Saturday, 21 November 2015

JANSAMPARK NEWS 14-9-15

जिला जनसम्पर्क कार्यालय, बुरहानपुर म.प्र.

समाचार

बुरहानपुर सहित तीन तहसीलों में वाहन निविदा दरें आमंत्रित 

बुरहानपुर/14 सितम्बर/ कार्यालय कलेक्टर जिला बुरहानपुर में शासन द्वारा नियत शर्तो के अधीन तहसीलदार बुरहानपुर, नेपानगर व खकनार तहसीलदार हेतु मासिक किराये पर वाहन अनुबंध किया जाना है। इस हेतु सील बंद निविदाऐं 23 सितम्बर 2015 अपरान्ह 3 बजे तक बुलाई गई है। जिसमें एक-एक बोलेरो वाहन स्वामी/यातायात एजेंसिया निविदाएंे प्रस्तुत कर सकते है। जिला कलेक्टेªट की नाजिर शाखा कक्ष क्रमांक 18 से इस संबंध में विस्तार से जानकारी और निविदा फार्म 50 रूपये जमा करके प्राप्त किया जा सकता है। 

-------
क्रमांक-42/795/2015                                सचिन/प्रशासन  
समाचार

मुख्यमंत्री महिला सशक्तिकरण योजनान्तर्गत आवेदन पत्र 28 

सितम्बर तक आमंत्रित 

बुरहानपुर/14 सितम्बर/ कार्यालय जिला महिला सशक्तिकरण बुरहानपुर द्वारा मुख्यमंत्री महिला सशक्तिकरण योजनान्तर्गत आवेदन पत्र 28 सितम्बर 2015 तक आमंत्रित किये गये है। योजना का मुख्य उद्देश्य आपात स्थिति में महिलाओं की सहायता करना, पीडित महिलाओं को पुर्नस्थापित करना, विपतिग्रस्त पीडित असहाय निराश्रित महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाते हुए समाज की मुख्य धारा में पुर्नस्थापित  करना। योजना के तहत विपतिग्रस्त, पीडित, कठिन परिस्थितियों मे निवास कर रही महिलाओं के आर्थिक सामाजिक उन्नयन हेतु स्थायी प्रशिक्षण प्रदान किया जाना है। ताकि उन्हें रोजगार प्राप्त हो सके। प्रशिक्षण ऐसी संस्थाओं के माध्यम से दिया जायेगा। जिन संस्थाओ द्वारा जारी डीग्री प्रमाण पत्र शासकीय/अशाकीय सेवाओं में मान्य हो। 
जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी श्री अब्दुल गफ्फार खान ने बताया कि योजना तहत पीडित महिलाऐं/बालिका, दुर्रव्यापार, ऐसिड विकिटम, जेल से रिहा महिलाऐं, परित्यक्तता तलाकशुदा, शासकीय अशाकीय आश्रय गृह बालिका गृह, अनुरक्षण गृह में निवासरत विपत्ति ग्रस्त बालिकाए/महिलाऐं तथा दहेज प्रताड़ित व अग्नि पीडित महिलाऐ आवेदन कर सकती है। 
व्यवसायिक प्रशिक्षण हेतु वे ही महिलाएं ही पात्र होगी जो हितग्राही लक्षित समूह अनुसार पीड़ित (टपबजपउ) की श्रेणी में आती हो। लक्ष्य समूह अनुसार आवेदिका उसके परिवार का मुखिया गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करता है। (दहेज पीड़ित अग्नि पीडित, एसिड विकिटम, जेल से  रिहा महिला, नारी निकेतन, शार्ट स्टे होम, शासकीय अशाकीय आश्रय गृह बालिका गृह, अनुरक्षण  गृह में निवासरत महिलाओं को इसमें छूट होगी।) मानसिक रूप से विक्षिप्त न हों। सामान्य महिला की उम्र 45 वर्ष से कम हो। विधवा, परितक्यता, तलाकशुदा, एससी, एसटी, पिछडावर्ग की महिला होने की स्थिती में 50 वर्ष। प्रशिक्षण पाठयक्रम के अनुसार न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता होना अनिवार्य होगी। कम पढी लिखी साक्षर अनपढ महिलाओं को उनकी योग्यता अनुसार प्रशिक्षण दिये जायेगें।
यह प्रशिक्षण प्रदान किया जावेगा:- योजनान्तर्गत महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जाना है। जिनमें फार्मेसी, नर्सिंग, फिजियोथेरपी, आया/ दाई/वार्ड परिचर, ब्यूटीशियन, शार्ट टर्म मैनेजमेंट  कोर्स(कुकिंग,बैकिंग), आई.टी.आई पालीटेक्निक पाठयक्रम, होस्पिटालिटी, होटल/ईवेन्ट मेनेजमेंट, प्रयोगशाला सहायक, बी.एड.डी.एड.(सिर्फ शासकीय संस्थानो से) अन्य प्रशिक्षण जो शासन द्वारा समय समय पर निर्धारित किए जाते है। योजनांर्तगत हितग्राही को प्रतिमाह राशि रूपये 500/- मात्र की शिष्यावृत्ति देय होगी। आवेदनो का चयन जिला स्तर पर गठिन चयन समिति द्वारा किया जायेगा। किसी भी तरह की जानकारी आवेदन का प्रारूप प्राप्त करने एवं आवेदन जमा करने हेतु जिला महिला  सशक्तिकरण अधिकारी जिला बुरहानपुर के कलेक्ट्रेट स्थित कार्यालय में संपर्क करें। 
-------
क्रमांक-43/796/2015                                सचिन/जि.म.स.

समाचार

समय सीमा बैठक संपन्न


जल संरक्षण हेतु बोरी एवं मेढ़ बंधान कार्य प्राथमिकता से करें-श्रीमती 

सिंथिया  

कलेक्टर ने समय सीमा बैठक में संबंधित अधिकारियों को दिये निर्देश 

बुरहानपुर/14 सितम्बर/- समय सीमा बैठक में कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया ने बीमा संबंधी योजनाओं की गहनता से समीक्षा की। उन्होनें अधिकारियों को आवंटित पंचायत में बीमा के प्रकरणों की मॉनीटरिंग करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने कहा कि सभी विभाग प्रमुख प्रधानमंत्री सुरक्षा और जीवन ज्योति बीमा योजना में गति लायें। समस्त राजस्व अधिकारी 5-5 पंचायतों में भम्रण कर योजना की समीक्षा करना सुनिश्चित करें। सभी अधिकारी अपने प्रभार की ग्राम पंचायत में जाकर इस कार्य का रिहव्यू करें। 

जल संरक्षण का कार्य प्राथमिकता से करेंः- बैठक में कलेक्टर ने दोनो विकासखण्ड सीईओं को निर्देशित किया कि जल संरक्षण हेतु ग्रामीण क्षेत्र में नदियों एवं नालों पर बोरी बंधान और मेढ़ बंधान का कार्य करवाना सुनिश्चित करें। इस कार्य में गति लाने हेतु राजस्व अधिकारी राजस्व निरीक्षक और पटवारी को भी लगाये। तथा कार्य को प्राथमिकता से करें। ताकि वर्षा का जल को संरक्षित किया जा सकें। जिससे आने वाले दिनों में पानी की समस्या उत्पन्न ना हो। कलेक्टर ने पीएचई विभाग से कहा कि जहां पानी की टंकी लिकेज हो उसे दुरूस्त करें। सभी पंचायतों में एक पानी का टेंकर होना आवष्यक है। जिससें जल आपूर्ति की जा सकें। स्कूल, आंगनवाड़ी केन्द्र, छात्रावास में पानी समस्या हो तो उसकी सूची तैयार कर प्रस्तुत की जाये। जहां शासकीय बिल्डिंग है वहां वॉटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था करें। जल संसाधन विभाग को निर्देशित किया डेम से पानी छोड़ने एवं डेम में पानी की उपलब्धता की प्लानिंग बनाकर रिपोर्ट सौपें। कृषि विभाग कों फसल बीमा हेतु किसानों को जागरूक करने के निर्देष भी दिये। 
सीएम हेल्पलाईन प्रकरणों को निराकृत करेंः- बैठक में कलेक्टर ने सभी विभाग प्रमुखों को सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों का शीघ्र निराकण करने निर्देशित किया। जिन विभागों की मांग, समस्या, शिकायत लेबल-3 एवं लेबल-4 पर है। नाराजगी जाहिर की उन्होनें कहा कि प्रकरणों की प्रतिदिन मानीटरिंग करें। प्रकरणों को अविलंब निराकृत करें। बैठक में अपर कलेक्टर श्री प्रकाश रेवाल, सीईओ जिला पंचायत श्री बसंत कुर्रे, एसडीएम श्री के.आर.बड़ोले व शंकरलाल सिंगाडे़, डिप्टी कलेक्टर श्री सुमेरसिंह मुजाल्दा सहित सभी अधिकारीगण उपस्थित रहे। 
कलेक्टर ने समस्त एसडीएम/एसडीओपी/तहसीलदार एवं थाना प्रभारियों को  विस्फोटक पदार्थ, ब्लॉस्टिंग सामग्री व पटाखा गोदाम का निरीक्षण करने के निर्देश दिये। उन्होनें जानकारी देते हुए बताया कि विस्फोटक अधिनियम के अनुसार विस्फोटक पदार्थ को सुरक्षित रखने के लिये गोदाम हेतु लायसेंस जारी करने का प्रावधान है। उन्होनें विस्फोटक अधिनियम 2008 एवं 1984 के उपबंधों का पालन सुनिष्चित कराये जाने के निर्देष देते हुए कहा कि सभी अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में भ्रमण कर अवैध रूप से संग्रहित विस्फोटकों की जांच करें। आमजन से इस संबंध में प्राप्त होने वाली सूचनाओं को गंभीरता से लेकर कार्यवाही करना सुनिष्चित करें। 
स्मार्ट विलेज की समीक्षा:- स्मार्ट विलेज योजनान्तर्गत चयनित ग्राम अड़गांव व तुरकगुराड़ा में स्कूलों में विद्यार्थियों की शत प्रतिशत उपस्थिति होना चाहिए। पंचायत, स्कूलों व आंगनवाड़ियों केन्द्रों में रिकार्ड संधारित होना आवष्यकत है। स्कूल, पंचायत भवन व आंगनवाड़ी में शौचालय की व्यवस्था सुनिष्चित करनें के निर्देष सीईओं जनपद को देते हुए कहा कि इन ग्रामों में अन्य सुविधाऐं भी होना आवश्यक है। 

यह भी दिये निर्देश 
दोनों सीईओं को शौचालय निर्माण की साफ्टवेयर पर एन्ट्री करवानें के निर्देश दिये। साथ ही शौचालय निर्माण के कार्य हेतु सचिव को निर्देशित करें इस कार्य में गति लाये। 
सभी निकायों को समग्र पोर्टल पर एन्ट्री करनें। साथ ही डी-डुप्लिेकशन की कार्यवाही करने। 
खाद्य अधिकारी को पात्रता के आधार पर पात्र हितग्राहियों को पात्रता पर्ची जारी करने। 
निकायों को मतदान केन्द्रों के भौतिक सत्यापन की जानकारी प्रस्तुत करने। 
एस.एल.आर. को क्राप कटिंग की योजना बनानें के। 
और आरटीओ को गैस सिलेन्डर का उपयोग करने वाले वाहनों को चेक करनें के निर्देश दिये। 
टीपः- फोटोग्राफ संलग्न क्र-1
 
-------
क्रमांक-44/797/2015                    सचिन/प्रषासन/फोटो 

समाचार

नेपानगर में विकास कार्यो की समीक्षा बैठक आज 

बुरहानपुर/14 सितम्बर/- नेपानगर में विकास कार्यो की समीक्षा बैठक आज 15 सितम्बर को नेपा ऑडोटोरियम में आयोजित की गई है। यह बैठक नेपानगर विधाायक श्री राजेन्द्र दादू की अध्यक्षता में संपन्न होगी। जिसमें सभी विभाग प्रमुख उपस्थित रहेगें। 
-------
क्रमांक-45/798/2015                       सचिन/प्रषासन  

समाचार


सुपोषण अभियान अंतर्गत संचालित स्नेह षिविरों का निरीक्षण 

बुरहानपुर/14 सितम्बर/- महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा कुपोषित बच्चों के समुदाय आधारित प्रबंधन एवं उनकी देखरेख के लिये जरूरी व्यवहार परिवर्तन के लिये जागरूता विकसित करने के उद््देष्य से सुपोषण अभियान चलाया जा रहा है। जिसके अंतर्गत 7 सितम्बर से 19 सितम्बर तक जिले के विभिन्न आंगनवाड़ी केन्द्रों में स्नेह षिविरों का आयोजन किया जा रहा है। सलाहकार संचालनालय एकीकृत बाल विकास सेवा मध्य प्रदेष सुश्री बीना मेंडके द्वारा आंगनवाड़ी केन्द्र षिकारपुरा एवं चापोरा में संचालित स्नेह षिविरों का निरीक्षण किया। उन्होनें षिविर में संचालित गतिविधियों का जायजा लेते हुए उपस्थित बच्चों के वजन का भौतिक सत्यापन किया। जिले में आयोजित षिविरों की गुणवत्ता पर संतोष व्यक्त करते हुए उन्होनें पर्यवेक्षकों को माताओं की अधिक से अधिक उपस्थिति सुनिष्चित करने के निर्देष दिये। इस अवसर पर एकीकृत बाल विकास सेवा जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री अब्दुल गफ्फार खान एवं परियोजना अधिकारी श्रीमती चन्द्रकांता वर्मा भी उपस्थित थी। 
टीपः- फोटोग्राफ संलग्न क्र-2 और 3 है। 



-------
क्रमांक-46/799/2015                    सचिन/ए.बा.वि./फोटो 

No comments:

Post a Comment