Sunday, 26 July 2015

JANSAMPARK NEWS 12-6-15

जिला जनसंपर्क कार्यालय, बुरहानपुर म.प्र.

समाचार  

अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस अवसर पर समाज के हर वर्ग की हो भागीदारी 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की तैयारियों की समीक्षा 

बुरहानपुर/12 जून/ मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान आज वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से बुरहानपुर सहित प्रदेश के तमाम जिलों से रूबरू हुए। उन्होनें कहा कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को प्रदेश में होने वाले योग कार्यक्रमों में समाज के हर वर्ग को भागीदारी के लिये प्रेरित किया जाये। प्रदेश में राजधानी से लेकर पंचायत स्तर तक होने वाले कार्यक्रमों का व्यवस्थित आयोजन करें। लोगों को योग के लाभों के बारे में जागरूक करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये जिलों में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की तैयारियों की जानकारी ली। 
भारत सरकार ने सभी राज्यों से अपेक्षा की है कि 21 जून को प्रथम अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस वृहद पैमाने पर आयोजित कर मनाया जाये। भारत सरकार द्वारा प्रस्तावित योगाभ्यास का कार्यक्रम संपूर्ण देश में एक ही समय आयोजित किया जायेगा। 
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आयोजित वीडियो कान्फ्रेसिंग में कहा कि, मध्यप्रदेश में राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के सभी जिला, विकासखण्ड एवं पंचायत मुख्यालयों पर कार्यक्रम का वृहद आयोजन किया जाना है। इस कार्यक्रमों में स्कूल-कालेज के छात्रों के अलावा योग संस्थानों, एनसीसी, एनएसएस, पुलिसकर्मियों, शासकीय सेवकों, जनप्रतिनिधियों तथा आम नागरिकों की सहभागिता होगी। उन्होंने कहा सरकार ने प्रातः 7 से 7ः35 तक का समय योग कार्यक्रम के लिए प्रस्तावित किया है। इस समय में बाद में परिवर्तन भी हो सकता है। योग के लाभों एवं उपयोगिता के बारे में आमजन में व्यापक जागरूकता उत्पन्न किये जाने की भी अपेक्षा की गई है। उन्होंने कहा कार्यक्रम के दौरान किये जाने वाले योगासनों के बारे में एक कॉमन प्रोटोकॉल निर्धारित है। इस बारेे में बुकलेट व फिल्म तैयार की गई है। जिसे वेबसाईट ूूूण्दीचण्हवअण्पद पर अपलोड किया गया है। स्कूल शिक्षा विभाग इस कार्यक्रम के नोडल विभाग रहेगें। समस्त भागीदार विभागो, जिलों के लिए सामान्य निर्देश- योग एक शारीरिक एवं आत्मिक क्रिया है। जिसका किसी धर्म अथवा पंथ से कोई संबंध नहीं है। यह कार्यक्रम पूर्णतः स्वैच्छिक होगा और इस हेतु किसी प्रकार की बाध्यता नहीं होगी। 
इस संबंध में वीडियों कान्फ्रेसिंग में बताया गया कि 21 जून को सभी सहभागीगण प्रातः 6ः30 पर आयोजन स्थल पर एकत्र हो जायेंगे। प्रदेश के लिए प्रस्तावित प्रतिपल कार्यक्रम इस प्रकार है- सभी सहभागीगण की उपस्थिति 6ः30 बजे प्रातः तक, अतिथि गण का आगमन 6ः40 प्रातः, मध्यप्रदेश गान 6ः42 प्रातः, मुख्यमंत्रीजी का संदेश 6ः45 प्रातः और योग कार्यक्रम 7 बजे से 7ः35 प्रातः (भारत सरकार द्वारा निर्धारित किये अनुसार), आभार एवं समापन 7.37 प्रातः तक रहेगा। उन्होंने कहा भारत सरकार द्वारा यदि प्रस्तावित समय प्रातः 7 से 7.35 तक में कोई परिवर्तन भविष्य में होता है। तो शेष कार्यक्रम तदनुसार परिवर्तित हो जायेंगे। 
इस मौके पर बुरहानपुर एनआईसी कक्ष में नेपानगर विधायक श्री राजेन्द्र दादू, महापौर श्री अनिल भोंसले, कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया, नेपानगर नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती मधु चौहान, नगर पंचायत शाहपुर अध्यक्ष श्रीमती शोभा लाण्डे, पुलिस अधीक्षक श्री अनिलसिंह कुशवाह, अपर कलेक्टर श्री प्रकाश रेवाल, डिप्टी कलेक्टर श्री एम.एल.आर्य सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद थे। 
--------
क्रमांक/31/510/2014                                              पवार/सचिन/प्रशासन/फोटो 

समाचार  

बुरहानपुर एवं खकनार विकासखण्ड के ग्रामों में पहुंचेगा कृषि क्रांति रथ 

बुरहानपुर/12 जून/ राज्य शासन किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा जिले में आज 13 जून को कृषि क्रांति रथ बुरहानपुर और खकनार विकासखण्ड के निम्नांकित ग्रामों में पहुंचेगा। 

उपसंचालक श्री मनोहरसिंह देवके ने उक्त जानकारी दी। उन्होनें बताया कि आज बुरहानपुर विकाखण्ड के ग्राम गढ़ताल, बसाली एवं सराय में कृषि क्रांति रथ किसानों के बीच पहुंचेगा। इस दरम्यान प्रातः, दोपहर और सांध्यकालीन कृषक संगोष्ठी संपन्न होगी। उक्त ग्रामों में कृषि वैज्ञानिकों तथा तकनीकि अधिकारियों द्वारा उन्नत कृषि व नये उपकरणों तथा तकनीकि किसानों को अवगत कराई जायेगी। इस दौरान किसानों के खेतों से मिट्टी परीक्षण नमूने लिये जायेेगें। जिसकी उर्वरा शक्ति आंकलन करने मिट्टी को प्रयोगशाला भेजा जायेगा। जिससे किसान अपने खेत में भूमि की उर्वरा शक्ति बढ़ाने किन फसलों व खाद बीज का इस्तेमाल करें। कृषि वैज्ञानिक समुचित सलाह देगें। 

          इसी प्रकार खकनार विकासखण्ड क्षेत्रान्तर्गत ग्राम शेखापुर, मोहनगढ़ और रंगई में कृषि रथ भ्रमण करेगा। जिसका रात्रि विश्राम रंगई में होगा। उक्त विकासखण्डों के प्रत्येक ग्राम में कृषक संगोष्ठी आयोजित होगी। यह संगोष्ठी प्रातः दोपहर और सांयकाल में आयोजित की जावेगी। जिसमें किसानों को कृषि तकनीक व उद्यानिकी व पशुपालन व अन्य विभिन्न विभागों द्वारा जानकारी प्रदान की जाएगी। इस मौके पर कृषि मूलक योजनाओं व तकनीकि तथा सुविधाओं के बारे में कृषकों को जागरूक किया जावेगा। 

इस अवसर पर कृषकों को कृषि, उद्यानिकी, पशु, मत्स्य पालन, स्वास्थ्य, वन, विद्युत, उद्योग, श्रम, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, सहकारिता, बैंक, नाबार्ड, राजस्व, सामाजिक न्याय, महिला एवं बाल विकास, विपणन, कृषि उपज मंडी, बीज निगम, पीएचई, जलसंसाधन, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, दुग्ध संघ, आदिम जाति कल्याण, शिक्षा, पंचायत, वाणिज्य, रोजगार, आरसेटी, परिवहन, पर्यावरण, खाद्य नागरिक आपूर्ति, खादी ग्रामोद्योग, जन अभियान परिषद्, लोक सेवा गारंटी, रेशम आदि अन्य विभागों द्वारा विभागीय जानकारी ग्रामीणों को दी जाएगी। साथ ही कृषि विभाग द्वारा मिट्टी के नमूने लिये जायेगें। ग्रामीण कृषकों को मेढ़ पर लगाने खमैर के पौधें सशुल्क वितरित किये जायेगें। 

--------
क्रमांक/32/511/2014                                               पवार/सचिन/कृषि 

समाचार  

आज से तीन दिवसीय कृषि विज्ञान मेला का शुभारंभ 

वैज्ञानिकों द्वारा कृषकों को उन्नत तकनीक की जानकारी दी जायेगी

बुरहानपुर/12 जून/ जिले में कृषि महोत्सव 2015 के अन्तर्गत तीन दिवसीय कृषि विज्ञान मेला का आयोजन किया जा रहा है। जिसका शुभारंभ आज 13 जून 2015 से किया जायेगा। उक्त मेला कृषि उपज मंडी प्रांगण रेणुका माता रोड स्थित 13 से प्रारंभ होकर 15 जून 2015 तक संचालित रहेगा। 

उक्त जानकारी किसान कल्याण एवं कृषि विकास उप संचालक श्री एम.एस.देवके ने दी। उन्होनें बताया कि इस मेले में उन्नत कृषि तकनीकि के हस्तानान्तरण हेतु प्रसिद्ध वैज्ञानिको तथा प्रगतिशील किसान कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन, रेशम पालन एवं मत्स्य पालन विषय पर व्याख्यान देगें। 

यह रहेगा आकर्षण का केन्द्र:- तीन दिवसीय कृषि विज्ञान मेला में 50 से अधिक स्टॉल लगाये जायेगें। साथ ही विभागों में संचालित योजनाओं की प्रदर्शनी मुख्य आकर्षण रहेगी। इस दौरान कृषकों के लिये मिट््टी परीक्षण हेतु चलित वेन उपलब्ध रहेगी। यहां पर किसान अपने खेत की मिट्टी परीक्षण तुरंत करा सकते है। 

यह देगें व्याख्यान:- तीन दिवसीय कृषि विज्ञान मेले के प्रथम दिन सोलापुर महाराष्ट्र से डॉ.एन.डी.पाटील मृदा एवं जल संरक्षण पर, पुना के डॉ.ए.एन.सालंुके कृषकों को गन्ना फसल की उन्नत तकनीकि, डॉ.प्रशांत कुभांर अनार की उन्नत कृषि तकनीक, बनारस के श्री प्रकाशसिंह रघुवंशी विभिन्न फसलों में उन्नत बीज एवं बीजो उत्पादन की विधि कृषकों को बतलायेगें। दूसरे दिन खण्डवा के डॉ. नीरज कुमुन्द द्वारा बकरी पालन एवं प्रबंधन पर, श्री कोटिस वडिया द्वारा किसानों को स्वीट एवं बेबी कार्न की जिले में सम्भावनाऐं विषय पर किसानों से रूबरू होगें। वही जलगांव से डॉ. के.वी. पाटील कृषकों को केला फसल की उन्नत तकनीक की जानकारी देगें। अंतिम दिन डॉ. आर.के. खरे रेशम की उन्नत खेती, वही पशु चिकित्सा महाविद्यालय महु के डॉ. एम.के. मेहता और डॉ. संदीप नानावटी पशु प्रबंधन एवं पशुओं में होने वाली प्रमुख बीमारियों एवं उनसे बचाव की जानकारी उपलब्ध करायेगें। श्री देवके द्वारा कृषक भाईयों से अनुरोध है कि मेले में अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होकर कृषि तकनिकी ज्ञान प्राप्त कर मेले को सफल बनाये। 

--------
क्रमांक/33/512/2014                                              पवार/सचिन/कृषि 

No comments:

Post a Comment