये से लेकर देढ़ लाख रूपये तक का शुद्ध मुनाफा कमाया जा सकता है। वही पशु चिकित्सा महाविद्यालय महु के डॉ. एम.के. मेहता और डॉ. संदीप नानावटी ने पशु प्रबंधन एवं पशुओं में होने वाली प्रमुख बीमारियों एवं उनसे बचाव की जानकारी उपलब्ध कराई। खण्डवा से श्री एस.एस.चोरे द्वारा बताया कि वर्तमान में संतुलित उर्वरकों का उपयोग नहीं होने के कारण जैविक खेती करके भूमि की उर्वरा शक्ति को बढ़ाये। मेले एवं कृषि संगोष्ठि में आये सभी वैज्ञानिकों से समन्वय कृषि विज्ञान केन्द्र बुरहानपुर के डॉ.अजीतसिंह और उनके वैज्ञानिकों द्वारा किया गया। कार्यक्रम के अंत में कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक श्री कार्तिकेय, श्री भूपेन्द्रसिंह, वरिष्ठ कृृषि विकास अधिकारी श्री के.आर.पवार एवं श्री वी.टी.पाटील का शॉल श्रीफल से सम्मान किया। सभी किसान मित्रों एवं ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों को प्रशंसा पत्र प्रदत्त किया। कार्यक्रम का संचालन श्री दिलीप इंगले एवं आभार कृृषि उपसंचालक श्री एम.एस.देवके ने व्यक्त किया। 



-------- 
क्रमांक/40/519/2015                                            पवार/सचिन/कृषि/फोटो  

 

No comments:

Post a Comment