Sunday, 26 July 2015

JANSAMPARK NEWS 8-6-15

जिला जनसंपर्क कार्यालय, बुरहानपुर म.प्र.

समाचार

बुरहानपुर और खकनार विकासखण्ड क्षेत्रों के 6 ग्रामों 

में पहुंचेगा कृषि क्रांति रथ

बुरहानपुर/8 जून/ राज्य शासन किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा जिले में आज 9 जून को कृषि क्रांति रथ बुरहानपुर और खकनार विकासखण्ड के निम्नांकित ग्रामों में पहुंचेगा। 

उपसंचालक श्री मनोहरसिंह देवके ने उक्त जानकारी दी। उन्होनें बताया कि आज बुरहानपुर विकाखण्ड के ग्राम निम्बोला, हसनपुरा एवं खातला में कृषि क्रांति रथ किसानों के बीच पहुंचेगा। इस दरम्यान प्रातः, दोपहर और सांध्यकालीन कृषक संगोष्ठी संपन्न होगी। उक्त ग्रामों में कृषि वैज्ञानिकों तथा तकनीकि अधिकारियों द्वारा उन्नत कृषि व नये उपकरणों तथा तकनीकि किसानों को अवगत कराई जायेगी। इस दौरान किसानों के खेतों से मिट्टी परीक्षण नमूने लिये जायेेगें। जिसकी उर्वरा शक्ति आंकलन करने मिट्टी को प्रयोगशाला भेजा जायेगा। जिससे किसान अपने खेत में भूमि की उर्वरा शक्ति बढ़ाने किन फसलों व खाद बीज का इस्तेमाल करें। कृषि वैज्ञानिक समुचित सलाह देगें। 

          इसी प्रकार खकनार विकासखण्ड क्षेत्रान्तर्गत ग्राम बालापाट, सातोड, और देडतलाई में कृषि रथ भ्रमण करेगा। जिसका रात्रि विश्राम देड़तलाई में होगा। उक्त विकासखण्डों के प्रत्येक ग्राम में कृषक संगोष्ठी आयोजित होगी। यह संगोष्ठी प्रातः दोपहर और सांयकाल में आयोजित की जावेगी। जिसमें किसानों को कृषि तकनीक व उद्यानिकी व पशुपालन व अन्य विभिन्न विभागों द्वारा जानकारी प्रदान की जाएगी। इस मौके पर कृषि मूलक योजनाओं व तकनीकि तथा सुविधाओं के बारे में कृषकों को जागरूक किया जावेगा। 

इस अवसर पर कृषकों को कृषि, उद्यानिकी, पशु, मत्स्य पालन, स्वास्थ्य, वन, विद्युत, उद्योग, श्रम, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, सहकारिता, बैंक, नाबार्ड, राजस्व, सामाजिक न्याय, महिला एवं बाल विकास, विपणन, कृषि उपज मंडी, बीज निगम, पीएचई, जलसंसाधन, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, दुग्ध संघ, आदिम जाति कल्याण, शिक्षा, पंचायत, वाणिज्य, रोजगार, आरसेटी, परिवहन, पर्यावरण, खाद्य नागरिक आपूर्ति, खादी ग्रामोद्योग, जन अभियान परिषद्, लोक सेवा गारंटी, रेशम आदि अन्य विभागों द्वारा विभागीय जानकारी ग्रामीणों को दी जाएगी। साथ ही कृषि विभाग द्वारा मिट्टी के नमूने लिये जायेगें। ग्रामीण कृषकों को मेढ़ पर लगाने खमैर के पौधें सशुल्क वितरित किये जायेगें। 

----------
क्रमांक/16/495/2015                                                  पवार/सचिन/कृषि


समाचार


मुख्यमंत्री कन्यादान व निकाह योजनान्तर्गत 

सामुहिक विवाह तैयारियां जारी 


15 जून को बुरहानपुर एवं  25 जून को नेपानगर में 


आयोजित 

बुरहानपुर/8 जून/मुख्यमंत्री कन्यादान व निकाह योजनान्तर्गत सामुहिक विवाह समागम जारी माह जून में आयोजित होगें। राज्य शासन के निर्देशानुसार उक्त आयोजन में जिले के नगरीय एवं ग्रामीण निकाय के अंतर्गत संपन्न होगे। इस हेतु खण्ड स्तरीय कार्ययोजना अद्यतन कर ली गई है। सामुहिक विवाह आयोजन की तैयारियां जारी है। 

कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया ने आज सभी निकायों से उक्त योजना के परिप्रेक्ष्य में की जा रही कार्यवाही का समीक्षात्मक जायजा लिया। इस कार्यक्रम के लिये जिला पंचायत सीईओ श्री बसंत कुर्रे को नोडल अधिकारी बनाया गया है। 15 जून को बुरहानपुर में मुख्यमंत्री कन्यादान व निकाह योजनान्तर्गत सामुहिक विवाह समारोह तिथि प्रस्तावित है। यह आयोजन स्थानीय कृषि उपज मण्डी/नेहरू स्टेडियम बुरहानपुर में किया जायेगा। कार्यक्रम आयोजक जनपद पंचायत बुरहानपुर रहेगी। इसमें आयुक्त नगर निगम, नगर पंचायत शाहपुर नगरीय क्षेत्र एवं जनपद पंचायत बुरहानपुर ग्रामीण क्षेत्र सम्मिलित रहेेगें। उक्त संबंधित निकायों से 10 जून तक आवेदन प्राप्त किये जा रहे है। 12 जून को जिला कार्यालय को सूची भेजी जायेगी। जिसके विरूद्ध आवंटन की मांग पत्र भी प्रस्तुत करना अनिवार्य किया गया है। 

इसी प्रकार से मुख्यमंत्री कन्यादान व निकाह योजनान्तर्गत सामुहिक विवाह समारोह 25 जून को प्रस्तावित है। यह आयोजन नेहरू स्टेडियम नेपानगर/नेपा ऑडोटोरियम में होगा। इन निकायों के लिये आयोजक नगर पालिका नेपानगर रहेगी। इसमें नगर पालिका परिषद् नेपानगर नगरीय क्षेत्र और जनपद पंचायत खकनार ग्रामीण क्षेत्र शामिल किया गया है। उक्त संबंधित निकायों से 20 जून तक आवेदन प्राप्त करने की अंतिम तिथि है। 23 जून 2015 को जिला कार्यालय सूची भेजी जायेगी। जिसके विरूद्ध आवंटन की मांग पत्र भी प्रस्तुत करने के निर्देश निकायों को दिये गये है। सामूहिक विवाह का आयोजन 12-13 ग्राम पंचायतों के समूह बनाकर संपन्न होगें। शहरी क्षेत्र में 10-10 वार्डो का समूह बनाकर विधिवत कन्यादान व निकाह संस्कार/रस्म संपन्न कराई जायेगी।  

----------
क्रमांक/17/496/2015                                                   पवार/सचिन/सामा.न्या

समाचार


एसिड विक्रय हेतु विक्रेता को लायसेंस लेना अनिवार्य 

बुरहानपुर/8 जून/ राज्य शासन द्वारा जारी निर्देशानुसार जिले में एसिड विक्रय हेतु विक्रेताओं को लायसेंस लेना अनिवार्य है। शासन ने एसिड से हमले की घटनाओं को प्रभावी ढंग से रोकने विष (मध्य प्रदेश) नियम 1960 के अंतर्गत अनुज्ञप्ति प्रदाय हेतु जिला दण्डाधिकारी को अधिकृत किया है। 

अपर कलेक्टर श्री प्रकाश रेवाल ने उक्त जानकारी दी। उन्होनें बताया कि लायसेंसधारी को परमिट जारी करने के लिये संबंधित क्षेत्र के अनुविभागीय दण्डाधिकारी को दायित्व सौंपा गया है। बिना अनुज्ञप्ति के विषों/एसिड के विक्रेताओं के खिलाफ कार्यवाही करने बुरहानपुर और नेपानगर एसडीएम को अधिकृत किये गये है। जिले में एसिड विक्रेता को लायसेंस हेतु निर्धारित प्रारूप में आवेदन कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी कार्यालय बुरहानपुर में कार्यालयीन समय पर प्रस्तुत करना होगा। 


----------
क्रमांक/18/497/2015                                                        पवार/सचिन/प्रशासन


समाचार  


एसिड से हमले की घटनाओं की प्रभावी रोकथाम हेतु 


निर्देश जारी 

बुरहानपुर/8 जून/ मध्य प्रदेश शासन द्वारा एसिड से हमले की घटनाओं को प्रभावी ढंग से रोकथाम करने का निर्णय लिया गया है। इस हेतु विष (मध्यप्रदेश) नियम 1960 के अंतर्गत अनुज्ञप्ति प्रदाय की जाती है। शासन द्वारा अनुज्ञप्ति जारी करने जिला दण्डाधिकारी को अधिकृत किया गया है। जिला दण्डाधिकारी द्वारा जिले में समस्त अनुविभागीय दण्डाधिकारी को क्षेत्रान्तर्गत लायसेंसधारी को परमिट जारी करने का दायित्व सौंपा गया है। 
उक्त जानकारी अतिरिक्त जिलादण्डाधिकारी श्री प्रकाश रेवाल ने दी। उन्होनें बताया कि अनुविभागीय दण्डाधिकारियों को अपने क्षेत्राधिकार में बिना अनुज्ञप्ति के विषों/एसिड विक्रय पाये जाने पर प्रकरण बनाकर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये थे। किंतु एसडीएम द्वय ने आज दिनांक तक एक भी प्रकरण प्रस्तुत नहीं किया है। जिले में रिकार्ड अनुसार एसिड लायसेंसधारी नही है। इससे स्पष्ट होता है कि जिले में एसिड का अवैध रूप से बिना अनुज्ञप्ति के विक्रय किया जा रहा है। तत्काल समस्त एसडीएम अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत आज से ही निरीक्षण कर वस्तुस्थिति से जिला कार्यालय को अवगत कराये। इस संबंध में की गई पड़ताल का प्रतिवेदन प्रस्तुत करें। साथ ही एसिड लायसेंस बनवाने प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करें। 

----------
क्रमांक/19/498/2015                                                          पवार/सचिन/प्रशासन


समाचार  

विस्फोटक पदार्थ के लिये लायसेंस होना अनिवार्य 

बुरहानपुर/8 जून/ जिले में कम्प्रेशरयुक्त टेªक्टर का कुओं की खुदाई अथवा खानों में विस्फोटकों पदार्थ/सामग्री के उपयोग के अलावा अन्य कार्यो के लिये एल.ई.-4  में जिलादण्डाधिकारी कार्यालय बुरहानपुर से अनुज्ञप्ति ली जाना अनिवार्य है। बिना अनुज्ञप्ति के अवैध रूप से किये जाने वाले ब्लॉस्टिंग पर वैधानिक कार्यवाही की जायेगी। इस कार्यवाही के लिये अनुविभागीय दण्डाधिकारी बुरहानपुर और नेपानगर को निर्देश जारी कर दिये गये है। 
----------
क्रमांक/20/499/2015                                                           पवार/सचिन/प्रशासन
समाचार  


स्कूल व आंगनवाड़ी बच्चों को मध्यान्ह भोजन में 

सांची दुग्ध का प्रदाय 

बुरहानपुर/8 जून/ स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क निवास करता है। राज्य शासन ने इसी उद््देश्य से प्रदेश के सभी स्कूल व आंगनवाड़ी बच्चों को मध्यान्ह भोजन में स्वादिष्ट  व मीठा दुग्ध का प्रदाय करने निर्णय लिया है। यह कार्यक्रम जिले में 01 जुलाई 2015 से समस्त आंगनवाड़ी, प्रायमरी, अपर प्रायमरी, मदरसा के बच्चों के लिये प्रारंभ किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के माध्यम से बालक/बालिकाओं को स्कूलों व आंगनवाड़ी में आकर्षित कर उपस्थिति बढ़ाना है। साथ ही पोषक आहार देकर बच्चों को कुपोषण से उभारना है। 

कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया ने मध्यान्ह भोजन में सांची दुग्ध संघ से प्रदाय किये जाने वाले दूध का आज सेम्पल परखा। उल्लेखनीय है कि इस कार्यक्रम के तहत प्रत्येक उपस्थित बच्चों को सप्ताह में तीन दिन अर्थात सोमवार, बुधवार एवं शुक्रवार को मध्यान्ह भोजन पूर्व 2 से ढाई घंटे पहले स्वादिष्ट सुगंधित मीठा दूध पिलाया जायेगा। आंगनवाड़ी व विद्यालयों में दूध सूखे पाउडर के रूप में उपलब्ध कराया जायेगा। जिसे 01 भाग पाउडर 09 भाग उबालकर ठण्डा किया कुनकुना पानी अनुपात में घोलकर बनाया जायेगा। तत्पश्चात आंगनवाड़ी व प्रायमरी के बच्चों को 100 एम.एल. तथा अपर प्रायमरी के बच्चों को 150 एम.एल.दूध पिलाया जायेगा। 
दुग्ध बनाने की विधि को समझाने हेतु जिला पंचायत, महिला बाल विकास, सहायक आयुक्त आदिम जाति विभाग के प्रतिनिधि को दुग्ध संघ के मास्टर टेªनर नोडल अधिकारी प्रशिक्षण प्रदान करेगें। इस कार्यक्रम के तहत एम.पी.स्टेट को ऑपरेटीव डेयरी फेडरेशन लिमिटेड प्रबंधक श्री एस.जी.जाधव को खण्डवा/बुरहानपुर जिले के लिये समन्वयक और मास्टर टेªनर नियुक्त किया है। इस संबंध में मो.नं.94259-12919 पर संपर्क कर सकते है। इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्री प्रकाश रेवाल, एसडीएम बुरहानपुर श्री काशीराम बड़ोले, नेपानगर एसडीएम श्री शंकरलाल सिंगाडे़, डिप्टी कलेक्टर श्री सुमेरसिंह मुजाल्दा, डिप्टी कलेक्टर श्री आर्य व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।  
----------
क्रमांक/21/500/2015                                      पवार/सचिन/प्रशासन/फोटो


समाचार  

स्कूलों में प्रसाधन निर्माण कार्य में यथोचित मापदण्ड का ध्यान रखें-

श्रीमती सिंथिया 

कलेक्टर ने समय सीमा में निकायों को दिये निर्देश 

बुरहानपुर/8 जून/ जिले में शैक्षणिक सत्र प्रारंभ होने के पूर्व ही सभी शासकीय स्कूलों में स्वच्छ शौचालय का निर्माण कार्य पूर्ण हो जाना चाहिए। इसके साथ ही हैण्डवास, प्लेटफार्म भी बन जाये। उक्त निर्माण में कार्यकारी एजेन्सी यथोचित मापदण्ड का ध्यान अवश्य रखें। ताकि बच्चें सही ढंग से उपयोग कर सके। 

कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया ने आज समय सीमा बैठक में उक्त कार्यो की गहनता से समीक्षा की। उन्होनें जनपद सीईओ, आदिम जाति कल्याण, शिक्षा विभाग को खासकर हिन्ट दिया है। इस चेतावनी में इन विभागों को कार्य को सही ढंग से कराने की मानीटरिंग सौंपी है। जिसमें सख्त हिदायत दी गई है कि, प्रसाधन में पानी की व्यवस्था व सीट ठीक ढंग से लगाई गई है। नल कनेक्शन सही लगे है। जुड़ाई, प्लास्टर, का कार्य तथा दरवाजे व्यवस्थित व पूर्ण माप से लगाये गये है अथवा नही। हैण्डवास प्लेटफार्म बच्चों की उंचाई के मान से हाथ धोने के लिये उपयुक्त है या नही। इन सब बातों को गहनता से निरीक्षण किया जाये। जहां भी अच्छा कार्य नही है। वहां तत्काल कार्य कराये। इस मौके पर कृषि क्रांति रथ भ्रमण, संगोष्ठियां, किसानों को खाद उर्वरक का अग्रिम भण्डारण आदि की पूछताछ की गई। नगरीय एवं ग्रामीण निकायो को मुख्यमंत्री कन्यादान व निकाह योजना संबंधी तैयारियों की जानकारी ली। शैक्षणिक सत्र प्रारंभ होने जा रहा है। स्कूलों में साफ-सफाई व पेयजल के लिये भी प्रधानपाठक, प्राचार्यो को निर्देश जारी किये गये। कलेक्टर ने पेंशन प्रकरणों में विभागीय कार्यवाही अविलम्ब करने पर प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होनें कहा कि भविष्य में भी सेवानिवृत्त होने वाले अधिकारी/कर्मचारियों के लिये भी कार्यवाही बरकरार रखी जावे। 

बैठक में लोक सेवा गांरटी के दायरे में आने वाली सेवाओं की प्रगति का विभागीय जायजा लिया गया। प्रबंधक श्री मनोज शंखपाल ने मुख्यमंत्री ऑनलाईन तथा लोक सेवा अधिनियम के तहत प्रदाय की जाने वाली सेवाओं का ब्यौरा प्रस्तुत किया। शासकीय पत्राचार समय सीमा में करने व प्रकरणों के समाधान संबंध में भी विभागीय परीक्षण किया गया। साथ ही रोजगारमूलक योजनाओं में लक्ष्य पूर्ति हेतु निर्देश दिये गये। छात्रवृत्ति योजना से विद्यार्थियों को हर हाल में लाभान्वित करने आगाह किया गया। इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्री प्रकाश रेवाल, एसडीएम बुरहानपुर श्री काशीराम बड़ोले, नेपानगर एसडीएम श्री शंकरलाल सिंगाडे़, डिप्टी कलेक्टर श्री सुमेरसिंह मुजाल्दा, डिप्टी कलेक्टर श्री आर्य व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।  

----------
क्रमांक/22/501/2015                                     पवार/सचिन/प्रशासन/फोटो



समाचार  


कृषि क्रांति रथ सह कृषक संगोष्ठी में किसानों ने 

उत्साह से भाग लिया

बुरहानपुर/8 जून/ जिले में कृषि क्रांति रथ द्वारा किसानों को गांव-गांव में जाकर खेतीबाड़ी की समसामयिक जानकारी दी जा रही है। आज सोमवार को रथ खकनार विकासखण्ड क्षेत्र के ग्राम रामाखेडाकला में पहुंचा। यहां 150 से भी अधिक किसानों ने कृषि क्रांति रथ से विविध जानकारी प्राप्त की। इस दरम्यान कृषक संगोष्ठी में भी ग्रामीण किसानों ने उत्साह से भाग लिया। 

उक्त जानकारी कृषि उपसंचालक श्री मनोहरसिंह देवके ने दी। उन्होनें बताया कि कृषि विज्ञान केन्द्र के डॉ. कार्तिकेय ने किसानों को सोयाबीन बीज के बारे में जानकारी दी। उन्होनें बताया कि सोयाबीन बीज का स्वयं अंकुरण परीक्षण कैसे करे। खेती में जैविक खाद का अत्यधिक उपयोग किया जाये। जिससे खेत की उर्वरा शक्ति में बढ़ोतरी हो सके। विविध तकनीकि का महत्व भी बताते हुए किसानों से वैज्ञानिक तरीके से खेती करने की सीख दी गई। वैज्ञानिक ने किसानों को यह भी जताया कि जब भी आदान सामग्री खरीदे। उसकी पक्की रसीद लेवे। जारी मौसम में किसान अल्पवर्षा की स्थिति में तुअर, मूंग, उड़द, की खेती की ओर ज्यादा ध्यान देवें। कपास की फसल, सिंचाई का साधन होने पर ही लगाये। किसान अंतवर्तीय फसल के रूप में सोयाबीन में मक्का या ज्वार लगा सकते है। जिसकी तकनीक भी किसानों को समझाई गई। वैज्ञानिक ने बताया कि कपास के बीच में अरहर ओर मूंग की फसल भी लगाई जा सकती है। किसानों को अतिरिक्त आय अर्जित करने में पशुपालन बेहतर व्यवसाय है। इस व्यवसाय से किसान को दुग्ध उत्पादन से लाभ होगा। खेती के लिये गोबर से खाद, गौबर गैस संयत्र से भी खाद प्राप्त होगी। खाना बनाने व रात में रोशनी के लिये भी गौबर गैस संयत्र लाभप्रद है। इसके अलावा रेशम पालन विभाग द्वारा भी रेशम की तकनीकी अवगत कराई गई। किसानों को रेशम खेती कारोबार से भी आमदनी कैसें प्राप्त की जाये। विस्तार से बताया गया। 

इस अवसर पर उपस्थित कृषकों ने कृषि, उद्यानिकी, पशु चिकित्सा, मत्स्यपालन, राजस्व, महिला बाल विकास, सहकारिता, ग्रामीण पंचायत विभाग, विभिन्न विभागों के अधिकारी/कर्मचारियों से सवाल-जवाब भी किया। जिसका विभागों ने बहुतायत में समस्याओं का समाधान करते हुए किसानों को आर्थिक रूप से सुदृृढ़ बनाये रखने मार्गदर्शन दिया। जिसमें शासन की विभिन्न योजनाऐं व सुविधाएंे किसान प्राप्त कर अपना जनजीवन खुशहाल बना सकते है। 

----------
क्रमांक/23/502/2015                                                   पवार/सचिन/कृषि/फोटो

No comments:

Post a Comment