Sunday, 26 July 2015

JANSAMPARK NEWS 14-6-15

जिला जनसंपर्क कार्यालय, बुरहानपुर म0प्र0 

समाचार 

कृषि विज्ञान मेले में केला, प्याज एवं बकरी पालन में विषेष व्याख्यान 

विषेष आकर्षण का केन्द्र बेबी कार्न एवं स्वीट कार्न की जिले में 

संभावना 

बुरहानपुर /14 जून/ कृषि महोत्सव 2015 के अन्तर्गत तीन दिवसीय कृषि विज्ञान मेला का आयोजन कृषि उपज मंडी प्रांगण रेणुका माता रोड बुरहानपुर में किया जा रहा है। इस दौरान दुसरे दिवस के प्रथम सत्र में डॉ. नीरज कुमुंद ने बकरी पालन एवं पशुपालन संबंधी दुग्ध उत्पादन बढ़ाने हेतु तकनीकी जानकारी किसानों को अवगत कराई। उन्होनें बकरी पालन के लिए पांच सुत्र बताये। जिसमें आवास, आहार, नस्ल, बीमारी का प्रबंधन एवं क्रिमीनाषक पर व्याखान दिया। डॉ.कोटिस ने जिले में रबी मौसम में मक्का उत्पादन की संभावनाओं को देखते हुये स्वीट कार्न एवं बेबी कार्न की खेती पर विस्तृत व्याख्यान दिया। उन्होनें फॉरवर्ड एवं बैकवर्ड पर भी प्रकाष डालते हुए किसानों को कम समय में आमदनी बढ़ाने के उपाय भी बताये। 

इसी प्रकार द्वितीय सत्र में डॉ.नारसिंह यादव ने प्याज की फसल तथा प्याज के बीज उत्पादन पर किसानों को जानकारी दी। इस दौरान उन्होनें कहा कि 15 जून से 15 जुलाई तक रोपा तैयार कर ले। साथ ही रबी में 15 अक्टूबर से 15 नवम्बर तक नर्सरी तैयार कर ले। श्री यादव ने प्याज भण्डारण हेतु बताया कि प्याज का उपर का डन्ठल काटकर 15 दिवस तक सुखाना अनिवार्य है। ताकि उसको अधिक दिवसों तक सुरक्षित रखा जा सकें। बीजोत्पादन के लिए कम से कम 600 मीटर की दूरी पर दूसरी किस्म की फसल लगाये। जड़ गलन बिमारी के लिए प्याज में बाविस्टीन डे़ढ ग्राम प्रति लीटर पानी में रोपो को डूबो दे। इसके पश्चात रोपाई करें। 
केला उत्पादन पर डॉ. राहुल भामरे द्वारा किसानों को पौषक तत्वों को ड्रीप इरिगेषन के माध्यम से पौधों को उर्वरक डालने की सलाह दी। केले की गुणवता एवं उत्पादन बढ़ाने के लिये माईक्रो न्यूट्रीयेन्ट का उपयोग मिट्टी परीक्षण के आधार पर करें। उन्होनें बताया कि माहवार फर्टीलाईजर की मात्रा निष्चित नही करते हुये महिने में चार बार पौषक तत्वों का उपयोग ड्रीप के माध्यम से करें। श्री भामरे ने केले में पौषक तत्व की कमी से होने वाले लक्षण तथा प्रमुख बीमारी सीगाटोका के बारे में विस्तार से बताया। 
कृषि विज्ञान मेले में जिला पंचायत सदस्य श्री कैलाष यावतकर जी द्वारा रबी मक्का को समर्थन मूल्य पर खरीदी एवं जैन इरिगेषन के केला टिषू पर अनुदान प्रदाय किये जाने समस्याओं का उल्लेख किया। प्रगतिषील कृषक श्री विजय गुप्ता ने शासन द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का किसानों को अधिक से अधिक लाभ लेने हेतु आग्रह किया। नेपानगर विधायक श्री राजेन्द्र दादू ने कृषि महोत्सव के सफलता के लिए किसानों को बधाई दी। उन्होनें अधिकारीयों को निर्देष देते हुए कहा कि किसानों में सहकारिता की भावना जागृत करें। साथ ही  सहकारिता खेती को बढ़ावा दे। इस हेतु किसानों तथा अधिकारीयों को मिलकर काम करना होगा। 
इस अवसर पर पूर्व विधायक श्री रामदास षिवहरे, जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री अष्विनी षिवहरे, जनपद अध्यक्ष श्री किषोर पाटील, आत्मा अध्यक्ष श्री प्रदीप जाधव, जनपद सदस्य श्रीमति सेवंतीबाई विक्रमसिंह, श्री श्यामलाल भाई, श्री रामसिंग नाग्या सहित अन्य विभागीय अधिकारी/कर्मचारी उपस्थिति रहे। कृषि विज्ञान मेले में लगभग 1300 से अधिक किसानों द्वारा पंजीयन कराया गया। कार्यक्रम का संचालन श्री दिलीप इंगले एवं कृषि उप संचालक श्री एम.एस.देवके ने आभार व्यक्त करते हुये कहा कि सोयाबीन बीज की बोवाई कम से कम साढ़े तीन इंच वर्षा होने पर ही करें। 





क्रमांक/38/517/2015                                                  पवार/सचिन/कृषि/फोटो 

No comments:

Post a Comment