Saturday, 21 November 2015

JANSAMPARK NEWS 3-9-15

जिला जनसंपर्क कार्यालय, बुरहानपुर म.प्र.
समाचार
छात्रवृत्ति पोर्टल पुनः 15 सितम्बर तक खुला रहेगा
बुरहानपुर/3 सितम्बर/ राज्य शासन निर्देशानुसार जिले में वर्ष 2014-15 में छात्रवृत्ति हेतु ऐसे विद्यार्थियों जो ऑनलाईन आवेदन भरने में वंचित रह गये है। उनके लिये शासन द्वारा पुनः छात्रवृत्ति पोर्टल खोला गया है। ऐसे अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को आवेदन ऑनलाईन पोर्टल 2.0 में 15 सितम्बर 2015 तक भरना होगा। 
---------
क्रमांक-15/768/2015                                                                       सचिन/अ.जा.वि.

समाचार
कृषि तकनीकि सप्ताह और कृषक संगोष्ठी संपन्न
जिले के किसान मित्रों ने फसल संग्राहलय का अवलोकन 
बुरहानपुर/3 सितम्बर/ केन्द्र शासन निर्देशानुसार ग्राम सांडसकला स्थित कृषि विज्ञान केन्द्र में कृषि तकनीकि सप्ताह का आयोजन किया गया। जिसका समापन कृषक संगोष्ठी आयोजित कर किया गया। इस दौरान कृषि विज्ञान केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख श्री अजीतसिंह द्वारा कृषि तकनीकि सप्ताह के उद््देश्य एवं कृषि संगोष्ठी का महत्व कृषक मित्रों व किसानों को समझाईश दी। 
इस अवसर पर कृषि उपसंचालक श्री एम.एस.देवके द्वारा सोयाबीन फसल में येलो मोजेक के नियंत्रण तथा रबी सीजन में गन्ने के अंतवर्तीय फसलों में चना और मसूर फसल को बोने की किसानों को सलाह दी। साथ ही उन्होनें चने की उन्नत जातियों का उपयोग तथा गेहूं में लोक-1 व डब्ल्यू एच 147 की जगह जी डब्ल्यू 322 बुआई की बात कही। उन्होनें कृषि विभाग द्वारा संचालित समस्त योजनाओं पर प्रकाश डाला। संगोष्ठी में परियोजना संचालक आत्मा श्री राजेश चतुर्वेदी द्वारा गन्ने की फसल में एस.एम.आई.पद्धति से सरसो बोने की सलाह दी गई। साथ ही दलहन उत्पादकता में वृद्धि हेतु चने एवं मसूर की उन्नत जातियों का विस्तार से बताया। 
कृषि वैज्ञानिक भूपेन्द्रसिंह द्वारा सोयाबीन और कपास की खेती में आने वाली समस्याओं जैसें सोयाबीन का येलो मोजेक तथा कपास के कोकड़ा के नियंत्रण हेतु उपाय बताये। वही श्री कार्तिकेय सिंह ने सोयाबीन की विभिन्न कीटो के बारें में विस्तार से चर्चा करते हुए उनके नियंत्रण के उपाय किसानों का सुझाये। संगोष्ठी में उपस्थित समस्त कृषकों, वैज्ञानिकों द्वारा कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा विकसीत क्रापकेफेटेरिया (फसल संग्राहलय) का अवलोकन किया गया। जिसमें सोयाबीन की आर.के.व्ही.एस.2004-1 तथा एन.आर.सी.80 किस्म की फसलों को किसानों द्वारा सराहा गया। साथ ही सोयाबीन की 9305 एवं 9560 में येलो मोजेक का प्रभाव कम से कम दृष्टिगोचर हुआ। फसल संग्राहलय में गन्ने फसल की विभिन्न फसलों का निरीक्षण किया। इस संगोष्ठी में ग्राम सांडस, उमरदा, डाबियाखेड़ा, बड़ा जैनाबाद, नेवरी-देवरी, संकरपुरा, महलगुराड़ के लगभग 150 से अधिक कृषकों ने भाग लिया। कृषक संगोष्ठी में राहुल सातारकर, सुश्री मेघा विभूते द्वारा भी संगोष्ठी को संबोधित किया गया। इस मौके पर विरेन्द्र साहू और कृषक मित्र संजय चौकसे द्वारा अपनाई जा रही धारवाड़ पद्धति से अरहर के बारे में बताया गया। कृषि विज्ञान केन्द्र परिसर में पौधारोपण किया गया। 






---------
क्रमांक-16/769/2015                                                               सचिन/के.वी.के./फोटो 
समाचार
अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति आवेदन तिथि बढ़ी
बुरहानपुर/3 सितम्बर/ शैक्षणिक सत्र 2015-16 में छात्रवृत्ति के लिये आवेदन करने वाले अल्पसंख्यक छात्र-छात्राओं के लिये अच्छी खबर है। 
उक्त जानकारी पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण सहायक संचालक श्री के.एल. निगम ने दी। उन्होनें बताया कि अब पोस्ट-मेट्रिक छात्रवृत्ति नवीन/नवीनीकरण और मेरिट-कम-मींस छात्रवृत्ति के नवीन विद्यार्थियों के लिये और प्री-मेट्रिक छात्रवृत्ति (ऑफलाइन कक्षा 1 से 8 तक केवल नवीन विद्यार्थियों के लिये) आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 अक्टूबर, 2015 कर दी गयी है। मेरिट-कम-मींस छात्रवृत्ति नवीनीकरण के लिये विद्यार्थी 15 नवम्बर, 2015 तक आवेदन कर सकेंगे।
---------
क्रमांक-17/770/2015                                                          सचिन/पि.वर्ग.क. 

No comments:

Post a Comment